लापरवाही की इंतहा : जिंदा मरीज को घोषित किया मृत

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मालदा: मालदा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में मंगलवार को लापरवाही की इंतहा हो गयी. चिकित्सक ने एक महिला मरीज को मृत घोषित कर दिया. यही नहीं, डेथ सर्टिफिकेट भी जारी कर दिया गया.

महिला के परिजनों ने रोना-धोना भी शुरू कर दिया था. बाद में परिजनों ने देखा कि मरीज जीवित है. इस घटना को लेकर अस्पताल में हड़कंप मच गया. मरीज के परिजनों ने चिकित्सक पर हमला भी किया. बाद में पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और स्थिति को नियंतित्र किया. मेडिकल कॉलेज व अस्पताल प्रबंधन ने मामले की जांच का निर्देश दिया है.

हालांकि इस मामले में किसी के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं करायी गयी है. मेडिकल कॉलेज सूत्रों के अनुसार, सोमवार रात साढ़े आठ बजे ममता सरकार (35) को सांस की तकलीफ के साथ मालदा मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में भरती कराया गया. ममता के पति सुनील सरकार ने बताया कि सोमवार रात को उसकी रिश्तेदार सुमिता हलदर उसकी पत्नी के लिए खाना लेकर अस्पताल पहुंची. तभी अस्पताल से कहा गया कि ममता की मौत हो चुकी है. सुमिता ने यह जानकारी घर में जाकर दी. पत्नी की मौत की खबर सुन कर सुनील अस्पताल पहुंचा. अस्पताल पहुंच कर उसने देखा कि उसकी पत्नी का डेथ सर्टिफिकेट भी तैयार हो गया है. घरवालों ने ममता के बेड पर जाकर रोना-धोना शुरू कर दिया.

अचानक सुनील ने देखा कि उसकी पत्नी का हाथ-पैर हिल रहा है. उसने तुरंत नर्स को बुलाया. नर्स ने ऐसी स्थिति देख चिकित्सक को फोन किया. ममता का इलाज डॉ अनिमेष मंडल कर रहे थे. डॉक्टर ने ममता की जांच कर बताया कि वह जीवित है. इसके बाद ही मरीज के परिजन भड़क गये. चिकित्सक के साथ धक्का-मुक्की व हल्ला शुरू कर दिया. मालदा मेडिकल कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल एमए रशीद ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश के तहत मीडिया के सामने हम कुछ नहीं बोल सकते हैं. इसलिए हम कुछ नहीं कहेंगे. हालांकि प्रिंसिपल डॉ शैबाल मुखर्जी ने पूरे मामले की जांच का निर्देश दिया है. अस्पताल में मरीज का इलाज चल रहा है.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें