कई पंचायत भवन पांच साल में भी नहीं हुए पूरे

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
जहां-तहां कार्य निपटाते हैं मुखिया फोटो : कान्हाचट्टी 1 में, तुलबुल का अधूरा पंचायत भवऩ कहीं आवंटन के अभाव में, तो कहीं उग्रवादियों के भय के कारण अधूरा है कार्य प्रतिनिधि, कान्हाचट्टी प्रखंड के कई पंचायत भवन आज भी अधूरे हैं़ पंचायत भवन के अभाव में पंचायत के कार्यों का निष्पादन करने में मुखिया को काफी परेशानी हो रही है़ जहां-तहां बैठक व ग्रामसभा कर योजनाओं का चयन करना पड़ रहा है़ कहीं आवंटन के अभाव में, तो कहीं उग्रवादियों के भय के कारण पंचायत का निर्माण कार्य अधूरा है़ कहां-कहां अधूरा है भवन बेंगोकला पंचायत सचिवालय का निर्माण कार्य 2008 में प्रारंभ किया गया था, लेकिन सात वर्ष में भी कार्य पूर्ण नहीं हुआ़ सिर्फ ढलाई क र छोड़ दिया गया़ पंचायत सचिवालय का निर्माण 17 लाख की लागत से किया जा रहा है़ तुलबुल पंचायत सचिवालय का निर्माण कार्य वर्ष 2009 में प्रारंभ हुआ था़ दो मंजिला की जगह एक तल्ला ही बना है़ वहीं चारू पंचायत सचिवालय का निर्माण कार्य 2009 में प्रारंभ हुआ था़ सिर्फ दीवार खड़ी कर छोड़ दिया गया़ उग्रवादियों का भय बता कर जेइ ने कार्य बंद करा दिया़ कोल्हैया पंचायत सचिवालय का निर्माण कार्य 2009 में प्रारंभ हुआ था, लेकिन आज तक भवन पूर्ण नहीं हो पाया. कैंडीनगर, जमरी बकसपुरा व बाराबागी पंचायत सचिवालय की स्थिति भी कुछ ऐसी ही है़ चिरीदीरी पंचायत सचिवालय का कार्य पूर्ण कर दिया गया है, लेकिन वायरिंग का कार्य नहीं किया गया है़ इस कारण मुखिया ने हैंड ओवर लेने से इनकार कर दिया़ क्या कहते हैं मुखिया चारू के मुखिया राजेंद्र राम ने कहा कि पंचायत भवन अधूरा रहने से ग्राम सभा करने में काफी दिक्कत होती है़ कार्यों का निष्पादन समय पर नहीं होता है़ सारा कार्य घर पर ही निपटाना पड़ता है़ कोल्हैया के मुखिया बैजनाथ सिंह भोक्ता ने कहा कि किराये के मकान में कार्य कर रहे हैं़ क्या कहते हैं जिप उपाध्यक्ष जिप उपाध्यक्ष देवनंदन साहू ने कहा कि अधूरे पंचायत भवनों का निर्माण कार्य अविलंब पूरा कराया जायेगा़ जिला परिषद द्वारा कार्य कराने वाली एजेंसी को पत्र भेज कर अविलंब कार्य पूर्ण कराने को कहेंगे.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें