24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

जकरियापुर व बाइपास इलाके से एनसीइआरटी, भारती भवन की करीब 25 करोड़ की नकली किताबें जब्त

रामकृष्णा नगर थाने के जकरियापुर व बाइपास इलाके के पांच प्रिंटिंग प्रेस में छापेमारी कर पुलिस ने भारती भवन, सीबीएसइ, एनसीइआरटी व अन्य प्रकाशकों की करीब 25 करोड़ की नकली किताबें और अन्य सामान को जब्त कर लिया.

संवाददाता, पटना

रामकृष्णा नगर थाने के जकरियापुर व बाइपास इलाके के पांच प्रिंटिंग प्रेस में छापेमारी कर पुलिस ने भारती भवन, सीबीएसइ, एनसीइआरटी व अन्य प्रकाशकों की करीब 25 करोड़ की नकली किताबें और अन्य सामान को जब्त कर लिया. पुलिस ने यह कार्रवाई भारती भवन के अधिकारियों की शिकायत पर की. खास बात यह है कि काफी संख्या में किताबें कंपलीट स्थिति में थी और उसे बाजार में भेजने की तैयारी चल रही थी. काफी मात्रा में किताबों के कवर पेज, होलोग्राम व अंदर की किताब को बरामद किया गया है. पुलिस ने किताबों को बरामद करने के साथ ही प्रिंटिंग प्रेस को कब्जे में ले लिया है और उसकी प्रिंटिंग मशीन, बाइंडिंग मशीन, लेबलर कटर मशीन आदि भी जब्त कर ली है. बरामद किताबों में सीबीएसइ और एनसीइआरटी की सबसे अधिक है और यह कक्षा छह से आठवीं तक की है. इस मामले में पुलिस ने राकेश कुमार को पकड़ा है. हालांकि उसे नियमानुसार नोटिस देकर छोड़ दिया गया है. इधर, इस संबंध में रामकृष्णानगर व बाइपास थाने में केस दर्ज कर पुलिस कार्रवाई कर रही है.

क्वालिटी खराब होने की मिल रही थी शिकायत

भारती भवन के अधिकारी अखिलेश कपूर ने बताया कि कई दिनों से किताबों के खराब क्वालिटी होने की जानकारी मिल रही थी. इसके बाद बाजार में उपलब्ध किताबों की जांच करायी गयी तो करीब 40 फीसदी नकली पायी गयी. इसके बाद रामकृष्णा नगर थाने के जकरियापुर व बाइपास इलाके में स्थित प्रिंटिंग प्रेस व गोदाम में छापेमारी कर किताबों को बरामद किया गया.

20 करोड़ की किताबें सीबीएसइ और एनसीइआरटी के

बरामद किये गये किताबों में सबसे अधिक सीबीएसइ व एनसीइआरटी के हैं. इसकी कीमत करीब 20 करोड़ है. जबकि भारती प्रकाशन की चार करोड़ की और अन्य प्रकाशन की एक करोड़ की किताबों को बरामद किया गया. जिन पांच प्रिंटिंग प्रेस में छापेमारी की गयी, उनमें से तीन में केवल सीबीएसइ और एनसीइआरटी की किताबों की छपाई व बाइंडिंग हो रही थी. साथ ही इन्हें बना कर खेमनीचक व अन्य जगहों पर बने गोदाम में संग्रह किया जाता था.

काफी बिकती हैं सीबीएसइ और एनसीइआरटी की किताबें

पटना में अधिकांश स्कूल सीबीएसइ की है. इसके कारण सीबीएसइ व एनसीइआरटी की किताबों की काफी डिमांड है. सभी स्कूलों में पढ़ाई शुरू हो चुकी है और किताबों को भी लोग धड़ल्ले से खरीद रहे हैं. लेकिन कक्षा छह से आठवीं की किताबों की बाजार में किल्लत है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें