प्रवर्तन निदेशालय से पुलिस लेगी जांच में मदद

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

भागलपुर: बबरगंज थाना क्षेत्र के अलीगंज-गंगटी में लाखों रुपये मूल्य के गांजा बरामदगी मामले की जांच में भागलपुर पुलिस प्रवर्तन निदेशालय (इडी) की मदद लेगी.

जल्द ही निदेशालय को एसएसपी पत्र लिखेंगे. गांजा तस्करों की चल-अचल संपत्ति का इडी आकलन करेगा तथा जब्त करने की कार्रवाई करेगा. गांजा तस्करी से तस्कर नंदलाल साह, महेश साह व लखन साह ने अकूत संपत्ति अजिर्त की है. पुलिस ने इन तीनों के यहां से कुल 511 किलो गांजा (कीमत करीब 30 लाख), सोने-चांदी के कई कीमती आभूषण, चांदी का बिस्कुट, कई बैंक ख्राते, एफडी, बांड पेपर, जमीन के कागजात आदि बरामद की है. अबतक पुलिस बरामद सारी संपत्ति का सही-सही आकलन भी नहीं कर पायी है, इसलिए प्रवर्तन निदेशालय से सहयोग लिया जा रहा है. तस्करों के यहां से भारी मात्र में नेपाली व भूटानी मुद्रा भी बरामद हुई है. तस्कर व उनके करीबी रिश्तेदारों की सारी चल-अचल संपत्ति इडी की जांच के दायरे में आयेगी. हालांकि अबतक इस मामले में तीन तस्करों की गिरफ्तारी नहीं हो पायी है.

बलिया के तस्कर को जेल
गांजा को भागलपुर से दूसरे जिलों में खपाने के लिए ट्रांसपोर्ट के ट्रक का उपयोग किया जाता है. पुलिस ने ट्रक मालिक उमाशंकर यादव (ग्राम-नगरा, थाना-खेमपुर, जिला-बलिय उत्तरप्रदेश) को गिरफ्तार जेल भेज दिया. उमाशंकर की सारी ट्रकें नार्थ ईस्ट यानी दीमापुर व नागालैंड में चलती है. इसी रास्ते से ट्रकों के जरिये गांजे को नेपाल व भूटान पहुंचाया जाता है. धनबाद पॉलिटेक्निक का छात्र मनोरंजन कुमार से पूछताछ की जा रही है. मनोरंजन के मुताबिक इस मामले में उसकी कोई संलिप्तता नहीं है. वह अपने रिश्तेदार के घर आया था. इसी दौरान पुलिस का छापा पड़ गया.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें