1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. munger
  5. bihar crime news homoeopathic doctor munger suicide note police investigation is going on skt

360 स्कायर फीट जमीन चिकित्सक के मौत का बना कारण, सुसाइड नोट में पढ़ें आत्महत्या की वजह...

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो
social media

बेलन बाजार निवासी होमियोपैथ चिकित्सक डा.एसएम नजमुल हसन का सुसाइड नोट, जिसे पुलिस ने घटना के बाद बरामद किया था. उसके अनुसार 360 स्क्वायर फीट जमीन जहां उसके मौत का कारण बना. वहीं आधा दर्जन लोगों के कारण वह आत्महत्या करने पर मजबूर हो गया. इस मामले को लेकर कासिम बाजार थाना में जो मामला दर्ज हुआ है वह यूडी केस है. अब देखने की बात है कि पुलिस इस सुसाइड नोट के आधार पर क्या और किन-किन लोगों पर कार्रवाई करती है अथवा सुसाइड नोट को फर्जी करार देती है. खैर जो भी सुसाइड नोट ने कई सफेदपोशों को भी कटघरे में खड़ा कर दिया है.

सुसाइड नोट में मृतक नजमुल ने लिखा है कि मेरे मरने की खास वजह एसएम अनजुम हसन, उसकी पत्नी किशवर बानो शाहकॉलोनी दिलावरपुर मुंगेर, जफर अहमद, इम्तियाज अहमद, उसका बेटा फैजूद, मो. अली, उनकी पत्नी, अकील अहमद, छोटू, जाफर उर्फ जाफो सभी बेलन बाजार निवासी हैं. साथ ही अब्दुल्ला बोखारी तोपखाना बाजार है. उसने कहा है कि मैं बेलन बाजार बंगाली टोला मुंगेर में रहता हूं. सन 1995 में शाहकॉलोनी दिलावरपुर में 1080 स्क्वायरफीट (डेढ कट्टा) जमीन खरीदा था. फिर 1996 में 360 स्क्वायरफीट जमीन ऑटर्नी पॉवर के जरिये खरीदा था. शहनवाजुल हसन ने बदरूननिशा को बेचने का ऑटर्नी पॉवर दिया था. मैं बदरून निशा से जमीन खरीदा था.

....मैं जमीन का म्यूटेशन नहीं कराया था. जब मकान बनाने लगेंगे तो उसी समय म्यूटेशन करा लेंगे हमने ऐसा सेचा था. जबकि शहनवाजुल हसन ऑटर्नी पॉवर बदरून निशा को देकर बेचवा दिया. उसने लिखा कि जमीन का म्यूटेशन अभी तक नहीं कराया है. तब शहनवाजुल हसन की नीयत खराब हो गयी. इसने 360 स्क्वायर फीट जमीन जो बदरून निशा को ऑटर्नी पॉवर से बेचवा दिया था. उसी 360 स्क्वायर फीट जमीन को शहनवाजुल हसन अपने नाम से म्युटेशन करवा लिया है. यह प्लान मार्च 2020 से बन रहा था. प्लान का मास्टर जिनका नाम लिखा है वह सब है. अकली अहमद बेलन बाजार प्लान बना कर बांबे भाग गया है. इस प्लान में रियाजुल हुसैन व उसकी पत्नी सीनम सुलताना था. अब्दुल्ला बोखारी जामा मस्जिद के बगल में मदरसा चला था. अब अपने बेटा को चलाने दिया है. अब्दुल्ला बोखारी ....(असंसदीय शब्द है इसलिए नहीं लिखा जा सकता).

पुलिस अधीक्षक मानवजीत सिंह ढिल्लों ने कहा कि भतीजा के बयान पर यूडी केस दर्ज किया गया. जिसमें किसी पर आशंका नहीं जतायी गयी है. लेकिन मौके पर से एक सुसाइड नोट लिखा हुआ मिला है. जिसकी लिखावट की जांच की जा रही है. अगर लिखावट मृतक के लिखावट से मेल खाता है तो कांड को भादवि की धारा 306 में कंवर्ट करते हुए प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जायेगी.

Posted By: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें