1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. hazaribagh
  5. dhanbad judge uttam anand merged into panchatattva younger brother demanded cbi probe under court supervision smj

धनबाद ADJ मर्डर केस : पंचतत्व में विलीन हुए जज उत्तम आनंद, भाई ने कोर्ट की निगरानी में CBI जांच की मांग की

धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश-8 उत्तम आनंद की हत्या मामले को लेकर उसके छोटे भाई सुमन आनंद ने कोर्ट की निगरानी में CBI जांच की मांग की है. उन्होंने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी शीघ्र होनी चाहिए. भाई की हत्या के बाद पूरा परिवार टूट गया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
धनबाद के जिला जज उत्तम आनंद की मौत मामले पर उनके छोटे भाई ने CBI जांच की मांग की.
धनबाद के जिला जज उत्तम आनंद की मौत मामले पर उनके छोटे भाई ने CBI जांच की मांग की.
फाइल फोटो.

Dhanbad ADJ Murder Case, Jharkhand News (हजारीबाग) : धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश-8 उत्तम आनंद की हत्या मामले को लेकर उसके छोटे भाई सुमन आनंद ने कोर्ट की निगरानी में CBI जांच की मांग की है. उन्होंने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी शीघ्र होनी चाहिए. भाई की हत्या के बाद पूरा परिवार टूट गया है.

पिता और माता की उम्र 70 वर्ष से अधिक है. बडे भाई उत्तम के बच्चे काफी छोटे हैं. पूरी परिस्थिति कैसे ठीक होगी समझ में नहीं आ रहा है. परिवार के सभी सदस्यों ने कहा कि जज उत्तम आनंद की किसी से कोई दुश्मनी नहीं. सच्चाई और ईमानदारी से काम करते थे. सरल स्वभाव होने के बाद भी हत्या की गयी है. यह सोचने से परे है.

संत जेवियर स्कूल के प्राचार्य फादर पीजे जेम्स ने कहा कि उत्तम आनंद सदा सरल व्यक्ति था. उसका दुश्मन कौन हो सकता है. सच्चाई और न्याय के दुश्मन ने यह हरकत की है. वहीं, पूर्व सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता ने कहा कि जब जज सुरक्षित नहीं है. सरकार को कानून व्यवस्था पर विचार करना चाहिए. उच्च स्तरीय CBI जांच कर पूरे मामले का खुलासा और दोषियों की गिरफ्तारी की जाय. वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व उत्तम के मित्र जयशंकर पाठक ने कहा कि हमेशा दूसरों की मदद करने वाला व्यक्ति उत्तम था. जब ऐसे व्यक्ति की हत्या होती है, तो पूरे समाज के लोग सोचने पर मजबूर हो जाते हैं.

पार्थिव शरीर के हजारीबाग पहुंचते ही गमगीन हुआ माहौल

धनबाद कोर्ट के जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद का अंतिम संस्कार गुरुवार को हजारीबाग मुक्तिधाम खिरगांव में हुआ. पिता सदानंद प्रसाद और पुत्र कुशान आनंद ने मुखाग्नि दी. उत्तम आनंद व उसके पुत्र-पुत्री के गुरू संत जेवियरर्स स्कूल बोकारो के प्राचार्य फादर पीजे जेम्स, परिवार के सदस्य आइएएस अधिकारी कृष्ण कुणाल, सुजीत सिन्हा समेत शहर के गणमान्य लोग अंतिम संस्कार में शामिल हुए. 75 वर्षीय पिता सदानंद प्रसाद अपने कंधों पर पुत्र का अर्थी जब लिये हुए थे तो उपस्थित लोगों की आंखे नम हो गयी थीं. पुत्र और पुत्री पिता के अर्थी को देख विलख- विलख कर रो रहे थे.

परिवार व रिश्तेदार के रोने की गूंज के बीच निकली शवयात्रा

हजारीबाग शिवपुरी स्थित आवास से गुरुवार को 9.43 बजे घर से उनकी शवयात्रा निकाली गयी. शव का मुक्तिधाम खिरगांव श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया. मुखाग्नि पिता सदानंद प्रसाद और 10 वर्षीय पुत्र कुशान आनंद ने संयुक्त रूप से दिया. इस मौके पर परिवार और रिश्तेदारों के अलावा पूर्व सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता, उत्तम के दोस्त जयशंकर पाठक, राजेश ठाकुर, इंद्रपाल, जोसेफ शॉ, जयप्रकाश, तरूण नायक, संजीव सहाय, शहर के डॉ नवेंदुशंकर, मिथिलेश दुबे, प्रभात कुमार पम्मू, डीएसपी महेश प्रजापति, इंस्पेक्टर ललित, सीओ राजेश कुमार समेत काफी संख्या में गणमान्य लोग उपस्थित थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें