बिहार : खगड़िया में दलितों के घर फूंकने के मामले ने तूल पकड़ा, पीड़ितों से मिलने पहुंचे पप्पू यादव

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

खगड़िया : बिहार के खगड़िया जिले में दीपावली के दिन दबंगों द्वारा दलितों के 50 से अधिक घरों में आग लगाकर जला देने का मामला अब तूल पकड़ने लगा है. जिले के छमासिया गांव में दलित परिवारों के घरों को दबंगों ने जला दिया और घरों को आग के हवाले कर दिया. इस घटना के बाद कई परिवार बेघर हो गए. पीड़ित लोग अपने परिवार के साथ सड़क पर आ गए. घटना के बाद से पीड़ित परिवार का बुरा हाल है. ये परिवार खाने के लिए मोहताज हो गये हैं. जिला प्रशासन को खबर देने के बाद पीड़ित परिवारों के बीच कुछ राहत सामग्री एवं बरतन वितरित किये जा रहे हैं. घटना से पीड़ित परिवार काफी डरे हुए हैं. फिलहाल 50 से ज्यादा परिवार सड़क पर रहने को विवश हैं. बहरहाल, इन परिवारों के बीच सन्नाटा पसरा है. खगड़िया एसपी मीनू कुमारी ने कहा कि जिन लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया उनको चिह्नित कर प्राथमिकी दर्ज की जा रही है. साथ ही कड़ी कार्रवाई का भरोसा भी पीड़ित परिवारों को दिया गया है.

वहीं दूसरी ओर जन अधिकार मोर्चा के प्रमुख और सांसद पप्पू यादव ने कहा है कि दलितों को न्याय नहीं मिला, तो वह नवंबर में खगड़िया आकर सभी दबंगों और दलितों को एकजुट कर आंदोलन करेंगे. उन्होंने कहा कि दलितों पर अत्याचार करने वाले दबंग और माफिया राजनीतिक दल के नेताओं की नाजायज औलाद हैं. उन्होंने कहा कि जब सुरक्षा की मांग की गयी और थाना में सनहा दर्ज करने की बात हुई, तो सनहा दर्ज क्यों नहीं हुआ. छमासिया के लोगों ने सनहा देने की कोशिश की. आप दलितों और कमजोरों की बस्ती को टारगेट क्यों करते हैं. इन दबंगों को किसका संरक्षण प्राप्त है. किसी को एक का संरक्षण प्राप्त है.

बताया जा रहा है कि घटना बुधवार की है, जब पूरा देश दीपावली मनाने में व्यस्त था. घटना स्थल खगड़िया सहरसा के सीमा क्षेत्र है. राज्य में महादलित श्रणी में आने वाले इस समुदाय के कुछ लोगों के साथ दबंगों ने मारपीट भी की थी. इस आग में कई मवेशी भी जल गए. स्थानीय सरपंच ने मुसहर समुदाय के घरों को जलाने की खबरों की पुष्टि की थी. गांव में प्रत्यक्षदर्शियों ने मीडिया को यह भी बताया कि 50 की संख्या में दबंग गोली चलाते हुए आये और एक तरफ से घरों में आग लगाना शुरू कर दिया था. खगड़िया के एसडीओ (सब डिविजनल ऑफिसर) अमित कुमार ने घटना के दिन कहा कि आपसी रंजिश के चलते घरों को जलाने की सूचना उन्हें मिली थी, एसडीओ ने बताया कि मौके पर छमसिया के ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर और सीओ पशु चिकित्सक को भेज दिया गया था.

महादलित समुदाय के लोगों ने बताया कि अपराधियों उन्हें धमकी दी थी कि वे लोग उनके घरों में आग लगा देंगे और उन्होंने सचमुच ऐसा कर दिया. छमसिया दियारा में महादलितों ने बताया कि उन्हें मुन्ना यादव का है भय था. उन्होंने कहा कि पूर्व में भी महादलित और मुन्ना यादव के बीच झड़प हो चुकी है. इधर एसपी मीनू कुमारी ने बताया कि अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छपेमारी की जा रही है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें