कर संग्रहकर्ताओं की कमी से टैक्स वसूली हो रही बाधित

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बक्सर : नगर पर्षद में पूरा नहीं हो पा रहा है. हाल यह है कि नये वित्तीय वर्ष में महज तीन माह ही बचे हुए हैं. लेकिन, अब तक केवल 54.44 प्रतिशत ही टैक्स की वसूली हो पायी है. सरकार ने नगर पर्षद को कुल 1 करोड़ 26 लाख रुपये राजस्व वसूली का लक्ष्य दिया है. लेकिन, नवंबर तक 68 लाख 88 हजार रुपये राजस्व की वसूली हो पायी है. यानी शेष तीन माह में सरकार को 45.56 प्रतिशत राजस्व की वसूली करना है.

नगर पर्षद हर माह का लक्ष्य भी तय करता है. नवंबर माह का लक्ष्य 10 लाख 57 हजार रुपये था, पर केवल 3 लाख 21 हजार रुपये ही राजस्व की वसूली हो पायी है. इस राजस्व की वसूली के लिए नगर पर्षद में केवल एक टैक्स दारोगा के भरोसे ही काम चल रहा है. जबकि यहां पांच कर संग्रहकर्ताओं का पद वर्षों से खाली है. राजस्व वसूली का यह हाल केवल इस वित्तीय वर्ष का ही नहीं है. बल्कि लगातार कई वित्तीय वर्षों का हाल भी कमोबेश यहीं रहा है.
नगर में केवल 9 हजार 526 हैं होल्डिंग टैक्स: नगर में कुल 34 वार्ड हैं. इनमें लगभग कुल बीस हजार के आसपास घर होंगे, जिनमें से अधिकांश नये कॉलोनी के रूप में पिछले कई वर्षों में बसे हुए हैं. लेकिन, होल्डिंग टैक्स देने वाले घरों की संख्या महज 9 हजार 526 घर ही हैं.
नगर पर्षद इस संबंध में कभी जांच नहीं करता है. ऐसे में नगर परिषद की लापरवाही के कारण शहर में धड़ल्ले से बिना नक्शा पास कराये ही मकान बन रहे हैं. जिसके कारण ये मकान होल्डिंग टैक्स देने के दायरे से छूट जाते हैं और सरकार को राजस्व का चूना लग रहा है.
एक टैक्स दारोगा के भरोसे एक करोड़ 26 लाख रुपये राजस्व वसूली का लक्ष्य
तीन माह में कैसे होगी 45.56 प्रतिशत राजस्व वसूली
-नगर पर्षद में कर संग्रहकर्ता का पद है खाली
कहते हैं पदाधिकारी
टैक्स वसूली के लिए कैंप लगाया जायेगा. माइकिंग कर प्रचार प्रसार कराया जायेगा. इसके बाद भी यदि टैक्स देने में लोग लापरवाह हुए तो उनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जायेगी.
सुजीत कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी, बक्सर
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें