1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. new education policy 2020 of india is to prepare better human being not machines says jharkhand bjp leader deepak prakash

मशीन नहीं, मनुष्य निर्माण की नीति है नयी 'शिक्षा नीति 2020' : दीपक प्रकाश

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
झारखंड प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस करके नयी शिक्षा नीति लाने के लिए भारत सरकार को धन्यवाद दिया.
झारखंड प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस करके नयी शिक्षा नीति लाने के लिए भारत सरकार को धन्यवाद दिया.
Social Media

रांची : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने नयी शिक्षा नीति का स्वागत करते हुए कहा है कि यह नीति मशीन नहीं, मनुष्य निर्माण की नीति है. झारखंड भाजपा के अध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद ने गुरुवार को आयोजित ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये बातें कहीं. उन्होंने कहा कि प्रदेश भाजपा केंद्र सरकार द्वारा घोषित नयी शिक्षा नीति 2020 का स्वागत और अभिनंदन करती है.

उन्होंने नयी शिक्षा नीति लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का आभार प्रकट किया. कहा कि यह नीति भारतीय संस्कृति, गौरवशाली इतिहास की नींव पर आधारित है. यह नीति सर्व स्पर्शी और सर्व समावेशी है. इसमें प्राचीनता और नवीनता का सम्मिश्रण है, जिसे मैकाले की शिक्षा पद्धति ने समाप्त करने की कोशिश की थी.

श्री प्रकाश ने कहा कि नयी शिक्षा नीति में राष्ट्रीयता और क्षेत्रीयता दोनों का समावेश है. राष्ट्रीय एकात्मता को मजबूत करने वाली माटी की सुगंध से युक्त है यह शिक्षा नीति है. कहा कि विज्ञान के साथ कला और संगीत को जोड़ा गया है. अब विज्ञान और तकनीक से जुड़े विद्यार्थी भी कला की शिक्षा ग्रहण कर सकेंगे.

राज्यसभा सांसद और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि तीन दशक के बाद बहु प्रतीक्षित नई शिक्षा नीति का स्वप्न अब साकार हुआ है. कक्षा 5 तक की शिक्षा को क्षेत्रीय भाषाओं में अनिवार्य करने से जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषाओं का विकास होगा. नये अवसर उपलब्ध होंगे. देश भर से प्राप्त 2 लाख से अधिक सुझाओं पर आधारित यह एक बेहतरीन शिक्षा नीति है.

दीपक प्रकाश ने कहा कि कक्षा 6 से ही बच्चों में प्रकृति प्रदत्त हुनर को विकसित करने की दृष्टि से वोकेशनल एजुकेशन से जोड़ने का प्रावधान किया गया है. इसके पूर्व बुनियादी शिक्षा, प्राथमिक शिक्षा के लिए व्यावहारिक और युगानुकूल बदलाव किये गये हैं. काफी विचार-विमर्श के बाद बोर्ड एग्जाम के स्ट्रक्चर को 10+2 की जगह 5+3+3+4 किया गया है.

श्री प्रकाश ने कहा कि नये करिकुलम में तीन स्तर पर असेसमेंट निर्धारित है, जिसमें छात्र के स्वयं का, उसके साथी का और अध्यापक का असेसमेंट शामिल है. इससे सामाजिक जीवन में सम्मान का भाव बढ़ेगा. इतना ही नहीं, उच्च शिक्षा में सरकार ने 3.5 करोड़ नयी सीटें बढ़ाने का प्रावधान किया है. शिक्षा बजट को जीडीपी के 6 प्रतिशत तक बढ़ाने की बात कही गयी है.

भाजपा नेता ने कहा कि शिक्षकों के पाठ्यक्रम, नामांकन की प्रक्रिया में भी व्यावहारिक बदलाव किये गये हैं. विभिन्न विद्यालयों और विश्वविद्यालयों में नामांकन के लिए एकीकृत परीक्षा का प्रावधान किया गया है. श्री प्रकाश ने भारत सरकार के शिक्षा सचिव अमित खरे को भी बधाई दी. कहा कि उनका झारखंड से गहरा नाता है. उन्होंने नयी नीति बनाने में बड़ी भूमिका निभायी है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें