37.3 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

बिहारः बागमती-बूढ़ी गंडक नदी को जोड़ने के लिए बनी ‘शांतिधार योजना’, जानिए किन-किन जिलों को होगा इससे लाभ…

'शांतिधार योजना' के तहत बिहार के दरभंगा और समस्तीपुर जिलों के बड़े इलाके में बाढ़ और जलजमाव की समस्या दूर होगी और इस क्षेत्र में सिंचाई सुविधा का दायरा भी बढ़ेगा.

दरभंगा. ‘शांतिधार योजना’ को मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में मंजूरी मिल गयी. इससे दरभंगा और समस्तीपुर जिलों के बड़े इलाके में बाढ़ और जलजमाव की समस्या तो दूर होगी ही इसके साथ ही सिंचाई सुविधा का दायरा भी बढ़ेगा. ‘शांतिधार योजना’ के तहत बागमती नदी के अधिशेष जल को समस्तीपुर जिले के कल्याणपुर प्रखंड के घोघराहा के निकट से निकलने वाले शांतिधार के रास्ते समस्तीपुर के खानपुर प्रखंड के त्रिमुहानी ग्राम के निकट बूढ़ी गंडक नदी में मिलाया जायेगा. योजना पर 120.96 करोड़ रुपये खर्च होंगे.

इस महत्वाकांक्षी योजना को कैबिनेट से मंजूरी मिलने पर खुशी का इजहार करते हुए  जल संसाधन तथा सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री संजय कुमार झा ने कहा कि राज्य के अंदर की नदियों को जोड़ने की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अवधारणा के अनुरूप यह ‘शांतिधार योजना’ तैयार की गयी है. जल संसाधन विभाग की इस योजना के तहत पुराने शांतिधार की जल प्रवाह क्षमता पुनर्स्थापित की जायेगी.

योजना से दरभंगा जिले के बहेड़ी और हायाघाट तथा समस्तीपुर जिले के कल्याणपुर, वारिसनगर, खानपुर, रोसड़ा और सिंघिया प्रखंडों के लोगों को बाढ़ से राहत के साथ-साथ सिंचाई सुविधा का सीधा लाभ मिलेगा. इसके लिए प्रस्तावित एएफएस को एससीएडीए सिस्टम के माध्यम से सुचारू रूप से संचालन किया जायेगा. योजना से उक्त प्रखंडों के कुल 39350 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी.

यह भी उल्लेखनीय है कि बागमती-शांतिधार-बूढ़ी गंडक नदी जोड़ परियोजना के तहत दरभंगा जिले के हनुमाननगर प्रखंड के मोरो, हसनपुर, रत्नपुरा, रजवा, गोदाइपट्टी, सैदपुर, रामपुर, पटोरी, रूपौली, डघरौल, विशनपुर, रजवारा, गोपालपुर, माधोपुर, गोढवाड़ा, दाथ, बलहा आदि गांवों के लोगों को बाढ़ की समस्या से निजात के साथ जलजमाव से भी मुक्ति मिलेगी. इससे क्षेत्र में भूजल स्तर को बनाये रखने में भी मदद मिलेगी.

समस्तीपुर जिले के कल्याणपुर प्रखंड में सोरमारहाट-हायाघाट तटबंध के किमी 5.40 पर शांतिधार (बागमती नदी की मृत धार) मिलती है. जल संसाधन विभाग द्वारा तैयार योजना के तहत इस स्थल पर 15 हजार क्यूसेक जल स्राव क्षमता वाले एंटी फ्लड स्लूइस का निर्माण कराया जायेगा व बागमती नदी के अधिशेष जल को नियंत्रित रूप से बूढ़ी गंडक नदी में भेजा जायेगा. इसके अलावा प्रस्तावित एएफएस के अपस्ट्रीम तथा डाउनस्ट्रीम में दोनों साइड प्रोटेक्शन काम भी कराया जायेगा.

इससे दरभंगा और समस्तीपुर जिलों में बागमती नदी की बाढ़ का प्रभाव काफी कम हो जायेगा. साथ ही विभाग द्वारा चिह्नित छह स्थानों पर सड़क पुल का भी निर्माण कराया जायेगा, जिससे समस्तीपुर जिले के कल्याणपुर, शिवाजी नगर तथा खानपुर प्रखंड के लोगों को आवागमन में सुविधा होगी. योजना से दरभंगा और समस्तीपुर जिलों की बड़ी आबादी को सीधा लाभ पहुंचेगा और क्षेत्र के विकास को नयी गति मिलेगी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें