1. home Hindi News
  2. national
  3. threat of terrorist attack on ayodhya shri ram temple bhoomi pujan ceremony intelligence agencies alert pakistani terrorist

अयोध्‍या श्रीराम मंदिर भूमि पूजन समारोह पर आतंकी हमले का खतरा, खुफिया एजेंसियों ने किया अलर्ट

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
5 अगस्‍त को होगा अयोध्‍या में राम मंदिर का भूमि पूजन
5 अगस्‍त को होगा अयोध्‍या में राम मंदिर का भूमि पूजन
फोटो - PTI

नयी दिल्ली : अयोध्या में 5 अगस्‍त को श्रीराम मंदिर भूमि पूजन (ram mandir bhoomi pujan) की तैयारियां जोरों पर हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) इस कार्यक्रम में शामिल होंगे. वहीं, इस भव्य समारोह पर आतंकवादी हमले (Terrorist Attack) का खतरा मंडरा रहा है. सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी गुटों ने अयोध्या राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान आतंकी हमले की योजना बनायी है. इस योजना में लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शामिल हैं.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने आतंकियों को फगानिस्तान में ट्रेंड किया है. इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटने के वर्षगांठ पर भी आतंकी हमले की चेतावनी जारी की गयी है. भारतीय खुफिया एजेंसियों ने इन दो हमलों का अलर्ट जारी किया है. राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम में कई वीवीआईपी भी शामिल होंगे.

गुरुवार को आतंकवादियों ने जम्मू कश्मीर में सेना की गाड़ी पर गोलियां भी चलायी हैं. अधिकारियों ने जानकारी दी कि पुलवामा जिले में गुरुवार को आतंकवादियों ने सेना के एक वाहन पर गोलीबारी की. इस हमले में कोई जनहानि नहीं हुई. अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने पुलवामा के द्रुबगाम पायीन में सेना के एक वाहन पर गोलियां चलायीं और वहां से फरार हो गये. सुरक्षा बलों ने क्षेत्र की घेराबंदी करके आतंकवादियों की तलाश शुरू कर दी है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राम मंदिर भूमि पूजन समारोह के अलावा 15 अगस्‍त के स्वतंत्रता दिवस समारोह और आर्टिकल 370 के तहत जम्‍मू-कश्‍मीर का विशेष दर्जा समाप्‍त करने की वर्षगांठ पर भी आतंकी हमला हो सकता है. जम्‍मू-कश्‍मीर का विशेष दर्जा खत्‍म होने की वर्षगांठ 5 अगस्‍त को ही है. लश्कर और जैश के तीन से पांच आतंकवादियों को अलग-अलग ग्रुप में भारत भेजा गया है.

आतंकवाद समर्थकों की संपत्तियां जब्त करने की कवायद शुरू

आरबीआई और सेबी जैसे निकायों के अतिरिक्त केंद्र, राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों की सरकारों के 44 अधिकारियों को आतंकवाद में शामिल या उसके समर्थक लोगों के धन तथा अन्य वित्तीय संपत्तियों को जब्त करने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है. एक सरकारी ज्ञापन के अनुसार, गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम, 1967 की धारा 51ए के क्रियान्वयन के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किये गये हैं.

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवाद में शामिल या ऐसे हिंसक कृत्यों का समर्थन करने वाले किसी भी व्यक्ति का धन और अन्य वित्तीय संपत्तियों को जब्त करने में कानून प्रवर्तन एजेंसियों की मदद के लिए 44 नोडल अधिकारी नियुक्त किये गये हैं.

Posted By: Amlesh Nandan Sinha.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें