जीजा ने साली को दिल्ली में बेचा, प्रताड़ना से तंग आकर लड़की पहुंची दिल्ली पुलिस के पास

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

दुर्जय पासवान, गुमला

गुमला जिले के बिशुनपुर प्रखंड की आदिवासी नाबालिक लड़की को रिश्ते में जीजा लगने वाले मंगलू मुंडा ने दिल्ली में बेच दिया था. जिस घर में लड़की को रखा गया था. वहां प्रताड़ित होने के बाद लड़की भागकर दिल्ली पुलिस के पास पहुंच गयी. दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को लड़की को गुमला लाकर सीडब्ल्यूसी को सौंप दिया. लड़की से बयान लेने के बाद सीडब्ल्यूसी ने उसे अपने संरक्षण में बालगृह के छात्रावास में रखा है.

लड़की ने बताया कि उसके माता-पिता गरीब मजदूर हैं. हर रोज कमाते हैं तो खाते हैं. वे लोग पांच भाई बहन हैं. दो छोटी बहन व दो छोटा भाई है. घर की स्थिति ठीक नहीं है. चार भाई बहनों को भी पढ़ाना है. घर की रोजी रोटी भी देखना है. इसलिए घर की बड़ी बहन होने के कारण वह गांव के ही मंगलू मुंडा जिसे वह जीजाजी बोलती के झांसे में आकर दिल्‍ली आ गयी.

मंगलू उसे गरीबी दूर करने के लिए दिल्ली में पैसा कमाने का प्रलोभन देकर ले गया था. लड़की ने बताया कि वर्ष 2019 के नवंबर माह में जीजा मंगलू मुंडा उसे दिल्ली ले गया. दिल्ली के एक ऑफिस में उसे छोड़कर उसका जीजा वापस गुमला लौट गया. इसके एवज में उसके जीजा ने कुछ पैसे भी लिये. परंतु कितना पैसा लिया, इसकी जानकारी लड़की को नहीं है.

चार दिनों तक लड़की को ऑफिस के ही एक कमरे में रखा गया. इसके बाद ऑफिस के एक व्यक्ति ने उसे दिल्ली के एक घर में ले जाकर छोड़ दिया और बोला कि आज से यहीं रहना है. लड़की ने कहा कि जिस घर में उसे काम पर रखा गया था. उससे वहां कपड़ा धुलवाने, बर्तन साफ कराने, पोछा कराने के अलावा घर के अन्य काम कराये जाते थे. परंतु घर की मालकिन हर काम पर उसे डांटती थी. मारती भी थी.

लगातार प्रताड़ित होने से वह परेशान हो गयी. दिन के 10 बजे जब घर के सदस्य ऑफिस के काम से घर से निकले तो लड़की वहां से भाग गयी. उसके पास पैसा नहीं था. वह पैदल चलते ही काफी दूर निकल गयी. रास्ते में वह रूक गयी. तभी एक व्यक्ति उसके पास आया और उसकी परेशानी का कारण पूछा. उस व्यक्ति ने दिल्ली पुलिस को इसकी सूचना दी. इसके बाद पुलिस उस लड़की को अपने साथ ले गयी.

दिल्ली के बालगृह में कुछ दिन रखने के बाद पुलिस उक्त लड़की को शुक्रवार को गुमला लेकर आयी और सीडब्ल्यूसी को सौंप दिया. लड़की ने कहा कि अब वह अपने ही गांव में रहकर कुछ काम कर लेगी. परंतु दिल्ली नहीं जायेगी.

सीडब्ल्यूसी, गुमला के सदस्‍य कृपा खेस ने बताया कि दिल्ली पुलिस के सहयोग से लड़की को गुमला लाया गया. उसका बयान लिया गया है. जीजा द्वारा दिल्ली ले जाने की जानकारी दी है. अगर परिवार के सदस्य तैयार होंगे तो उसके जीजा पर केस दर्ज होगा. फिलहाल लड़की को सीडब्ल्यूसी के संरक्षण में रखा जायेगा. उसके परिवार को सूचना देकर गुमला बुलाया जायेगा. इसके बाद लड़की को उसके परिजनों को सौंपा जायेगा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें