पुलिस ने तीन एकड़ भूमि में लगी अफीम की खेती को किया नष्ट

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

भूमि मालिकों की पहचान करने में जुटी है पुलिस

पुलिस की कार्रवाई के बाद गांव के अधिकतर लोग घर से भाग गये

गोला/रजरप्पा : रामगढ़ पुलिस ने गोला प्रखंड अंतर्गत बरलंगा थाना क्षेत्र के औंराडीह गांव में शुक्रवार को लगभग तीन एकड़ भूमि में लगे अफीम की खेती को नष्ट किया. इसकी कीमत लगभग 25 से 30 लाख बतायी गयी है. बताया जाता है कि पुलिस जब गांव पहुंची, तो कई लोग भाग गये. पुलिस यहां लगाये गये अफीम की खेती के स्थल तक पहुंची, तो यहां यहां लहलहाती अफीम देख कर हैरान रह गयी.

मिली जानकारी के अनुसार, अफीम की खेती की गुप्त सूचना मिलने के बाद रामगढ़ एसपी प्रभात कुमार के निर्देश पर डीएसपी प्रकाश सोय के नेतृत्व में कार्रवाई की गयी. पुलिस सुबह खेत में पहुंच कर अफीम के पौधों को लाठी, डंडे से मार कर नष्ट कर दिया. बताया जाता है कि जिस जगह अफीम की खेती हो रही थी, वह चारों ओर से जंगल से घिरा हुआ है. इससे तस्कर इस क्षेत्र को सुरक्षित मान रहे थे. पुलिस की कार्रवाई के बाद कारोबारियों में हड़कंप है. इस संबंध में बरलंगा थाना में मामला दर्ज किया गया है.

टीम में गोला थाना प्रभारी धनंजय प्रसाद, रजरप्पा थाना प्रभारी विनोद मुर्मू, बरलंगा थाना प्रभारी संजय कुमार नायक, एसआइ रमेश मुर्मू, फॉरेस्टर सुल्तान अंसारी, प्रशिक्षु एसआइ अमर शुक्ला, सुभाषकांत अकेला, जयप्रकाश शर्मा, मनदीप, अशोक गुप्ता, सफीउल्लाह अंसारी शामिल थे.

10 से 15 दिन में तैयार हो जाता अफीम का पौधा : बताया जाता है कि अफीम का पौधा 10 से 15 दिन में पूर्ण रूप से तैयार हो जाता. इससे पहले ही पुलिस को इसकी जानकारी मिल गयी. पुलिस के अनुसार, यहां बाहर के व्यक्तियों द्वारा गांव वालों को पैसे का प्रलोभन देकर उनकी भूमि को लीज पर लिया गया था. पौधा की रखवाली के लिए गांव के कुछ लोगों को मजदूरी पर रखा गया था. वह लोग दिन -रात खेती की रखवाली करते थे. सिंचाई भी करते थे. हालांकि, पुलिस भूमि मालिकों की पहचान करने में जुट गयी है. पुलिस की इस कार्रवाई के बाद गांव के अधिकतर लोग घर से भाग गये हैं. इसके कारण गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें