1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. liquor shops were not crowded in jharkhand swiggy is doing home delivery in ranchi news jharkhand

झारखंड में शराब की दुकानों पर नहीं हुई भीड़, SWIGGY कर रही है होम डिलीवरी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रांची में खुली शराब की दुकान
रांची में खुली शराब की दुकान
फोटो : प्रभात खबर

रांची : झारखंड में 20 मई से शराब की खुदरा बिक्री के लिए दुकानों को खोल दिया गया है. राज्यभर में शराब की खुदरा बिक्री के लिए काउंटर सेल और टोकन सिस्टम लागू किया गया है, वहीं 9 शहरों में शराब की होम डिलीवरी की व्यवस्था भी की गयी है. झारखंड में शराब की दुकानों पर कहीं भी भीड़ नहीं देखी गयी. जैसा कि दिल्ली में देखा गया था कि शराब की दुकानें खुलने के साथ ही लोगों की भीड़ टूट पड़ी थी और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह उल्लंघन हुआ था. ऐसा कोई भी नजारा झारखंड में देखने को नहीं मिला.

खाने के सामान के आर्डर के लिए मंच उपलब्ध कराने वाली स्विगी ने राजधानी रांची में अल्कोहल (शराब) घरों पर आपूर्ति करने का काम शुरू कर दिया है. कंपनी दूसरे राज्यों में ‘ऑनलाइन आर्डर' पूरा करने और उसकी ‘होम डिलीवरी' के लिए संबंधित राज्य सरकारों से भी बातचीत कर रही है. स्विगी ने एक बयान में कहा कि रांची में घरों तक शराब की आपूर्ति का काम शुरू हो गया है, राज्य के अन्य शहरों में एक सप्ताह के भीतर यह शुरू हो जायेगा.

उम्र और वैलिड आईडी अपलोड करने के बाद ही होगी होम डिलीवरी

बयान के अनुसार कंपनी दूसरे राज्यों में ‘ऑनलाइन आर्डर' पूरा करने और उसकी ‘होम डिलीवरी' के लिए संबंधित राज्य सरकारों से बातचीत कर रही है. स्विगी ने कानून के अनुसार अल्कोहल की सुरक्षित आपूर्ति सुनिश्चित करने को लेकर कदम उठाये हैं. इसमें अनिवार्य रूप से उम्र और उपयोगकर्ता के सत्यापन के उपाय शामिल हैं.

स्विगी के उपाध्यक्ष (उत्पाद) अनुज राठी ने कहा, ‘सुरक्षित और जवाबदेह तरीके से अल्कोहल की घरों तक आपूर्ति के जरिए हम खुदरा दुकानदारों के लिए अतिरिक्त कारोबार सृजित कर सकते हैं. साथ ही शराब की दुकानों पर भीड़-भाड़ की समस्या भी दूर होगा और समाजिक दूरी को बढ़ावा मिलेगा.'

उन्होंने कहा कि कंपनी के पास प्रौद्योगिकी और ढांचागत सुविधा है जिससे वह छोटे-छोटे गली-मोहल्ले भी सामानों की आपूर्ति कर सकती है. कंपनी किराना सामानों और कोविड-19 राहत उपायों का दायर बढ़ाने जैसी पहल के लिए स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर काम कर रही है. बयान के अनुसार स्विगी ने राज्य सरकारों के दिशा-निर्देश के अनुसार लाइसेंस और अन्य जरूरी दस्तावाजों का सत्यापन करने के बाद अधिकृत खुदरा दुकानदारों के साथ गठजोड़ किया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें