34.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Abhishek Kumar

Browse Articles By the Author

नीतीश सरकार का ‘भ्रष्टाचार पर प्रहार’, रिश्वतखोरों की ‘खैर नहीं’

Bihar government on bribery बिहार सरकार ने भ्रष्टाचार को काबू करने के लिए बड़ा फैसला लिया है

Coronavirus Outbreak : यहां पढ़िए Coronavirus से जुड़े हर सवाल के जवाब

दुनिया भर में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या पांच हजार से ज्यादा हो चुकी है. अमेरिका, इटली समेत भारत में कोरोना वायरस का कहर जारी है. अमेरिका में हेल्थ इमरजेंसी लागू की गयी है तो कई तरीके से ऐसे हैं जिससे वायरस से बचा जा सकता है. वहीं, कई सवाल ऐसे हैं जिसे जानना जरुरी है.

Janta Curfew : तस्वीरों में देखिये बिहार में ‘जनता कर्फ्यू’ का ताजा हाल

पटना : कोरोना वायरस के खिलाफ समूचा बिहार एकजुट है. बिहार में रविवार को जनता कर्फ्यू का व्यापक असर देखने को मिल रहा है. सुबह से ही सड़कों पर सन्नाटा पसरा है. लोग पूरी तरह से घरों में बंद हैं. सड़क और मैदानों तक में कोई नहीं है. राजधानी पटना के भीड़भाड़ वाले इलाकों बोरिंग रोड चौराहा, डाकबंगला, मौर्या कॉम्प्लेक्स समेत दूसरे स्थानों पर भीड़ का नामोनिशान देखने को नहीं मिला. वहीं, चौक-चौराहों पर ट्रैफिक पुलिस को तैनात किया गया था. सड़कों पर पुलिस की गाड़ियां पेट्रोलिंग करती भी दिखी. बता दें सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक ‘जनता कर्फ्यू’ का ऐलान किया गया है. तस्वीरों में देखिए पूरे बिहार में ‘जनता कर्फ्यू्’ का ताजा हाल-

Coronavirus : भारत में क्यों लगा 21 दिनों का लॉकडाउन?

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच भारत में 21 दिनों का लॉकडाउन कर दिया गया है. भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 550 के पार पहुंच चुकी है. लिहाजा 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया. दरअसल, 21 दिनों के लॉकडाउन के पीछे एक लॉजिक है. 21 दिनों के अंदर पता लग जायेगा कि कोरोना का संक्रमण कहां तक फैला है. इस दौरान कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने में भी मदद मिलेगी.

ICMR की रिसर्च में खुलासा : लॉकडाउन नहीं होने पर भारत में इटली जैसे...

भारत में लगातार कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं. बड़ी बात यह है कि 30 जनवरी को भारत में कोरोना वायरस का पहला केस मिला था. इसके बाद लगातार बढ़ते संक्रमण के बीच जनता कर्फ्यू लगाया गया और उसके बाद 21 दिनों का लॉकडाउन. 15 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म हो रहा है. उम्मीद जतायी जा रही है कि जल्द ही लॉकडाउन पर सरकार बड़ा फैसला लेगी. इसी बीच एक रिपोर्ट सामने आयी है, जिससे पता चलता है कि लॉकडाउन के कारण भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से हालात बेकाबू होने से बच गये. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने रिपोर्ट में जिक्र किया है कि भारत में गुजरात, तमिलनाडु, महाराष्ट्र और केरल जैसे राज्यों पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है.

कोरोनावायरस : महाराष्ट्र सरकार में मंत्री जितेंद्र आव्हाड निकले कोरोना पॉजिटिव

देश में कोरोनावायरस के संक्रमण के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. इसी बीच वीआईपी भी कोरोना संक्रमित होने लगे हैं. सीएम उद्धव ठाकरे के आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. इसके पहले उनके 14 निजी स्टाफ भी कोरोना संक्रमित मिले थे. जितेंद्र आव्हाड़ ने ठाणे के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में चेकअप कराया था.

कोरोनावायरस : लॉकडाउन के बीच खुली शराब की दुकानें, सोशल डिस्टेंसिंग फेल

भारत में लॉकडाउन के तीसरे फेज की शुरूआत सोमवार से हो गयी. खास बात यह रही कि तीसरे चरण में शराब की दुकानों को खोलने की अनुमति दी गयी है. करीब डेढ़ महीने के बाद शराब की दुकानें खुलने के साथ ही देशभर में अजीबोगरीब नजारा देखने को मिला.

लॉकडाउन : मजदूरों की घर वापसी पर सियासी बयानबाजी को लेकर रेलवे ने दी...

केंद्र सरकार ने लॉकडाउन में फंसे मजदूरों की घर वापसी का फैसला लिया. मजदूरों की मांग थी कि उनको घर वापसी में मदद दी जाए. जबकि, इस फैसले को लेकर राजनीति भी तेज हो गयी है. हालांकि, बढ़ते विवाद के बीच रेलवे ने सफाई भी दी है. देखिए हमारी खास रिपोर्ट.

कोरोना संक्रमण के बीच लॉकडाउन-3 की शुरूआत, कितने सफल हुए हम?

आज से देश में लॉकडाउन के फेज तीन की शुरूआत हो चुकी है. कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए जिलों के रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में बांटा गया है. रेड जोन में कोई राहत नहीं है. जबकि, ऑरेंज और ग्रीन जोन में सशर्त राहत का ऐलान किया गया है.