1. home Hindi News
  2. national
  3. ncp leader and maharashtra minister nawab malik says bjp and ncp are two ends of a river smb

एनसीपी और बीजेपी का एक साथ आना असंभव, महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक बोले- दोनों नदी के दो छोर

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
NCP leader And Maharashtra Minister Nawab Malik
NCP leader And Maharashtra Minister Nawab Malik
ANI

Maharashtra NCP BJP Politics News महाराष्ट्र में जारी सियासी हलचल के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के वरिष्ठ नेता और उद्धव ठाकर सरकार (Uddhav Thackeray Government) में मंत्री नवाब मलिक (Maharashtra Minister Nawab Malik) ने शनिवार को एनसीपी और बीजेपी के एक साथ आने को लेकर बड़ा बयान दिया है.

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि एनसीपी (Nationalist Congress Party) और बीजेपी (Bharatiya Janata Party) का साथ आना असंभव है. न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, एनसीपी के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक ने कहा कि बीजेपी और एनसीपी नदी के दो छोर हैं और जब तक नदी में पानी है, ये दोनों साथ नहीं आ सकते हैं.

एनसीपी के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक ने साथ ही कहा कि हम (एनसीपी) पूरी तरह से अलग हैं, चाहे वो वैचारिक हो या फिर राजनीतिक दृष्टि हो. उन्होंने कहा कि ऐसे में एनसीपी और बीजेपी का साथ आना नामुमकिन है. नवाब मलिक ने कहा कि राजनीति विचारों के आधार पर होती है और संघ का राष्ट्रवाद एवं राष्ट्रवादी पार्टी के राष्ट्रवाद में जमीन आसमान आ अंतर है.

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि एनसीपी के प्रमुख शरद पवार पिछले दो दिनों से दिल्ली में हैं. राज्यसभा में बीजेपी के सदन के नेता के रूप में नियुक्त होने के बाद पीयूष गोयल ने खुद उनसे शिष्टाचार मुलाकात की. उन्होंने कहा कि शरद पवार ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की है. नवाब मलिक ने शरद पवार से महाराष्ट्र के विपक्षी नेताओं के मुलाकात से जुड़ी खबरों को गलत करार दिया. उन्होंने कहा कि कई लोग गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं. इसी के मद्देनजर ऐसा कहा जा रहा है कि महाराष्ट्र के विपक्षी नेताओं ने शरद पवार से मुलाकात की है.

गौरतलब हो कि नवाब मलिक का यह बयान ऐसे समय में आया जब दिल्ली में एनसीपी के मुखिया शरद पवार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच करीब एक घंटे तक मुलाकात हुई. दोनों नेताओं के बीच किन मुद्दों पर चर्चा हुई इस बारे में कोई आधिकारिक सूचना नहीं है. हालांकि, शिवसेना का कहना है कि शरद पवार राष्ट्रपति पद के लिए दावेदार बन सकते हैं. वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को शरद पवार और पूर्व रक्षा मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता एके एंटनी से मुलाकात की थी. इस बैठक में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे भी मौजूद थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें