1. home Home
  2. national
  3. omicron variant discussion to be held in lok sabha rjh

Omicron: कोरोना वायरस के नये वैरिएंट ओमीक्रोन पर कल लोकसभा में हो सकती है चर्चा

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने राज्यसभा में कहा कि अबतक भारत में कोरोना वायरस के नये वैरिएंट ओमीक्रोन का एक भी केस नहीं मिला है. हम पूरी सतर्कता बरत रहे हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Winter session of Parliament
Winter session of Parliament
Twitter

कोरोना वायरस के नये वैरिएंट ओमीक्रोन पर कल लोकसभा में चर्चा हो सकती है. यह जानकारी सूत्रों के हवाले से न्यूज एजेंसी एएनआई ने दी है. जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस के नये वैरिएंट ओमीक्रोन पर रूल 193 के तहत चर्चा होगी.

आज स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने राज्यसभा में कहा कि अबतक भारत में कोरोना वायरस के नये वैरिएंट ओमीक्रोन का एक भी केस नहीं मिला है. हम पूरी सतर्कता बरत रहे हैं. विदेश से आने वाले यात्रियों की कड़ाई से जांच हो रही है और उनके लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य होगा. रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही उन्हें आइसोलेशन से बाहर आने दिया जायेगा.

ज्ञात हो कि देश में विदेशी फ्लाइट्‌स पर बैन लगाने की मांग उठ रही है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्‌स पर रोक लगाने की मांग की है.

  • देश में ओमीक्रोन वैरिएंट को लेकर चिंता

  • कल लोकसभा में हो सकती है ओमीक्रोन पर चर्चा

  • अबतक देश में सामने नहीं आया कोई मामला

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस के नये वैरिएंट को लेकर बहुत चिंता है. इन चिंताओं के बीच आज राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने बैठक की. उन्होंने किसी मामले की जल्द पहचान के लिए जांच बढ़ाने, अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की प्रभावी निगरानी करने और ‘हॉटस्पॉट' की सख्त निगरानी करने की सलाह दी है.

कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के मामले कई देशों में सामने आने के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ डिजिटल तरीके से एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की.

इस बैठक में कोविड-19 के नये स्वरूप से लड़ने के लिए तैयारियों की समीक्षा भी की गयी. स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने राज्यों को सलाह दी कि वे अपने बचाव उपायों को कम न करें और विभिन्न हवाई अड्डों, बंदरगाहों और सीमापार से आने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों पर कड़ी निगरानी रखें.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें