1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. water shut down in ghaghara block for two years action not taken despite complaint from administration smr

घाघरा प्रखंड में दो वर्षो से पानी बंद, प्रशासन से शिकायत के बावजूद नहीं हुई कार्रवाई

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
गुमला जिला के घाघरा प्रखंड में पानी की सप्लाई बंद
गुमला जिला के घाघरा प्रखंड में पानी की सप्लाई बंद
prabhat khabar

घाघरा (अजीत/कुलदीप) : गुमला जिला के घाघरा प्रखंड मुख्यालय के बाजार टांड़ में बने पानी टंकी दो वर्षों से हाथी का दांत साबित हो रहा है. टंकी से पानी की सप्लाई नहीं हो रही है. कई बार इसकी लिखित व मौखिक शिकायत बीडीओ व पीएचईडी विभाग से की गयी. इसके बावजूद समस्या अब तक बनी हुई है.

सप्लाई पानी नहीं मिलने से लोग परेशान हैं. कुंआ व डाड़ का पानी पी रहे हैं. कई लोगों को पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है. प्रखंड मुख्यालय में सिर्फ एक ही पानी टंकी है. जिससे पूरे प्रखंड मुख्यालय में पानी का सप्लाई होना है. सभी जगहों पर पानी का पाइप लाइन तो बिछा दिया गया है. परंतु पानी की सप्लाई बीते दो वर्षों से ठप है.

घाघरा प्रखंड मुख्यालय में लगभग दो हजार घर है. आबादी 10 हजार से अधिक है लेकिन इतनी बड़ी जनसंख्या के बावजूद भी पानी की सप्लाई नहीं होना, विभाग की घोर लापरवाही को दर्शाता है. प्रखंड मुख्यालय में कई ऐसे परिवार हैं जो सिर्फ सप्लाई पानी के भरोसे हैं. पानी की सप्लाई ना होने से पानी लाने के लिए घर की महिला पुरुष एक-एक किलोमीटर दूर जाकर पानी ढोकर ला रहे हैं.

इस पानी टंकी की पाइप लोहरदगा रोड स्थित पुरानी पेट्रोल पंप, जग बगीचा, छठ मोहल्ला, नेतरहाट रोड, पुटो रोड, गुमला रोड के चपका नदी तक फैला हुआ है. पानी की सप्लाई शुरू हो जाने से प्रखंड के 10 हजार लोगों को पानी के लिए सुविधा मिलेगी.

क्या कहते हैं अधिकारी

पीएचडी के कनीय अभियंता रजनीश कुमार से पूछने पर उन्होंने बताया नदी से जो पानी टंकी तक पहुंचता है. वह पाइप टूट गया है. साथ ही पानी टंकी में उपयोग होने वाली मशीन भी खराब है. इसके कारण पानी की सप्लाई नहीं हो रही है. हालांकि विभाग के द्वारा नई पानी टंकी बनाने की दिशा में पहल की जा रही है. क्योंकि यह पानी टंकी काफी जर्जर हो चुका है. इसी कारण इस पानी टंकी से पानी सप्लाई करने की दिशा में पहल नहीं किया जा रहा है.

जनता की फरियाद

ग्रामीण संजय पांडे ने कहा कई ऐसे लोग हैं जो सिर्फ पानी टंकी के भरोसे हैं. वैसे लोगों को पानी पीने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. प्रत्येक दिन सुबह उठ कर घर से दूर जाकर पानी लाते हैं. ग्रामीण संतोष कुमार ने कहा विभाग की घोर लापरवाही है. कई बार हम लोगों ने पीएचईडी के अधिकारी से लेकर वरीय पदाधिकारी को लिखित आवेदन देकर पानी टंकी बनाने का आग्रह किया है.

परंतु बनाने की दिशा में किसी भी पदाधिकारी के द्वारा कोई पहल नहीं किया गया. शंकर गुप्ता ने कहा बीते दो वर्षों से पानी की सप्लाई नहीं हो रही है. इतने बड़ी जनसंख्या वाले इलाके में पानी की समस्या उत्पन्न हुई है. यह काम इतना बड़ा है कि हम ग्रामीण चंदा करके भी नहीं कर सकते हैं. यदि संभव होता तो चंदा करके बनवाते. जब तक विभाग इस पर ध्यान नहीं देगा. तब तक पानी का सप्लाई नहीं हो सकता है. विभाग पहल करें कि जल्द लोगों को पानी का सप्लाई हो.

क्या कहना है पंचायत समिति सदस्य संतोष साहू का

पंचायत समिति सदस्य संतोष साहू ने कहा कि कई बार मैंने खुद पानी सप्लाई कराने के लिए अधिकारी से बात किया. पर सिर्फ आश्वासन मिला. पानी की सप्लाई अभी तक नहीं हुई. विभाग की घोर लापरवाही है.

जब भी ग्रामीण पानी सप्लाई की बात को लेकर विभाग के पदाधिकारियों के पास जाते हैं तब टालमटोल करते हुए आश्वासन देकर भेज दिया जाता है. अब अंतिम उपाय यही है सड़क जाम करने का. यदि विभाग जल्द पानी की समस्या को दूर करते हुए पानी टंकी से पानी की सप्लाई नहीं की तो हम सभी ग्रामीण सड़क जाम कर आंदोलन करेंगे.

posted by : sameer oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें