इस बार कोई चूक नहीं, जहां जायेंगे वहां कड़ी सुरक्षा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

सात दिन में दूसरी बार नरेंद्र मोदी बिहार आए. इस बार नजारा बदला हुआ है. सुरक्षा में वे अपनी सेना तो लाए ही है, प्रदेश सरकार एवं केंद्र ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी है. मोदी की पूरी यात्र की मिनट दर मिनट सुरक्षा परखी जा रही है. इस पर एक रिपोर्ट

गुजरात के मुख्यमंत्री के पटना आगमन से चार घंटे पहले से ही राजकीय अतिथिशाला से लेकर पटना एयरपोर्ट तक की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी थी. अतिथिशाला के अंदर तमाम जगहों पर सीसीटीवी कैमरा लगा दिये गये थे और बड़े-बड़े टॉर्च के साथ पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गयी थी.

इस टॉर्च से पांच सौ मीटर तक के व्यक्ति को साफ-साफ देखा जा सकता है. एयरपोर्ट से श्रीकृष्ण सिंह मार्ग होते हुए देश रत्न मार्ग आने वाले रास्तों के चौक-चौराहों पर पुलिस की टीम खड़ी है. एक-एक बांस की दूरी पर एक-एक लाठी धारी पुलिस की तैनाती है. एयरपोर्ट के मुख्य गेट के दाहिने ओर वाले गेट को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया था. गुजरात पुलिस के अधिकारी व हथियार बंद जवान से लेकर बिहार पुलिस के अधिकारी व जवान वहां उपस्थित थे.

राजकीय अतिथिशाला: गेट पर मेटल डिटेक्टर लगे हैं. दो दर्जन से अधिक लाठीधारी व हथियारबंद सुरक्षाकर्मी खड़े हैं. पुलिस पदाधिकारी सुरक्षा के आवश्यक निर्देश दे रहे हैं. सात बजे अतिथिशाला परिसर में सीसीटीवी कैमरा लगाने के लिए कुछ एक्सपर्ट गेट पर पहुंचते हैं. सचिवालय थाना की पुलिस मुश्तैद है. सात बज कर बीस मिनट पर गुजरात पुलिस की टीम वहां पहुंचती है और अंदर से बाहर तक सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेती है.


पटना एयरपोर्ट: सात बजे के बाद पुलिसकर्मी वहां पहुंचने लगते हैं. आठ बजते-बजते काफी संख्या में पुलिसकर्मी एयरपोर्ट के पास पहुंच जाते हैं. आठ बज कर बीस मिनट पर गुजरात पुलिस के हथियारबंद कमांडो एयरपोर्ट पर पहुंचते हैं और धीरे-धीरे गेट की घेराबंदी शुरू कर देते हैं. आठ बज कर तीस मिनट पर लगभग सारे पुलिसकर्मी एयरपोर्ट पहुंच जाते हैं और उन्हें एयरपोर्ट प्रवेश करने वाले गेट से लेकर अंदर एयरपोर्ट पर कुछ-कुछ दूरी पर तैनात कर दिया जाता है. दानापुर एएसपी एयरपोर्ट गेट पर पुलिसकर्मियों को आवश्यक निर्देश देते हैं.

जहां जायेंगे वहां कड़ी सुरक्षा
गौरीचक: ब्लास्ट में मरे गौरीचक थाना के अजीमचक गांव निवासी राज नारायण सिंह के पीड़ित परिजनों से मिलने उनके आवास पर शनिवार को गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचेगे. गांव में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है. एसएसपी मनु महाराज, डीएम एन सरवण व सिटी एसपी जयंतकात सहित अन्य पदाधिकारियों ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया. पुनपुन रक्षा बांध के समीप ही हैलीपैड का निर्माण कराया गया ह.गौरीचक थाना के साथ अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती हुई है. आम लोगों को यहां तक पहंचने की अनुमति नहीं है. पुलिस बल की तैनाती अजीमचक मोड़ से लेकर मृतक राज नारायण के घर गांव तक हुई है. सुरक्षा व्यवस्था को लेकर अधिकारी कुछ भी बताने से इनकार करते हैं.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एंटी साबो चेकिंग सिस्टम, बम निरोधक दस्ता, डीप सर्च मेटल डिक्टडर, हैंड मेटल डिक्टडर को पूरे सुरक्षा व्यवस्था में शामिल गया है, जबकि खुफिया विभाग की एक टीम गांव की गतिविधियों पर नजर रख रही है.सुरक्षा व्यवस्था में काफी संख्या में एसपी व डीएसपी रैंक के अधिकारियों का लगाया गया है, जिसमें गुजरात पुलिस के अधिकारी भी शामिल हैं. सूत्रों के अनुसार शुक्रवार को पुलिस की विशेष टीम ने मृतक राज नारायण सिंह के घर जाकर सुरक्षा का जायजा लिया है. परिवार के कौन-कौन लोग से नरेंद्र मोदी की मुलाकात होगी. इसी संबंध में अधिकारी कुछ भी बता रहे हैं. हालांकि, पत्नी शारदा देवी, पुत्र विनोद कुमार व मृतक की वृद्ध मां रामपति देवी से मुलाकात होगी. समीप गांव के निवासी व भाजपा नेता हरेंद्र सिंह ने बताया कि गांव के लोगों में इस बात को लेकर गर्व है देश के प्रधानमंत्री प्रत्याशी नरेंद मोदी उनके गांव आ रहे हैं. गांव वासियों का कहना है कि मौका मिला तब गांव की समस्याओं से भी उन्हें अवगत कराया जायेगा. सुरक्षा को लेकर कई स्थानों पर बैरिकेटिंग हुई है.

फतुहा प्रतिनिधि के अनुसार शुक्रवार की शाम हेलीपैड निरीक्षण के लिए सीनियर एडीएम जितेंद्र सिंह, सदर डीएसपी मोहम्मद तौफीक आलम, संपतचक के सीओ आलोक विद्या व बीडीओ राजेंद्र कुमार मौजूद थे. वहीं, हेलीपैड से लेकर शहीद राज नारायण के घर तक मिलीटरी फोर्स की तैनाती की गयी है.

निसिझा: नरेंद्र मोदी शनिवार को कैमूर जिले के निसिझा गांव भी जायेंगे. वह बम धमाकों में मारे गये विकास के परिजनों से मिलेंगे. उनके आगमन को लेकर चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात है. गांव से लगभग पांच किलोमीटर दूरी पर स्थित कैमूर पहाड़ी पर सीआरपीएफ व एसटीएफ के जवानों ने मोरचा संभाल रखा है. सबार थाने से लेकर गांव तक हर जगह बिहार पुलिस के जवान भी निगरानी कर रहे हैं. हेलीपैड से मृतक विकास के घर तक सड़क से सभी अवरोधक हटा दिये गये हैं. दो बुलेट प्रूफ कार मंगायी गयी है.

एसपी रत्नमणि संजीव ने बताया कि श्री मोदी छह सुरक्षा घेरों में रहेंगे. हेलीकॉप्टर से उतरने के बाद एनएसजी दो सुरक्षा घेरे बनायेंगे. गुजरात पुलिस के लोग भी तैनात होंगे. इसके बाद बिहार पुलिस, फिर सीआरपीएफ व एसटीएफ. सुरक्षा के दृष्टिकोण से हैंड मेटल डिटेक्टर, डोर फेम मेटल डिटेक्टर, डिप सर्च मेटल डिटेक्टर सहित डॉग स्कवाड भी लगाये गये हैं.

बरी धनेश: नरेंद्र मोदी ब्लास्ट में मारे गये बरी धनेश गांव के मुन्ना श्रीवास्तव के परिजनों से मिलने शनिवार की सुबह बरी धनेश गांव आयेंगे. कार्यक्रम को लेकर गुजरात के डीआइजी, डीएसपी, इंस्पेक्टर, आइवी सहित आठ आलाधिकारी पहुंच गये हैं. साथ ही आगमन को लेकर एनएसजी व एनआइ के जवानों को बरी धनेश गांव के चप्पे- चप्पे पर तैनात किया गया है. डीएम व एसपी ने बरी धनेश गांव पहुंच कर जायजा लिया. हैलीपैड व मुन्ना के घर आदि जगहों का जायजा लिया. प्रशासन ने आसपास के घरों की छत को अपने कब्जे में ले लिया है.

साथ ही मौके पर उपस्थित हथुआ के एसडीओ कृष्ण मोहन प्रसाद, डीएसपी कमलाकांत प्रसाद को आवश्यक दिशा- निर्देश दिया .मौके पर हथुआ के बीडीओ रामेश्वर राम, सीओ रमेच चंद्र सिन्हा व थानाध्यक्ष अजय कुमार सहित अधिकारी तैनात थे. बरी धनेश गांव में नरेंद्र मोदी के आगमन पर प्रशासन ने मुन्ना श्रीवास्तव के परिजनों से मिलनेवालों के नाम की सूची मांगी.

साथ ही लिस्ट में शामिल लोगों को ही मुन्ना के घर में नरेंद्र मोदी के आगमन के समय रहने की अनुमति दी गयी है. दरअसल मृतक मुन्ना का घर सीवान व गोपालगंज के सीमावर्ती क्षेत्र में होने के कारण मुन्ना का घर गोपालगंज में है, जबकि उसके घर के पीछे मात्र सौ मीटर की दूरी पर बन रहा हैलीपैड सीवान जिले में पड़ रहा है. इसे लेकर सीवान के डीएम व एसपी के नेतृत्व में नौतन सीओ व बीडीओ हैलीपैड अपनी निगरानी में बनवा रहे हैं. इसके अलावा गुजरात प्रशासन ने नमो की सुरक्षा को लेकर आस -पास के घरों की छत को अपने कब्जे में ले लिया है.

सिमराही: नरेंद्र मोदी सिमराही भी जायेंगे. इस बाबत प्रशासनिक तैयारी लगभग पूरी कर ली गयी है. शुक्रवार को जोनल आइजी जितेंद्र सिंह गंगवार के नेतृत्व में पुलिस टीम ने हेलीपैड स्थल लखीचंद साहू हाइस्कूल से लेकर स्व रजक के आवास तक काफिला बना कर मॉक ड्रील किया. स्व रजक के घर को किले में तब्दील करने की प्रक्रिया शुक्रवार शाम से ही प्रारंभ कर दी गयी है. मिली जानकारी के अनुसार, श्री मोदी को एडवांस सिक्यूरिटी लाइजनिंग (एसएसएल) की सुविधा दी जा रही है, जो एसपीजी सुरक्षा के समतुल्य माना जाता है.

सिमराही दौरे के दौरान श्री मोदी त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में रहेंगे. पहले स्तर में एनएसजी कमांडो, दूसरे स्तर पर गुजरात पुलिस व तीसरे स्तर पर बिहार पुलिस के अधिकारी व जवान तैनात रहेंगे. पूरी सुरक्षा-व्यवस्था की मॉनीटरिंग आइजी जेएस गंगवार स्वयं करेंगे. सूत्रों के अनुसार, शुक्रवार को दोपहर तक गुजरात के एक आइपीएस अधिकारी व अन्य कनीय अधिकारी सिमराही पहुंच चुके थे.

अहीयापुर मुसहरी: नरेंद्र मोदी कड़ी सुरक्षा के बीच सरमेरा प्रखंड के अहियापुर मुसहरी गांव जायेंगे. जिला प्रशासन ने हाइअलर्ट जारी किया है. इस तरह की सुरक्षा व्यवस्था की गयी है कि कोई भी उनके सुरक्षा घेरे के अंदर प्रवेश नहीं कर सके. हेलीपैड से लेकर मृत राजेश कुमार के घर तक बैरिकेडिंग की गयी है. नालंदा पुलिस सहित सूबे के अन्य जिलों से आये करीब 1000 पुलिस कर्मी सुरक्षा के लिए तैनात किये गये हैं. मृतक के घर से लेकर हेलीपैड के बीच तथा घर के अंदर बिना परिचय पत्र व प्राधिकार पत्र के किसी को भी प्रवेश की इजाजत नहीं होगी.देने का निर्देश दिया गया है. इसके अलावा उनके कार्यक्रम में चाहे कोई भी हो बिना सुरक्षा जांच से गुजरे शामिल होने की इजाजत नहीं दी जायेगी. हेलीपैड मृत राजेश के घर आसपास के क्षेत्रों को तीन दिन पूर्व से ही पुलिस द्वारा छानबीन की जा रही है. डीएम पलका साहनी, एसपी सिद्धार्थ मोहन जैन सहित जिले के आलाधिकारी लगातार सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखे हुए हैं. शनिवार को भी देर शाम तक डीएम एसपी ने कार्यक्रम स्थल का दौरा कर सुरक्षा तैयारियों का जायजा लिया तथा अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया.

बरियारपुर: विस्फोट में मारे गये जिले के खोदाबंदपुर प्रखंड के बरियारपुर निवासी बिंदेश्वरी चौधरी के घर शनिवार को गुजरात के मुख्यमंत्री पहुंचेंगे. सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है. प्रखंड क्षेत्र को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है. जगह-जगह पुलिस के जवान तैनात हो चुके हैं और वे हर गतिविधि पर कड़ी नजर रख रहे हैं. इसकी मॉनीटरिंग के लिए वरीय पुलिस पदाधिकारियों को लगाया गया है. जिले की सीमाओं को सील कर दिया गया है. शुक्रवार को गुजरात पुलिस ने खोदाबंदपुर पहुंच कर जिला पुलिस के साथ मंत्रणा की.

इस टीम में गुजरात पुलिस के कई आइपीएस पदाधिकारी शामिल थे
शुक्रवार को मुंगेर प्रमंडल के आयुक्त मिनहाज आलम, डीआइजी सुधांशु कुमार, डीएम मनोज कुमार व एसपी हरप्रीत कौर ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया. उन्होंने हेलीपैड, शहीद के घर जानेवाले रास्ते एवं प्रखंड कार्यालय के आसपास की सड़कों का भी निरीक्षण किया और आपस में घंटों मंत्रणा की. इसके बाद एसपी कार्यालय में भी डीआइजी ने पदाधिकारियों के साथ सुरक्षा को लेकर समीक्षा बैठक की. नमो के कार्यक्रम को लेकर गुजरात पुलिस भी काफी सतर्कता बरते हुए है. शुक्रवार को गुजरात पुलिस ने सीधे खोदाबंदपुर पहुंच कर जिले के पुलिस पदाधिकारियों के साथ मंत्रणा की. इस टीम में गुजरात पुलिस के कई आइपीएस पदाधिकारी शामिल थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें