शीला के लिए यह साल लेकर आया बुरा दिन

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

-इंटरनेट डेस्क-
नयी दिल्ली:तीन राज्यों के राज्यपालों के इस्तीफे के बाद अन्य राज्यपालों पर दबाव बढ गया है. ये राज्यपाल यूपीए सरकार के दौरान नियुक्त किये गये थे. आज उत्तर प्रदेश के राज्यपाल बीएल जोशी के बाद असम और कर्नाटक के राज्यपाल ने इस्तीफा दिया है.

वहीं खबरों की माने तो हाल ही में केरल के राज्यपाल पद की कमान संभलने वाली शीला दीक्षित ने इस्तीफे से इनकार किया है.इस खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए शीला ने कहा कि मैं अफवाहों पर ध्‍यान नहीं देती. समय आने पर इस सवाल का भी वे जवाब दे देंगी. गौरतलब है कि शीला ने मार्च में ही केरल के राज्यपाल का पद संभाला था. यह साल शीला दीक्षित के लिए अच्छा साबिन नहीं हो पा रहा है.

15 वर्ष तक दिल्ली में शासप करने वाली शीला सरकार को आम आदमी पार्टी के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा था.दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मात्र आठ सीटें मिली थी जिसके बाद उसने आप पार्टी के साथ मिलकर सरकार बनाई. दिल्ली विधानसभा में मिली करारी हार के बाद यूपीए सरकार ने उन्हें केरल के राज्यपाल के पद पर आसीन कर दिया था. राज्यपाल का पद संभाले अभी छह महीने भी नहीं हुए हैं कि उनके इस्तीफे की नौबत आ गई है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें