21.1 C
Ranchi
Sunday, March 3, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

कहीं आपके स्मार्टफोन में वायरस तो नहीं ? ऐसे लगाएं पता

Smartphone Guide: अगर आप एक स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं तो बता दें हैकर्स मैलवेयर की मदद से उसे इन्फेक्ट कर उससे जरूरी इनफार्मेशन चुरा सकते हैं. केवल यहीं नहीं, ये हैकर्स आपके स्मार्टफोन को बाहर से ही कंट्रोल भी कर सकते हैं.

How To Check If Your Smartphone Is Infected With Virus: अगर आप स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं तो आपके लिए उसके सिक्योरिटी और सेफ्टी के बारे मिनी ध्यान रखना जरुरी है. अगर आपका स्मार्टफोन सिक्योर नहीं है तो उसमें मौजूद डेटा के चोरी होने के चान्सेस बढ़ जाते हैं. डेटा चोरी होने के पीछे एक कारण स्मार्टफोन में वायरस होना भी हो सकता है. अगर आपके स्मार्टफोन में मैलवेयर या फिर वायरस है तो हैकर्स उसमें मौजूद आपके जरूरी डेटा को आसानी से चुरा सकते हैं. केवल यहीं नहीं, वायरस या मैलवेयर होने की वजह से हैकर्स आपके स्मार्टफोन को कहीं और से भी बैठकर कंट्रोल कर सकते हैं. बता दें अगर आपके स्मार्टफोन में एक बार वायरस आ जाता है तो वह देखते ही देखते सिस्टम में मौजूद सभी फाइल्स तक पहुंच जाता है और सभी फाइल्स को इन्फेक्ट कर देता है. ऐसे में अगर आप भी इस बात से चिंतित हैं कि कहीं आपके स्मार्टफोन या फिर सिस्टम में वायरस है या नहीं तो यह स्टोरी आपके लिए काफी काम की साबित होने वाली है. आज हम आपको बताने वाले हैं कि आप किस तरह से स्मार्टफोन में मौजूद मैलवेयर के बारे में पता लगा सकते हैं और ये भी बताएंगे कि आप किस तरह से उससे छुटकारा पा सकते हैं.

स्मार्टफोन में कैसे आते हैं वायरस:

अगर आप यह सोच रहे हैं कि आखिर आपके स्मार्टफोन में वायरस आता कहां से है तो बता दें, इसके कुछ तरीके होते हैं. इनमें

  • जब भी आप किसी अनजान लिंक पर क्लिक करते हैं

  • अक्सर ये मैलवेयर ईमेल, मैसेजेस या फिर व्हाट्सऐप लिंक के जरिये भेजे जाते हैं

  • आप जब इस तरह के लिंक्स पर क्लिक करते हैं तो एक अनजान साइट अपने आप आपके स्मार्टफोन स्क्रीन पर ओपन हो जाती है और यहीं से आपके स्मार्टफोन में वायरस आ जाता है.

  • अगर आप किसी अनजान साइट या लिंक पर क्लिक करते हैं तो ऐसे में भी आपके स्मार्टफोन पर वायरस आ सकता है.

  • जब आप गूगल प्ले स्टोर या फिर ऐपल स्टोर के अलावा कहीं और से ऐप्स को डाउनलोड करते हैं तो ऐसे में भी आपके स्मार्टफोन पर वायरस आ सकता है.

  • ध्यान में रखें कि, जब भी आप किसी पब्लिक प्लेस जैसे कि होटल, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर हों तो वहां के वाई-फाय का इस्तेमाल करने से बचें.

Also Read: Google Play Store से 17 फेक लोन ऐप्‍स की छुट्टी, अभी कर दें फोन से डिलीट
कैसे करें स्मार्टफोन में वायरस होने की पहचान

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि कहीं आपके स्मार्टफोन में वायरस है या नहीं तो इसके लिए आप कुछ चीजों का ध्यान रख सकते हैं. अगर आप जानना चाहते हैं तो बता दें गूगल हर कुछ समय में मैलवेयर और वायरस से जुड़े अलर्टस देता रहता है. केवल यहीं नहीं, कई बार स्मार्टफोन में ऐसी जगह पर पॉपअप नोटिफिकेशन देखने को मिलते हैं जहां उन्हें दिखाई देना नहीं चाहिए. अगर आपका स्मार्टफोन अचानक स्लो हो जाए तो भी उसमें वायरस होने के चान्सेस है. अगर आपके स्मार्टफोन की स्टोरेज अचानक भर जाती है तो यह भी वायरस होने के संकेत हैं. अगर आपका ब्राउजर बार-बार किसी अनजान या फिर आपत्तिजनक साइट पर आपको ले जाता है तो आपको सतर्क हो जाने की जरूरत है. आपके स्मार्टफोन में वायरस हो सकता है.

अपने Android स्मार्टफोन को मैलवेयर अटैक से कैसे बचाएं

अगर आप अपने स्मार्टफोन को मैलवेयर अटैक से बचाना चाहते हैं तो नीचे बताई गयी बातों का ध्यान जरूर रखें-

  • किसी अनजान सोर्स से ऐप या सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने से बचें

  • किसी भी ऐप को डाउनलोड करने से पहले यूजर्स द्वारा लिखे गए रिव्यु जरूर पढ़ लें. इससे आपको पता चल जाएगा कि यह ऐप आपके डेटा का इस्तेमाल किस तरह से करता है.

  • अपने स्मार्टफोन और उसमें मौजूद ऐप्स में स्ट्रॉन्ग पासवर्ड का इस्तेमाल करें

  • एक ही पासवर्ड का इस्तेमाल सभी जगहों पर न करें

  • हर कुछ समय में अपने स्मार्टफोन के कैश मेमोरी को क्लियर करते रहें

  • ब्राउजिंग हिस्ट्री चेक करते रहें और देखें कि उसमें कोई ऐसा साइट तो नहीं जिसे आपने ओपन नहीं किया है.

  • हर कुछ समय पर अपने स्मार्टफोन और उसमें मौजूद ऐप्स को अपडेट करते रहें.

Also Read: Instagram पर आपकी वेब एक्टिविटी ट्रैक नहीं कर सकेगा कोई, ऐसे करें ब्लॉक

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें