25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

गुप्ताधाम में 1.50 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने किया जलाभिषेक

ऐतिहासिक गुप्ताधाम में चैत्र महाशिवरात्रि को लेकर तीन दिवसीय मेले का आयोजन हुआ. इसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे और बाबा गुप्तेश्वरनाथ पर जलाभिषेक किया. शनिवार की शाम से ही भक्तों की कतार गुफा में जलाभिषेक करने के लिए लग गयी थी.

चेनारी. ऐतिहासिक गुप्ताधाम में चैत्र महाशिवरात्रि को लेकर तीन दिवसीय मेले का आयोजन हुआ. इसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे और बाबा गुप्तेश्वरनाथ पर जलाभिषेक किया. शनिवार की शाम से ही भक्तों की कतार गुफा में जलाभिषेक करने के लिए लग गयी थी. रात करीब 12 बजे के बाद से जलाभिषेक शुरू हो गया, जो रविवार देर शाम तक चलता रहा. इस दौरान करीब 1.50 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा गुप्तेश्वरनाथ को जलाभिषेक किया. भगवा परिधान में बक्सर व बनारस से कांवर में गंगाजल लेकर एक दिन पूर्व से ही कांवरियों का जत्था गुप्ताधाम पहुंचने लगा था. कैमूर पहाड़ी के पनियारी घाट, सिरसर चुआं घाट, भीम चौरा, घाट, उगहनी घाट के अलावा दुर्गावती जलाशय के रास्ते सड़क मार्ग से जाने वाले श्रद्धालुओं द्वारा बाबा भोलेनाथ के जयकार से कैमूर की वादी गुंजायमान हो उठी. गुप्ताधाम पहुंचे उत्तर प्रदेश गाजीपुर निवासी अजय कुमार, राहुल जायसवाल ने बताया कि शुक्रवार की सुबह में ही जल लेकर बक्सर से चले थे. शनिवार की शाम उगहनी घाट होकर यहां पहुंचे. रास्ते में ग्रामीणों का भरपूर सहयोग मिला.

ऑक्सीजन की कमी से श्रद्धालु हुए बेहोश

बताया जाता है कि गुफा में ऑक्सीजन सिलिंडर की कमी हो गयी थी, जिसके कारण गुफा में गैस बन गयी और इससे श्रद्धालुओं को जलाभिषेक में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. कई श्रद्धालु बेहोशी की हालत में बाहर निकाले गये.

पानी की है समस्या

श्रद्धालुओं ने बताया कि गुप्ताधाम पर पानी की समस्या बनी हुई है. अधिकतर चापाकल खराब हो गये हैं. दुकान से बोतलबंद पानी खरीद प्यास बुझानी पड़ रही है. दुर्गावती प्रखंड के सौवठा गांव निवासी गुडू जायसवाल ने बताया कि यहां भक्तों की हो रही अपार भीड़ को देखते हुए अगर सरकार पानी के साथ साथ रास्ते की सुगम व्यवस्था कर देती, तो यह धाम पर्यटन मानचित्र पर एक अलग पहचान बना सकता है.

नहीं पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम

गुप्ताधाम कमेटी के सदस्य गोपाल सिंह खरवार ने बताया कि अपार भीड़ होने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग की टीम यहां नहीं पहुंची है, जिसके कारण भक्तों को काफी परेशानी हो रही है. हल्के बुखार से परेशान श्रद्धालु हो या जख्मी पांव के साथ पहुंचे श्रद्धालु, उन्हें सही उपचार नहीं मिल पा रहा है. गुप्ताधाम विकास कमेटी के सदस्य तेजपति खरवार ने बताया कि इस बार वन विभाग के द्वारा सड़क से आने-जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. इससे श्रद्धालु उगहनी घाट पनारी घाट सहित अन्य पहाड़ी इलाकों से भारी संख्या में बाबा गुप्तेश्वर नाथ के पवित्र शिवलिंग पर जलाभिषेक करने के लिए आ रहे हैं. जंगल में कंटीली झाड़ियों से श्रद्धालुओं के पैर जख्मी हो जा रहे हैं. रात्रि में किसी भी भक्त को परेशानी न हो, इसको देखते हुए उगहनी घाट पर लाइट सेवा समिति की सदस्यों के द्वारा लाइट लगायी गयी है. लाइट सेवा समिति के सदस्य रवींद्र पासवान और सचिव रंजन पासवान ने बताया कि कमेटी के सदस्यों के द्वारा लाइट की व्यवस्था की जाती है. वहीं, कसी भी श्रद्धालु के परिवार मेला में जाने के दौरान या आने के दौरान रास्ता भटक जाता है, तो उन श्रद्धालु भक्तों को कमेटी के द्वारा पैसा भी दिया जाता है.

दर्शन करने में भक्तों का सहयोग कर रही कमेटी

गुप्ताधाम कमेटी के सदस्य गोपाल सिंह खरवार ने बताया कि कमेटी की ओर से श्रद्धालुओं को हर संभव सुविधा देने की कोशिश की जा रही है. धाम पर दूसरे दिन भारी भीड़ उमड़ी है, जिसको देखते हुए कमेटी के सदस्य भक्तों की सेवा और दर्शन करने में सहयोग कर रहे हैं. करीब 1.50 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने शनिवार रात्रि से रविवार दोपहर तक जलाभिषेक किया है. अभी जलाभिषेक हो रहा है, तो और 50 हजार से अधिक भक्तजन बाबा पर जलाभिषेक करेंगे. इस बार गाजीपुर, जमानिया, बक्सर भोजपुर, चंदौली जनपदों सहित झारखंड ,छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश ,बंगाल इत्यादि राज्यों से श्रद्धालु आए हैं और आ रहे हैं.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें