1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. bokaro
  5. bsl officials will take out candle march will register darkly at home in diwali read what are their demands online meeting phased movement gur

बीएसएल के अधिकारी निकालेंगे कैंडल मार्च, दिवाली में घर पर अंधेराकर दर्ज करायेंगे विरोध, पढ़िए क्या हैं इनकी मांगें

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
अपनी मांगों को लेकर विरोध दर्ज करायेंगे बीएसएल के अधिकारी
अपनी मांगों को लेकर विरोध दर्ज करायेंगे बीएसएल के अधिकारी
प्रभात खबर

बोकारो (सुनील तिवारी) : वेतन समझौता में देरी व लंबित मांगों को लेकर बीएसएल सहित सेल के अधिकारी 9 नवंबर से 1 दिसंबर तक चरणबद्ध आंदोलन करेंगे. 9 नवंबर को शाम 5.30 बजे के बाद ये कैंडल मार्च निकालेंगे. दीपावली के दिन शाम 7 बजे से 7.15 बजे के बीच अपने घर की बिजली बंद कर सांकेतिक विरोध करेंगे. 25 नवंबर को सभी अधिकारी काली पट्टी लगाकर कार्य करेंगे. 1 दिसंबर सामान्य पाली में सभी अधिकारी सांकेतिक विरोध स्वरूप अपने-अपने कार्यस्थल पर पैदल जायेंगे. यह निर्णय सेफी काउंसिल की ऑनलाइन मीटिंग में लिया गया.

सेफी ने अधिकारियों के लंबित मुद्दों पर गहन चर्चा करते हुए वर्तमान परिप्रेक्ष्य में लंबित मुद्दों व कोरोना महामारी से बचाव व इलाज की सुविधाओं को लेकर गहन चर्चा की. सेफी पदाधिकारियों ने सेल प्रबंधन के साथ 17 अक्टूबर को हुई बैठक में चर्चा का विस्तृत विवरण सेफी सदस्यों के सामने रखा. सभी काउंसिल सदस्यों ने पे-रिविजन व पीआरपी पर प्रबंधन की ओर से क्रियान्वयन में देरी पर रोष व्यक्त किया.

कोरोना के कारण उत्पन्न परिस्थितियों पर चिंता जाहिर करते हुए स्थानीय स्तर पर आपात चिकित्सकीय तैयारियों पर असंतोष जाहिर किया. कोरोना से सुरक्षा के लिये बेहतर चिकित्सा सुविधा व कोविड इंश्योरेंश पालिसी की मांग रखी. कार्मिकों की कोरोना से होने वाली मृत्यु को ड्यूटी डेथ मानने व कार्मिकों की मृत्यु पर परिजन को एक्स-ग्रेसिया सहायता पर चर्चा हुई.

बोकारो स्टील ऑफिसर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष एके सिंह ने कहा कि आज चुनौतियों का सामना करने के लिए अधिकारियों का मनोबल बढ़ाना समय की मांग है. अधिकारी के कई मुद्दे वर्षों से निगमित कार्यालय स्तर पर लंबित हैं. बोसा के साथ-साथ सेफी की ओर से कई बार इन मुद्दों के समाधान के लिये प्रयास करने बावजूद भी निगमित कार्यालय द्वारा इन मुद्दों का समुचित समाधान के लिये उचित कार्यवाही नहीं की गयी.

उन्होंने कहा कि अधिकारियों में प्रबंधन के लचर रवैये के कारण आक्रोश है. इन परिस्थितियों में सेफी ने चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा की है. बीएसएल सहित सेल की विभिन्न इकाईयों के अधिकारी अपनी मांगों को लेकर सड़क पर उतरेंगे. बीएसएल सहित सेल की सभी इकाईयों में इसकी तैयारी चल रही है. 13 वर्षों में 55000 करोड़ का कर पूर्व लाभ सेल ने अर्जित किया, जो अधिकारियों के उत्कृष्ट प्रदर्शन से संभव हुआ. ऑनलाइन मीटिंग में सेफी चेयरमेन नरेन्द्र कुमार बंछोर, महासचिव बिमल बिशी, बोकारो स्टील ऑफिसर्स एसोसिएशन-बोसा अध्यक्ष एके सिंह सहित सेल की विभिन्न इकाईयों के अधिकारी प्रतिनिधि शामिल हुये.

अधिकारियों की ये हैं मांगें

- थर्ड पे-रिविजन 01.01.2017 से लागू

- वित्तीय वर्ष 2018-19 का शेष पीआरपी

- वित्तीय वर्ष 2019-20 के एडवांस पीआरपी

- जूनियर आफिसर 2008-2010 बैच के वेतनमान निर्धारण तीसरे पे-रिविजन के पहले

- एक बार में 10 दिनों का सीएल को पुन: शुरू करने

- अधिकारियों के नये प्रमोशन पालिसी में आवश्यक संशोधन

- कोविड-19 से निपटने के लिये बीमा, कोविड फंड

- एचआरए व लीवइंकैशमेंट शासकीय नियमानुसार पुन: शुरू

- सेल पेंशन ट्रस्ट में फंड ट्रांसफर

- चिकित्सकों को नया पदनाम

- हाउस लीज/लाइसेंस

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें