Advertisement

patna

  • Jul 7 2018 9:04AM

बाढ़, बरौनी, कांटी और नवीनगर थर्मल पावर को मिलेगी रेल कनेक्टिविटी

कोयले की निर्बाध आपूर्ति के लिए हुई उच्चस्तरीय बैठक
पटना : बाढ़, बरौनी, कांटी और नवीनगर थर्मल पावर को कोयले की निर्बाध आपूर्ति के लिए इस वित्तीय वर्ष के अंत तक रेल कनेक्टिविटी मिल जायेगी. 
 
इन सभी थर्मल पावर में  रेल कनेक्टिविटी का काम प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने का पूर्व मध्य रेल महाप्रबंधक एलसी त्रिवेदी ने रेलवे अधिकारियों को   निर्देश दिया है. इसे लेकर शुक्रवार को पूर्व मध्य रेल और नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन के अधिकारियों की बैठक हुई. इसके साथ ही कपरपुरा स्टेशन से कांटी यार्ड तक का  विद्युतीकरण अगले तीन माह में पूरा कर लिया जायेगा. इससे कांटी थर्मल पावर  को जाने वाली कोयले की रैक बिना इंजन बदले सीधे कारखाने तक जा सकेंगे. 
 
रेल अधिकारियों ने बताया कि बाढ़ थर्मल पावर को कोयले की रैक की निर्बाध आपूर्ति के लिए मानपुर–तिलैया–बख्तियारपुर रेलखंड का विद्युतीकरण किया जा चुका है. इसके साथ ही बख्तियापुर और बाढ़ के बीच तीसरी लाइन, बख्तियापुर में फ्लाईओवर और बख्तियापुर–राजगीर लाइन व बख्तियारपुर–अथमलगोला लाइन के बीच सरफेस  ट्रांयगल का निर्माण और  मानपुर में आरओआर फ्लाईओवर का निर्माण कार्य प्रगति पर है.  
 
इस बैठक में पूर्व मध्य रेल की ओर से महाप्रबंधक एलसी त्रिवेदी, प्रमुख मुख्य परिचालन प्रबंधक सलिल कुमार झा, प्रमुख मुख्य विद्युत इंजीनियर राकेश तिवारी, दानापुर मंडल के मंडल रेल प्रबंधक आरपी ठाकुर सहित परिचालन विभाग के अन्य उच्चाधिकारी उपस्थित थे. वहीं नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन के निदेशक (ऑपरेशन) प्रकाश तिवारी, पटना के क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक एन नरेन्द्र सहित बाढ़, बरौनी, कांटी और नवीनगर थर्मल पावर के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी भी उपस्थित थे

Advertisement

Comments

Advertisement