छात्रों को 40 प्रतिशत अंक लाने पर ही पास का ग्रेड मिलेगा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बीटेक के सभी सेमेस्टर में अब पूरक परीक्षा भी ली जायेगी

तृतीय सेमेस्टर में स्किल इनहांसमेंट की पढ़ाई होगी

प्रथम व द्वितीय सेमेस्टर में भाषा व पर्यावरण विज्ञान की पढ़ाई अनिवार्य

स्नातक अॉनर्स में 140 क्रेडिट व सामान्य में 120 क्रेडिट का कोर्स

रांची विवि एकेडमिक काउंसिल ने गुरुवार को च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम (सीबीसीएस) के तहत स्नातक स्तर के रेगुलेशन व कोर्स की स्वीकृति प्रदान कर दी है. वहीं बीटेक में अब पूरक परीक्षा का भी प्रावधान रखा गया है. कुलपति डॉ रमेश कुमार पांडेय की अध्यक्षता में अायोजित काउंसिल की बैठक में सीबीसीएस के तहत निर्णय लिया गया कि कोर पेपर (अॉनर्स) के साथ एक मात्र जेनेरिक विषय पढ़ना है, जो उसके कोर विषय से अलग होगा.

एबिलिटी इनहांसमेंट कोर्स के तहत प्रत्येक छात्र को क्रमश: प्रथम अौर द्वितीय सेमेस्टर में भाषा अौर पर्यावरण विज्ञान को पढ़ना अनिवार्य होगा. छात्रों के लिए तृतीय सेमेस्टर से स्किल इनहांसमेंट की पढ़ाई होगी, जो उनके कोर विषय से ही संबंधित होगा. सीबीसीएस सिस्टम में यूजीसी के मापदंड के अनुसार छात्रों को 40 प्रतिशत अंक लाने पर ही पास का ग्रेड दिया जायेगा. साथ ही स्नातक स्तर पर अॉनर्स के छात्रों को 140 क्रेडिट एवं सामान्य (जेनरल) के छात्रों को 120 क्रेडिट का कोर्स करना होगा.

बैठक में रिम्स के कॉलेज काउंसिल द्वारा एमबीबीएस एवं स्नातकोत्तर परीक्षा के संबंध में लिये गये निर्णयों को स्वीकृत किया गया. रांची विवि परीक्षा बोर्ड द्वारा 21 जनवरी 2017 एवं आगे से घोषित बीटेक परीक्षा के सभी सेमस्टर में पूरक परीक्षा आयोजित करने की स्वीकृति प्रदान कर दी गयी है.

इसके अलावा जनवरी 2017 एवं आगे से घोषित बीएससी नर्सिंग व पोस्ट बीएससी नर्सिंग परीक्षा आयोजित करने की स्वीकृति प्रदान कर दी गयी है. बैठक में संत जेवियर्स कॉलेज अौर रांची वीमेंस कॉलेज एकेडमिक काउंसिल में लिये गये सभी निर्णयों की स्वीकृति प्रदान कर दी गयी है. रांची विवि व इंडियन एसोसिएशन अॉफ अोमेंस स्टडीज के बीच हुए एमअोयू की घटनोत्तर स्वीकृति प्रदान की गयी. वर्तमान में यह सेंटर स्नातकोत्तर अर्थशास्त्र विभाग में चल रहा है. बैठक में डोरंडा कॉलेज में एमआरएम कोर्स आरंभ करने की घटनोत्तर स्वीकृति प्रदान की गयी. इसके अलावा डोरंडा कॉलेज, केसीबी कॉलेज बेड़ो, केअो कॉलेज गुमला में स्नातकोत्तर की पढ़ाई को घटनोत्तर स्वीकृित दी गयी.

संबंधित डीन व विभागाध्यक्ष को समय-समय पर गुणवत्तायुक्त पढ़ाई के लिए निरीक्षण करने के लिए कहा गया, साथ ही आवश्यक सलाह महाविद्यालय व विवि को देंगे. समाजशास्त्र व भूगोल के सीबीसीएस पैटर्न पर प्रस्ताव को स्वीकृत करते हुए कोर्स में आवश्यक संशोधन की स्वीकृति दी गयी. बैठक में प्रतिकुलपति प्रो कामिनी कुमार, उच्च शिक्षा निदेशक अबू इमरान, डॉ एके झा, डिप्टी रजिस्ट्रार डॉ प्रीतम कुमार, डीन डॉ आइके चौधरी, डॉ महेंद्र प्रसाद, डॉ जीके श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें