महाराष्ट्र में आज से ठाकरे राज, 18वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे उद्धव

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
डिप्टी सीएम एनसीपी का स्पीकर कांग्रेस का होगा
मुंबई/नयी दिल्ली : शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे गुरुवार को महाराष्ट्र के 18 वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण करेंगे. वह मनोहर जोशी व नारायण राणे के बाद इस पद पर काबिज होने वाले शिवसेना के तीसरे नेता हैं और ठाकरे परिवार के पहले सदस्य. वहीं, बुधवार की सुबह से लेकर रात तक महाराष्ट्र में सियासी हलचल चलती रही़. शिवसेना, एनसीपी व कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के बीच सरकार बनाने को लेकर अहम बैठक हुई. इसके बाद हुई प्रेस वार्ता में वरिष्ठ एनसीपी नेता प्रफुल्‍ल पटेल ने बताया कि तीनों दलों ने साझा रूप से निर्णय लिया है कि नयी सरकार में एक ही उपमुख्यमंत्री होगा, जो एनसीपी का होगा.
इसके अलावा विधानसभा अध्यक्ष का पद कांग्रेस को दिया जायेगा. सूत्रों के मुताबिक यह भी तय हुआ कि मुख्यमंत्री पद पूरे पांच साल के लिए शिवसेना के पास रहेगा. इस बीच अजित पवार को एनसीपी विधायक दल का फिर से नेता बनाये जाने की चर्चा है, साथ ही कैबिनेट में उन्हें अहम जिम्मेदारी भी मिल सकती है. हालांकि, अजित ने स्पष्ट किया कि इस संबंध में कोई भी निर्णय उद्धव ठाकरे ही लेंगे. सरकार गठन की कवायद के बीच 14 वीं विधानसभा का विशेष सत्र बुधवार को शुरू हुआ, जिसमें नव निर्वाचित 285 सदस्यों को शपथ दिलायी गयी.
ठाकरे खानदान के लिए ऐतिहासिक दिन
ठाकरे खानदान के लिए गुरुवार का दिन ऐतिहासिक होने वाला है. परिवार का कोई पहला सदस्य मुख्यमंत्री की कुर्सी पर काबिज होगा. शिवसेना की ओर से पूरी कोशिश की जा रही है कि इस शपथ ग्रहण समारोह को ऐतिहासिक बनाया जाए. पार्टी ने कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों को न्योता भी भेजा है. उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री मोदी से फोन पर बात कर समोरह में आने का न्योता दिया.
शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को निमंत्रण देने के लिए उनके आवास पर पहुंचे. सोनिया गांधी से मुलाकात करने के बाद आदित्य ठाकरे ने कहा कि हम उनका आशीर्वाद लेने आए थे. उन्होंने कहा कि हम सोनिया और राहुल गांधी को निमंत्रण देने के लिए आए थे. आदित्य इसके बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को न्योता देने के लिए उनके आवास पहुंचे
आज महाराष्ट्र के 18वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे उद्धव
बागी अजित पवार को मिल सकता है महत्वपूर्ण पद
भाजपा के साथ सरकार बनाना विद्रोह नहीं : अजित
एनसीपी नेता अजित पवार ने कहा कि उन्होंने जो किया, उसे विद्रोह नहीं कहा जा सकता. अजित अपनी पार्टी और परिवार को झटका देते हुए शनिवार को भाजपा से हाथ मिला कर देवेंद्र फडणवीस नीत सरकार में उपमुख्यमंत्री बन गये थे. उन्होंने एक बार फिर कहा कि वह एनसीपी के साथ हैं और रहेंगे़ विद्रोह के सवाल पर कहा कि क्या एनसीपी ने मुझे हटाया? इसलिए अफवाहों की बजाय हकीकत पर ध्यान देना चाहिए़
शिवसेना-एनसीपी से 14 कांग्रेस से 13 मंत्री संभव
नयी सरकार में शिवसेना को मुख्यमंत्री के अलावा 14 मंत्री पद मिल सकते हैं. एनसीपी को डिप्टी सीएम के अलावा 14 मंत्री पद दिये जा सकते हैं. वहीं, कांग्रेस से 13 मंत्री हो सकते हैं. राज्य में अधिकतम 43 मंत्री हो सकते हैं. अजित पवार को वित्त मंत्रालय, शरद पवार के करीबी जयंत पाटील को गृह और धनंजय मुंडे को बिजली मंत्रालय मिल सकता है. आदित्य ठाकरे को मंत्री बनाये जाने को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें