Advertisement

calcutta

  • Jan 26 2018 5:34AM
Advertisement

डॉ कृष्ण बिहारी मिश्र समेत बंगाल के पांच विभूतियों को पद्मश्री सम्मान

 कोलकाता : केंद्र सरकार ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म पुरस्कारों का एलान किया है. जारी सूची के मुताबिक, तीन लोगों को पद्म विभूषण, नौ लोगों को पद्म भूषण और 73 को पद्म श्री पुरस्कार से अलंकृत किया गया है. साहित्यकार डॉ कृष्ण बिहारी मिश्र समेत पश्चिम बंगाल के पांच विभूतियों को पद्मश्री सम्मान मिला है.  डॉ मिश्र को साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में यह सम्मान मिला है. सुधांशु विश्वास (सामाजिक कार्य), विजय किचलू (कला और संगीत), सुभाषिनी मिस्त्री (सामाजिक कार्य) और अमिताभ राय को विज्ञान और अभियंत्रिकी में यह पुरस्कार मिला है. पद्मश्री पुरस्कारों की सूची में झारखंड से दिगंबर हांसदा (साहित्य एवं शिक्षा), बिहार से मानस बिहारी वर्मा (विज्ञान एवं तकनीक) का भी नाम है. 

जिन तीन लोगों को पद्म विभूषण पुरस्कार प्रदान किया गया है, उनमें इलैयाराजा (कला-संगीत, तमिलनाडु), गुलाम मुस्तफा खान (कला-संगीत, महाराष्ट्र) तथा परमेश्वर (साहित्य एवं शिक्षा, केरल) शामिल हैं. 
 
स्नूकर खिलाड़ी पंकज आडवाणी को भी पद्म भूषण मिला है. रांची निवासी क्रिकेटर करीब डेढ़ दशक से भारतीय टीम को सेवा दे रहे हैं. इसके पहले उन्हें पद्मश्री, राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार मिल चुके हैं. 
 
पिछले साल  से मोदी सरकार पद्म पुरस्कारों से उन लोगों को सम्मानित कर रही है, जो प्रसिद्धि से दूर अपने-अपने क्षेत्रों में सक्रिय हैं या वंचित क्षेत्र  की पृष्ठभूमि से आ कर गरीबों के लिए काम किया. दरभंगा के बाउर गांव रहनेवाले मानस बिहारी वर्मा ने सुपर सोनिक विमान तेजस के मैकेनिकल सिस्टम को तैयार करने में अहम भूमिका अदा की थी. सूची में लक्ष्मीकुट्टी (हर्बल औषधि), अरविंद गुप्ता (डॉक्यूमेंट्री), श्याम (गोंड कला), राजगोपालन वासुदेवन (प्लास्टिक रोड मेकर), सुलगत्ती नरसम्मा (प्रसव सहायिका) जैसे कई गुमनाम लोग हैं, जो अपने-अपने इलाकों में बदलाव में जुटे हैं.
 
पद्म पुरस्कारों का एलान:  तीन को पद्म विभूषण, नौ को पद्म भूषण और 73 को पद्मश्री
साहित्य और शिक्षा में महती योगदान
डॉ कृष्ण बिहारी मिश्र का शिक्षा और साहित्य के क्षेत्र में महती योगदान है. ललित निबंधकार के रूप में उनकी ख्याति है.  विश्वविद्यालयों और शिक्षा प्रतिष्ठानों के सारस्वत प्रसंगों में उनकी सक्रिय भूमिका रही है. उन्होंने अनेक राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय विचार-गोष्ठियों में भागीदारी की. उन्हें विद्याकर्म की महत्ता को स्वीकृति देते हुए माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय भोपाल द्वारा डी. लिट् की मानद उपाधि से प्रथम दीक्षांत समारोह में सम्मानित किया गया. उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के साहित्य भूषण एवं महात्मा गांधी पुरस्कार से उन्हें अलंकृत किया जा चुका है.  आचार्य विद्यानिवास मिश्र सम्मान और डॉ. हेडगेवार पुरस्कार से सम्मानित से सम्मानित किये जा चुके हैं.
शारदा सिन्हा व धौनी को पद्म भूषण सम्मान
भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी तथा प्रसिद्ध लोक गायिका शारदा सिन्हा को देश के तीसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान पद्म भूषण पुरस्कार देने की घोषणा की गयी है. 
पद्म विभूषण
नाम  क्षेत्र   राज्य 
इलैयाराजा  कला-संगीत   तमिलनाडु
गुलाम मुस्तफा खान  कला-संगीत   महाराष्ट्र
परमेश्वर  साहित्य एवं शिक्षा   केरल
पद्मभूषण
पंकज आडवाणी  स्नूकर खिलाड़ी   कर्नाटक
फिलमपोस मार्क क्रिस्सोस्ट अध्यात्म   केरल
महेंद्र सिंह धौनी  क्रिकेट   झारखंड
अलेक्जेंडर  पब्लिक अफेयर   रूस
रामचंद्रन नागास्वामी  भूगर्भवेत्ता   तमिलनाडु
वेद प्रकाश नंदा  साहित्य एवं शिक्षा
लक्ष्मण पई  पेंटिंग   गोवा
अरविंद पारिख  संगीत   महाराष्ट्र
शारदा सिन्हा  संगीत   बिहार
चार्जशीट में गुरुंग का नाम नहीं, सीआइडी को फटकार
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement