1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. up vidhasabha chunav 2022 home minsiter amit shah will lay foundation of vindhya corridor on 1 august in mirzapur cm yogi also be present

यूपी चुनाव से ठीक पहले विंध्य कॉरिडोर की तैयारी, कानपुर-प्रयागराज बेल्ट के हिंदू वोटर्स पर सीएम योगी का निशाना

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Vidhansabha Chunav 2022) को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं. भाजपा भी चाहेगी कि उसके खाते में सिर्फ ब्राह्णण वोट बैंक ही नहीं सभी हिंदू वोटर्स आ जाएं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Vindyachal Mandir Mirzapur
Vindyachal Mandir Mirzapur
prabhat khabar

UP Political News: यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Vidhansabha Chunav 2022) को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं. भाजपा भी चाहेगी कि उसके खाते में सिर्फ ब्राह्णण वोट बैंक (Brahmin Vote Bank) ही नहीं सभी हिंदू वोटर्स आ जाएं. अब इसे संयोग कहें या चुनावी रणनीति, बीजेपी अयोध्या में राम मंदिर (Ram Mandir in Ayodhya), बनारस में विश्वनाथ कॉरिडोर( Vishwanath Corridor) के बाद अब विंध्याचल की ओर चलने जा रही है. एक अगस्त को विंध्य कॉरिडोर (Vindhya Corridor) का शिलान्यास किया जा रहा है और इस मौके पर गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) और यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ (UP CMYogi Adityanath) भी मौजूद होंगे.

विंध्यवासिनी देवी के यूपी में हैं करोड़ों भक्त

आपको बता दें कि पूरे कानपुर-प्रयागराज-गोरखपुर बेल्ट में विंध्याचल धाम (Vindhyachal Dham) और मां विंध्यवासिनी देवी (Vindhyavasini Devi) को लेकर खूब मान्यता है. करोड़ों भक्त हैं जो हर साल वहां दर्शन को पहुंचते हैं. ऐसे में बीजेपी के उस तीर्थस्थल के विकास का एजेंडा निश्चित तौर पर करोड़ों हिंदुओं के दिल को भाएगा.

सीएम योगी का है ड्रीम प्रोजेक्ट

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले में विंध्याचल धाम का विस्तार किया जा रहा है. सरकार यहां विंध्याचल कॉरिडोर (Vindhyachal Corridor) बना रही है. यह कॉरिडोर सीएम योगी (CM Yogi) का ड्रीम प्रोजेक्ट है. विंध्य कॉरिडोर के निर्माण को लेकर अधिग्रहण का कार्य तेजी से चल रहा है. पतली गलियों को 35 से 50 फीट तक चौड़ा किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि मंदिर के चारों तरफ परिक्रमा पथ बनेगा. साथ ही मां विंध्यवासिनी और गंगा से जुड़ने वाली सड़कों को भी भव्य रूप दिया जाएगा. त्रिकोण के अंदर आने वाले कालीखोह और अष्टभुजा मंदिर का भी सुंदरीकरण होगा.

विंध्य कॉरिडोर: एक नजर

  • अक्टूबर 2020 में विंध्य कॉरिडोर को मिली कैबिनेट की मंजूरी

  • नवंबर 2020 में शुरू हुआ काम

  • 331 करोड़ है कुल लागत

  • अक्टूबर 2021 तक कॉरिडोर के है बनने की उम्मीद

470 करोड़ की परियोजना का शिलान्यास करेंगे शाह

मीडिया सूत्रों के मुताबिक, विंध्य कॉरिडोर के शिलान्यास के साथ ही गृहमंत्री अमित शाह 117 परियोजनाओं का भी शिलान्यास और लोकार्पण करेंगे. इन परियोजनाओं की कुल लागत 470 करोड़ रुपये बताई जा रही है. बता दें कि इस दौरान गृहमंत्री 16 करोड़ रुपये की लागत से तैयार पूर्वांचल के पहले रोप-वे का लोकार्पण भी करेंगे. यह रोप-वे अष्टभुजा पहाड़ी पर बना है. इसके अलावा गृहमंत्री एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे.

51 शक्तिपीठों में से एक है विंध्याचल मंदिर

विंध्याचल की पहाड़ियों पर गंगा नदी के किनारे बना मां विध्यासिनी का मंदिर 51 शक्तिपीठों में से एक है. यह जागृति शक्तिपीठ है, जिसका अस्तित्व सृष्टि प्रारंभ होने से पहले और प्रलय के बाद भी रहेगा. यहां पर भक्तों को देवी मां के तीन रूपों महालक्ष्मी, कालीखोह महाकाली और अष्ठभुजा महासरस्वती का दर्शन होता है.

Posted by: Achyut Kumar

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें