1. home Home
  2. state
  3. up
  4. up news cm yogi gave appointment letters to 2846 teachers uttar pradesh government acy

CM योगी ने 2,846 शिक्षकों को बांटे नियुक्ति पत्र, बोले- पिछले सवा 4 साल में 4.5 लाख युवाओं को दी सरकारी नौकरी

सीएम योगी ने गुरुवार को 2,846 नवचयनित शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटे. इस दौरान उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने पिछले सवा चार साल में साढ़े पांच लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
UP CM Yogi Adityanath
UP CM Yogi Adityanath
Twitter

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ(Chief Minister Yogi Adityanath) ने आज लखनऊ के लोकभवन में आयोजित समारोह में लोक सेवा आयोग से चयनित 2,846 प्रवक्ताओं और सहायक अध्यापकों को ऑनलाइन पदस्थापन एवं नियुक्ति पत्र वितरित किए गए. समारोह में करीब 200 शिक्षकों को आमंत्रित किया गया था. इस दौरान मुख्यमंत्री ने युवाओं को उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी.

निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से सम्पन्न हो रही चयन प्रक्रिया

इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से चयन प्रक्रिया संपन्न हो रही है. युवाओं की प्रतिभा का लाभ लेने के लिए यूपी सरकार पूरी प्रतिबद्धता से कार्य कर रही है. उन्होंने प्रदेश के नवचयनित 2,846 प्रवक्ताओं एवं सहायक अध्यापकों को बधाई और शुभकामनाएं भी दी.

डेढ़ लाख शिक्षकों के पद भरे गए

मुख्यमंत्री ने कहा, प्रदेश में संविधान के तहत आरक्षण व योग्यता के नियमों का पालन करते हुए उच्च, माध्यमिक, बेसिक और तकनीकी शिक्षा में लगभग 1.50 लाख शिक्षकों के पद भरे गए हैं. उन्होंने कहा, शिक्षा जगत में आमूलचूल परिवर्तन लाने हेतु 'नई शिक्षा नीति' को पूरे देश में लागू करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कोटि-कोटि आभार व्यक्त करता हूं. वर्ष 2022 से भारत 'नई शिक्षा नीति' के साथ आगे बढ़ेगा.

नवाचार का भी माध्यम बनेगी शिक्षा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शिक्षा केवल किताबी ज्ञान का नहीं, बल्कि नवाचार का माध्यम भी बनेगी. पुस्तकीय ज्ञान के साथ-साथ नए अनुसंधान और नए शोध का माध्यम भी बनेगी. इसमें प्रत्येक छात्र के लिए विभिन्न विकल्प उपलब्ध कराए जा रहे हैं.

साढ़े चार लाख युवाओं को मिली सरकारी नौकरी

मुख्यमंत्री ने आगे कहा, उत्तर प्रदेश में पिछले सवा 4 वर्षों में 4.5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी प्राप्त हुई है. पिछले 15-20 वर्षों के उ.प्र. शासन में किसी भी सरकार के कार्यकाल में इतनी नियुक्तियों के आंकड़े नहीं मिलेंगे.

इच्छा के अनुसार जिला और स्कूल चुन सकेंगे शिक्षक

बता दें, ऐसा पहली बार हुआ है कि प्रदेश सरकार ने एलटी ग्रेड एग्जाम की जिम्मेदारी लोक सेवा आयोग को सौंपी है. सहायक अध्यापकों की भर्ती का फैसला रिटेन एग्जाम से लिया गया. इसके लिए परीक्षा 2018 में हुई थी. सूत्रों के मुताबिक, नियुक्त होने वाले नए शिक्षकों को इच्छा के अनुसार जिले और स्कूल का चयन करने का अधिकार दिया जा रहा है.

गौरतलब है कि राजकीय माध्यमिक विद्यालयों के विभिन्न विषयों में रिक्त सहायक अध्यापकों के 10,768 शिक्षक भर्ती में चयनित अध्यापकों को माध्यमिक शिक्षा विभाग नियुक्ति पत्र वितरित कर चुका है. पहले चरण में 3,317 शिक्षकों व दूसरे चरण में 436 एलटी ग्रेड व प्रवक्ताओं को नियुक्ति पत्र बांटे गए थे. अब तीसरे चरण में 2667 एलटी ग्रेड व 179 प्रवक्ताओं की नियुक्ति होगी.

Posted by : Achyut Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें