24.1 C
Ranchi
Saturday, March 2, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Truecaller यूजर्स के लिए बड़ा अलर्ट, कहीं आपकी प्राइवेसी खतरे में तो नहीं?

डार्क वेब ऐसी जगह है जहां गैरकानूनी काम होते हैं. यहां स्कैमर आपके डेटा का दुरुपयोग करते हैं, जिससे आपकी प्राइवेसी पर खतरा उत्पन्न हो जाता है. एक रिपोर्ट के मुताबिक हाल ही में ट्रूकॉलर से 5 करोड़ इंडियन का डाटा लीक हो गया है.

ट्रूकॉलर एक फोन डायलर ऐप है, इसका उपयोग करोड़ों भारतीय करते हैं. इसका मुख्य फीचर फोन नंबर डिटेल्स का पता लगाना है. ऐसे में इसके बारे में एक बहुत बड़ा खुलासा हुआ है. एक रिपोर्ट के अनुसार ट्रूकॉलर यूजर का डेटा लीक हुआ है, हालांकि कंपनी ने इसका खंडन किया है. लेकिन रिपोर्ट की मानें तो अगर आप ट्रूकाॅलर यूज कर रहे हैं तो आपके लिए खतरे की घंटी है, क्योंकि डार्क वेब के स्कैमर आपका डेटा चुरा सकते हैं. अब आप ये सोच रहे होंगे की डार्क वेब होता क्या है? चलिए आपको बताते हैं कि डार्क वेब है क्या है.

क्या है डार्क वेब, कैसे चुराता है आपका डेटा ?

डार्क वेब एक ऐसी जगह है जहां गैरकानूनी काम होता है. मतलब स्कैमर आपके डेटा का दुरुपयोग करते हैं. जिससे आपकी प्राइवेसी खतरे में पड़ जाती है. जब आप कोई एप इंस्टाॅल करते हैं तो तब यह बहुत सारे परसमिशन आपसे अलाऊ करवा लेता है और हम ध्यान से पढ़ते भी नहीं बस एलाऊ बटन पर टैप करते जाते हैं. ऐसे में ये हमसे लोकेशन , फाइल्स , कॉन्टैक्ट्स जैसे सेंसेटिव इंफॉरमेसन का परमिशन ले लेता है और ये सभी डेटा डार्क वेब स्टोर कर लेता है और उनका दुरुपयोग करता है.

Also Read: WhatsApp के ये नये इंटरेस्टिंग फीचर्स चेक किये आपने? बनाएंगे मैसेजिंग मजेदार
सुरक्षा के लिए फॉलो करें ये स्टेप

  • एप के सेटिंग में जा कर प्राइवेसी सेंटर पर क्लिक करें.

  • अब मैनेज माय डेटा पर जा कर रेस्ट्रिक्ट प्रोसेसिंग माय डेटा (Request Processing My Data) पर क्लिक करें.

  • फिर गूगल पर सर्च कर के फर्स्ट में जो लिंक आएगा उस पर टैप करें फिर यहां अपना नंबर डाल कर अनलिस्ट (Unlist) पर क्लिक करें, बस आपका काम हो गया.

ट्रूकॉलर ने डेटा लीक होने की बात को खारिज किया

ट्रूकॉलर ने अपने अधिकारिक बयान में यह कहा है कि हमें इस बात की जानकारी मिली है कि, डार्क वेब और एक ताजा रिपोर्ट के संदर्भ में ट्रूकॉलर के ब्रांड नाम का जिक्र किया गया है, जिसके अनुसार 5 करोड़ भारतीयों का डेटा लीक होने का दावा किया गया है. कंपनी इस बात की पुष्टि करना चाहती है कि, ऐसी बातें पूरी तरह से गलत और गुमराह करने वाली हैं. ट्रूकॉलर अपने सभी यूजर्स की गोपनीयता को बेहद गंभीरता से लेता है और यूजर्स की संवेदनशील जानकारी की हिफाजत करने वाली कंपनी होने के नाते, ट्रूकॉलर यूजर्स के डेटा की बिक्री नहीं करता है. हमारे डेटाबेस को भारत में स्टोर किया जाता है जो बेहद सुरक्षित हैं. यूजर्स के डेटा की बात की जाए, तो ट्रूकॉलर डेटा के संबंध में बेहद सख्त प्रक्रियाओं को अपनाता है और गोपनीयता संबंधी दिशा-निर्देशों को लागू करता है. दुनिया के जिस भी हिस्से में हम काम करते हैं, हम वहां डेटा के संबंध में लागू सभी गोपनीयता कानूनों का पालन करते हैं. बुरी नीयत वाले लोग अक्सर ट्रूकॉलर के नाम से डेटाबेस की ऑनलाइन बिक्री करते हैं. इसके अलावा, वे अपने अवैध डेटाबेस को भरोसे के लायक बनाने और ज्यादा कीमत वसूलने के लिए भी हमारे नाम का सहारा लेते हैं. एक कंपनी के रूप में, हम ऐसी बुरी नीयत वाले लोगों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रहे हैं और हम सभी से अनुरोध करते हैं कि वे ऐसे लोगों के झांसे में नहीं आएं. कंपनी की ओर से यह दावा किया गया है कि ट्रूकॉलर उपयोग के लिए पूरी तरह सुरक्षित है और कंपनी यूजर्स की सुरक्षा के साथ-साथ संचार के माहौल को सुरक्षित बनाने के लिए लगातार काम करती रहेगी.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें