1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. pilibhit mp varun gandhi said next fight will be on the issue of employment sht

Bareilly News: वरुण गांधी के निशाने पर मोदी सरकार, बोले- रोजगार के मुद्दे पर होगी अगली लड़ाई

सांसद वरुण गांधी अपने दो दिवसीय दौरे पर पीलीभीत पहुंचे. यहां उन्होंने संवाद कार्यक्रम में मोदी सरकार का जमकर घेराव किया. साथ ही कहा कि, अगली लड़ाई रोजगार के मुद्दे पर लड़ना है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Bareilly
Updated Date
Varun gandhi
Varun gandhi
Prabhat khabar

Bareilly News: पीलीभीत लोकसभा क्षेत्र से सांसद वरुण गांधी शनिवार को दो दिवसीय दौरे पर पीलीभीत पहुंचे. सांसद का बरेली-पीलीभीत रोड स्थित खमरिया पुल के पास लोकसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने स्वागत किया. इसके बाद सांसद का काफिला अपने लोकसभा क्षेत्र स्थित निवास स्थान शंकर सॉल्वेंट पहुंचा. यहां संवाद कार्यक्रम में सांसद ने कहा अगली लड़ाई रोजगार के मुद्दे पर लड़ना है.

न्याय की लड़ाई मरते दम तक लड़ते रहेंगे. इसके साथ ही राष्ट्रहित के मुद्दे उठाएंगे. सांसद वरुण गांधी ने कहा कि, राज्यों में डेढ़ करोड़ घोषित नौकरियां है, जो राज्य सरकार को भरनी हैं. यह युवाओं पर कोई दया नहीं, बल्कि सरकार की जिम्मेदारी है. 1.50 करोड़ लोगों को नौकरियां मिलने से, रोजगार के इतने पद ही सृजित होंगे. इसके साथ ही 10 करोड़ परिवारों में खुशहाली आएगी. उन्होंने कहा राजनीति पेशा बन जाए, तो अभिशाप है. सपने तो बड़े कर दिए गए, लेकिन साधन सीमित कर दिए गए.

चुनाव जीतने-हारने से राष्ट्र का भविष्य नहीं बनता

राजनीतिक प्रतिद्वंदिता भूलकर राष्ट्र का भविष्य कैसे बने. इस पर काम होना चाहिए. भाषण या चुनाव में जीतने-हारने से राष्ट्र का भविष्य नहीं बनता. असली लड़ाई आर्थिक समानता की है.

दो करोड़ लोगों को नहीं मिली नौकरी

सांसद ने कहा कि, दो करोड़ लोगों को नौकरियां मिलने की बात कही गई थी, लेकिन नहीं मिली. किसानों की आय दोगुनी करने की बात कही गई थी, लेकिन आय दोगुनी नहीं हुई. सांसद ने कहा कि हम नहीं सोचते कि आगे हमारा क्या होगा. हम देश के भविष्य के लिए चिंतित हैं. एक आम आदमी बैंक से छोटा मोटा कर्ज लेना चाहे, तो उसे अपना मकान बंधक रखना पड़ता है. मगर, जिन लोगों ने बैंक से करोड़ों रुपये ले लिए हैं. उनकी कोई संपत्ति नहीं रखी गई.

हिन्दू-मुस्लिम मुद्दा सिर्फ भटकाने को

सांसद ने कहा कि हिन्दू-मुस्लिम कोई मुद्दा नहीं है. यह असली मुद्दों से भटकाने की कोशिश है. एलआईसी ने एक भी नौकरी नहीं बढ़ाई है. उन्होंने निजीकरण का विरोध किया.

रिपोर्ट : मुहम्मद साजिद

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें