1. home Home
  2. national
  3. congress leader saifuddin soz on civilian killings in jammu kashmir muslims is shaken to the core smb

जम्मू कश्मीर: हिंसा की घटनाओं पर बोले कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज, मुस्लिम समुदाय को भी सुना जाना चाहिए

Jammu Kashmir News हाल के दिनों में जम्मू-कश्मीर में हिंसा की बढ़ी घटनाओं को लेकर सूबे में सियासत तेज हो गई है. इसी कड़ी में वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सैफुद्दीन सोज (Saifuddin Soz) ने रविवार को बड़ा बयान दिया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Congress Leader Saifuddin Soz on Civilian Killings in Jammu Kashmir
Congress Leader Saifuddin Soz on Civilian Killings in Jammu Kashmir
twitter

Jammu Kashmir News हाल के दिनों में जम्मू-कश्मीर में हिंसा की बढ़ी घटनाओं को लेकर सूबे में सियासत तेज हो गई है. इसी कड़ी में वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सैफुद्दीन सोज (Saifuddin Soz) ने रविवार को बड़ा बयान दिया है.

कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर का बहुसंख्यक समुदाय मुसलमान अंदर तक हिल गया है. वे दुखी हैं. यह सोचा जा रहा है कि हिंसा का शिकार हुए आम नागरिकों को मुस्लिम समुदाय के किसी युवक ने हथियार उठाकर मार डाला. लेकिन, उन्हें भी कुछ कहना है और उनको सुना जाना चाहिए.

इससे पहले कांग्रेस की जम्मू-कश्मीर मामलों की प्रभारी रजनी पाटिल ने शनिवार को कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा मारे गए नागरिकों के परिवारों से मुलाकात की और कहा कि केन्द्र 1990 के दशक वाली स्थिति को वापस लौटने से रोकने के लिए तुरंत कार्रवाई करे. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र और जम्मू-कश्मीर प्रशासन केंद्र शासित प्रदेश के निवासियों की रक्षा करने में विफल रहे हैं और लोगों विशेष रूप से अल्पसंख्यक समुदायों के लोगों के चेहरे पर भय का भाव है.

रजनी पाटिल ने कहा कि 1990 के दशक में आतंकवादियों द्वारा लक्षित हत्याओं के कारण अल्पसंख्यकों, विशेषकर कश्मीरी पंडितों का घाटी से पलायन हुआ था. पाटिल ने कहा कि सरकार को स्थिति को और बिगड़ने से रोकने के लिए तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि केंद्र को कश्मीर में अल्पसंख्यक समुदायों के सदस्यों और अन्य लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रभावी कदम उठाने चाहिए. बता दें कि आतंकवादियों ने कश्मीर में पिछले पांच दिनों में सात नागरिकों की हत्या कर दी, जिनमें से चार अल्पसंख्यक समुदाय के हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें