1. home Hindi News
  2. national
  3. india ban chinese apps us secy of state mike pompeo america welcomes tik tok ban

चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने के फैसले पर अमेरिका ने थपथपाई भारत की पीठ, कह दी ये बात

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने के भारत के फैसले को लेकर अमेरिका ने कही ये बात
चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने के भारत के फैसले को लेकर अमेरिका ने कही ये बात
File

चीन की अकड़ को ठिकाने लगाने के लिए मोदी सरकार ने सोमवार को कड़ा कदम उठाया है. सरकार ने 59 चाइनीज मोबाइल एप को प्रतिबंधित कर दिया. इस मामले को लेकर अमेरिका का बयान सामने आया है. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने चीनी संबंध वाले दर्जनों ऐप पर प्रतिबंध लगाने के नयी दिल्ली के फैसले का बुधवार को स्वागत किया और कहा कि इससे "भारत की अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा को बढ़ावा मिलेगा. उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हम कुछ मोबाइल ऐप पर भारत के प्रतिबंध का स्वागत करते हैं जो सीसीपी (चीनी कम्युनिस्ट पार्टी) के निगरानी राज्य में सहायक के रूप में कार्य करते हैं.

उन्होंने कहा कि ऐप के संबंध में भारत के दृष्टिकोण से देश की संप्रभुता को बढ़ावा मिलेगा. यह भारत की अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा को भी बढ़ावा देगा. आपको बता दें कि भारत ने चीन से संबंधित 59 ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया था. इनमें लोकप्रिय टिकटॉक और यूसी ब्राउज़र जैसे ऐप भी शामिल हैं यह प्रतिबंध पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ मौजूदा गतिरोध की पृष्ठभूमि में लगाया गया है.

टिकटॉक : 11.9 करोड़ यूजर्स: भारत में टिकटॉक काफी प्रसिद्ध है. शायद ही कोई ऐसा होगा जिसने इसका नाम नहीं सुना होगा. यह एक शॉर्ट वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म है, जो एक मिनट तक के वीडियो बनाने और उन्हें लोगों के साथ शेयर करने की अनुमति देता है.

यूसी ब्राउजर : 13 करोड़ यूजर्स: यह एक मोबाइल ब्राउजर है. इसे यूसी बेब ने तैयार किया है, जिसका चीनी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा ने अधिग्रहण कर लिया है. गूगल क्रोम के बाद यह भारत का सबसे लोकप्रिय ब्राउजर में से एक है. भारत के ब्राउजर मार्केट शेयर में इसका करीब 12.59 प्रतिशत हिस्सा है.

शेयरइट : 10 करोड़ यूजर्स: यह एक प्रसिद्ध फाइल शेयरिंग एप है, जो दो डिवाइस के बीच फाइल शेयर करने की सुविधा देता है. इसे फोन से कम्प्यूटर के बीच फाइल शेयर करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है. कंपनी ने भारत में अपना कामकाज 2015 में शुरू किया था.

टिकटॉक को छह अरब डॉलर का नुकसान: चीनी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने ट्वीट किया है कि भारत सरकार के चीन की 59 एप्स बैन करने से टिकटॉक की पैरंट कंपनी बाइटडांस को छह अरब डॉलर का नुकसान हो सकता है. सिर्फ एक एप के बैन होने से अगर इतने नुकसान हो सकता है, तो समझा जा सकता है कि 59 एप्स के बैन होने से चीन को कितना बड़ा आर्थिक झटका लगेगा.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें