21.1 C
Ranchi
Sunday, March 3, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Ayodhya Ram Mandir: AI कैमरा और हाई टेक ड्रोन से लैस रहेगी रामनगरी की सुरक्षा व्यवस्था, चप्पे-चप्पे पर नजर!

Ayodhya Ram Mandir Security - आयोजन स्थल पर सुरक्षा बढ़ाने के लिए, अयोध्या ने उन्नत तकनीक लागू की है, जिसमें 10,000 सीसीटीवी कैमरे को इंस्टॉल किया गया हैं. जिनमें से कुछ नेक्स्ट लेयर सिक्योरिटी के लिए एआई-आधारित टेक्नोलॉजी वाला एआई कैमरा यूज किया गया हैं.

Ayodhya Ram Mandir Security: अयोध्या राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा समारोह का देश ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. मंदिर का प्राण प्रतिष्ठा समारोह 22 जनवरी 2024 को होने जा रहा है. इन सबके बीच राम मंदिर में ‘प्राण प्रतिष्ठा’ समारोह के लिए मजबूत सुरक्षा उपाय सुनिश्चित करने के लिए, अधिकारियों ने एआई-आधारित सीसीटीवी कैमरे, एक्स-रे सामान स्कैनर और अंडर व्हीकल स्कैनिंग सिस्टम (यूवीएसएस) सहित उच्च तकनीक वाले गैजेट लागू किए हैं. राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) की कई टीमों को भी प्रतिष्ठा समारोह से पहले अयोध्या में तैनात कर दिया गया है. इन टीमों को रासायनिक, जैविक, रेडियोलॉजिकल और परमाणु हमलों के साथ-साथ भूकंप और डूबने की घटनाओं जैसी आपदाओं से निपटने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है. आयोजन स्थल पर सुरक्षा बढ़ाने के लिए, अयोध्या ने उन्नत तकनीक लागू की है, जिसमें 10,000 सीसीटीवी कैमरे को इंस्टॉल किया गया हैं. जिनमें से कुछ नेक्स्ट लेयर सिक्योरिटी के लिए एआई-आधारित टेक्नोलॉजी वाला एआई कैमरा यूज किया गया हैं.

क्या होता है एआई कैमरा

इन दिनों एआई हरेक फिल्ड में चरम पर है. हर प्रोडक्ट में एआई को ऐड किया जा रहा है और ऐसे में कैमरा कैसे पीछे रह जाता. आपको बता दें कि एआई की मदद से कैमरा भी बहुत स्मार्ट हो गए हैं. एआई के जरिए अब कैमरा भी हाई रिज्योलूस्नस वीडियो कैप्चर करने लगा है. हर एंगल से एआई की मदद से कैमरा भी घूम-घूम कर चीजों को रिकॉर्ड करने लगा है. एआई कैमरा एक ऐसा कैमरा है जिसमें एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) सॉफ्टवेयर होता है, जो इंटेलिजेंट फीचर्स के साथ कैमरे के काम को बेहतर बनाने की क्षमता रखता है.

Also Read: Ayodhya Ram Temple: 4K वीडियो क्वालिटी में घर बैठे लाइव देख सकेंगे प्राण प्रतिष्ठा, जानें पूरी डीटेल
सुरक्षा बढ़ाने के लिए हईटेक टूल का किया गया है प्रयोग

यह एआई कैमरा तक ही सीमित नहीं है, बल्कि अयोध्या से होकर बहने वाली सरयू नदी की सुरक्षा भी पावर बोट, एनडीआरएफ और एसडीआरएफ टीमों के साथ-साथ स्थानीय नाविकों की भागीदारी से मजबूत की गई है. भीड़ को नियंत्रित करने और अतिरिक्त भीड़ को डायवर्ट करने के लिए ड्रोन का उपयोग किया जाएगा. सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए कार्यक्रम स्थल पर एंटी-ड्रोन तकनीक का भी इस्तेमाल किया जाएगा. सुरक्षा प्रणाली में एक्स-रे सामान स्कैनर और एक अंडर व्हीकल स्कैनिंग सिस्टम (यूवीएसएस) जैसे 11 उन्नत सुरक्षा गैजेट की तैनाती भी शामिल है. इन अत्याधुनिक उपकरणों में प्रतिबंधित वस्तुओं और छुपाए गए हथियारों का पता लगाने की क्षमता है. वेहंट टेक्नोलॉजीज राम मंदिर के लिए ये हाईटेक मशीनें उपलब्ध करा रही है. इन एक्स-रे बैगेज स्कैनर का उपयोग हवाई अड्डों पर भी किया जाता है. वेहंट टेक ने एक बयान में कहा, “इन हाई-टेक मशीनों को हाल ही में खोले गए तीन हवाई अड्डों पर भी रखा गया था.” यूवीएसएस तकनीक छिपे हुए विस्फोटक, हथियार या खतरनाक सामग्री ले जाने वाले किसी भी वाहन की पहचान करने में सहायता करेगी.

Also Read: अयोध्या राम मंदिर का नकली प्रसाद अमेजन ने अपने प्लैटफॉर्म से हटाया, CCPA ने नोटिस जारी कर मांगा था जवाब

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें