अकेले रहनेवाले वृद्ध नागरिकों के लिए आफत, बैंक ग्राहक भी रहे परेशान

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
  • घरों में अकेले रहनेवाले वृद्ध नागरिक बने बदमाशों के टारगेट
  • गरियाहाट, बेहला, करया व रवींद्र सरोवर में वृद्धों‍ ने गंवायी जान
  • रोमानियाई गैंग के सदस्य शहर में बैंक ग्राहकों के लिए बने मुसीबत
  • शहर के नागरिकों के लिए पुलिस ने भी शुरू की नयी योजनाएं
विकास गुप्ता, कोलकाता : वर्ष 2019 के समाप्त होने में महज कुछ ही दिन बाकी हैं. इसके बाद नयी आशाओं, नयी सोच व नया संकल्प के साथ नये वर्ष की शुरुआत होगी. वर्ष 2019 में महानगर के लोग कई उतार-चढ़ाव से होकर गुजरे.इधर, कुछ बैंक के ग्राहकों के लिए भी यह वर्ष परेशानी भरा रहा. इन सभी के बीच महानगर के लोगों की सुविधा के लिए कोलकाता पुलिस ने भी कई नयी योजनाओं को शुरू किया. इनके शुरू होने पर एक तरफ अपराध में कमी आयेगी, वहीं महिलाओं को पहले की तुलना में अब ज्यादा सुरक्षा मिल पायेगी.
गरियाहाट, बेहला, करया व रवींद्र सरोवर में वृद्धों‍ की हत्या
महानगर में रहनेवाले कुछ वृद्ध नागरिकों के लिए वर्ष 2019 दुविधाजनक रहा. शरारती तत्वों ने घरों में अकेले रहनेवाले वृद्धों को टार्गेट कर लूटपाट की. गरियाहाट में उर्मिला झुंड (62) नामक एक वृद्ध महिला अपने ही परिवार के सदस्यों की साजिश की शिकार बन गयीं. बदमाशों ने निर्मम तरीके से सिर से धड़ अलग कर उनकी हत्या कर दी.
वहीं, बेहला थाना क्षेत्र के शिशिरबागान इलाके में शुभ्रा घोष दस्तीदार (80) नामक वृद्धा की बदमाशों ने हत्या कर घर में जमकर लूटपाट की घटना को अंजाम दिया. इधर, नेताजी नगर थाना अंतर्गत अशोक एवेन्यू स्थित एक इमारत में रहनेवाले वृद्ध दंपती दिलीप मुखर्जी (80) और स्वपना मुखर्जी (72) की एक ही घर में बदमाशों ने हत्या कर दी.
इसके अलावा कोलकाता के चाइना टाउन में घर में अकेली रहनेवालीं 60 साल की वृद्धा ली होउ मिहा (60) की भी बदमाश ने निर्मम तरीके से हत्या कर दी थी. महानगर में अकेले रहनेवाले वृद्धों की निर्मम हत्या के मामलों में बढ़ोतरी के कारण पुलिस हरकत में आयी और स्थानीय थानों को अलर्ट रखने के साथ वृद्धों के लिए कोलकाता पुलिस की संस्था 'प्रणाम' के साथ ज्यादा से ज्यादा वृद्धों को जोड़ने का भी निर्देश दिया.
पंचशायर में गैंगरेप की घटना के बाद शहर के होम की लचर हालत की खुली पोल
पंचशायर इलाके में गैंगरेप की घटना के बाद शहर के होम की लचर हालत की पोल पहली बार खुल गयी. यहां एक मानसिक बीमार महिला होम से बाहर निकल जाती है, वह गैंगरेप की शिकार हो जाती है और होम प्रबंधन के किसी भी अधिकारी को इसकी भनक नहीं लगती है.
इस मामले में एक किशोर समेत दो लोगों की गिरफ्तारी हुई है. पुलिस की तरफ से इस होम के राज्यभर में सभी शाखाओं के खिलाफ अविलंब जांच कर सख्त कदम उठाने का आवेदन सरकार से किया गया है.
आपराधिक मामले में कुछ पुलिसवाले भी हुए गिरफ्तार
वर्ष 2019 में कुछ ऐसे भी आपराधिक मामलों को अंजाम दिया गया, जिसकी जांच में पुलिसकर्मी के आरोपी होने का पता चला. शहर के मोचीपाड़ा इलाके में एक कांस्टेबल को अपने साथियों के साथ डकैती करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. हेयर स्ट्रीट थाने की पुलिस ने भी बकाया रुपये वसूलने के लिए एक व्यक्ति का अपहरण करने के आरोप में शामिल होनेवाले तीन कांस्टेबलों को गिरफ्तार किया गया.
यही नहीं, हाल ही में सियालदह स्टेशन के पास एक बांग्लादेशी नागरिक से 20 हजार बांग्लादेशी टाका छिनताई करने के आरोप में तालतल्ला थाने में कार्यरत कोलकाता पुलिस के एक ड्राइवर को गिरफ्तार किया जा चुका है. सभी मामलों में विभागीय कार्रवाई की जा रही है.
आपराधिक मामलों की जांच में मदद के लिए 3डी स्कैनर तकनीक
लोगों के लिये इस वर्ष कोलकाता पुलिस की तरफ से कई नयी योजनाएं शुरू की गयीं. आपराधिक मामलों की जांच में मदद के लिए 3डी स्कैनर तकनीक की शुरुआत की गयी. वहीं, शहर में अब रोजाना रात को नाका चेकिंग भी शुरू की गयी, जिससे कई अपराधियों को सड़क पर इस दौरान गिरफ्तार करने में मदद मिली है.
महिलाओं की सुरक्षा पर विशेष ध्यान देते हुए कोलकाता पुलिस की तरफ से महिला कमांडो टीम 'वॉरियर्स' को शहर में महिलाओं की सुरक्षा की ड्यूटी का दायित्व दिया गया. यही नहीं, महिला पेट्रोलिंग टीम को भी पहली बार महिलाओं की सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है.
रोमानियाई गैंग से परेशान रहे बैंक ग्राहक
दक्षिण कोलकाता के विभिन्न इलाकों में जून महीने से अगस्त महीने के बीच रोमानियाई गिरोह की करतूतों के कारण दर्जनों बैंक ग्राहकों के अकाउंट से करीब 20 लाख रुपये एटीएम स्किमिंग के जरिये उड़ा लिये गये.
इस करतूत की भरपाई ग्राहकों को करनी पड़ी, हैरान-परेशान होकर बैंकों का चक्कर लगाने के बावजूद जरूरत के समय उन्हें रुपये वापस नहीं मिली. कोलकाता पुलिस की एंटी बैंक फ्रॉड शाखा ने जांच कर दिल्ली से दो रोमानियाई समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया. ग्राहकों को काफी कोशिश व पुलिस के निर्देश के बाद उनके रुपये अकाउंट में वापस आये.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें