पटना ब्लास्ट: रांची में दिया गया था ऑपरेशन मछली को अंतिम रूप

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची: राजधानी में इंडियन मुजाहिद्दीन (आइएम) के आतंकियों की संख्या में दिन प्रतिदिन बढ़ोतरी होती जा रही है. नेशनल इंनवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआइए) की टीम ने शुक्रवार को हिंदपीढ़ी में छापेमारी की. टीम ने वहां से एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है. सूत्रों के मुताबिक हिंदपीढ़ी से जिस व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है, उसके घर पर ही पटना सीरियल ब्लास्ट की साजिश को अंतिम रूप दिया गया था.

अंतिम बार वहीं पर उज्जैर, इम्तियाज और मो वसीम जुटा था. बताया जाता है कि पटना में सीरियल ब्लॉस्ट को ऑपरेशन मछली का नाम दिया गया था. वहीं से ऑपरेशन मछली स्टार्ट करने की हिदायत सभी को दी गयी थी. एनआइए की टीम ने शहर के दूसरे हिस्सों से भी तीन अन्य लोगों को संदेह के आधार पर हिरासत में लिया है. तीनों से पूछताछ हो रही है. पुलिस मान कर चल रही है कि छानबीन में और सफलता मिलेगी.

इम्तियाज के पास से कई फोन नंबर मिले हैं
ब्लास्ट के मामले में गिरफ्तार सीठियो निवासी इम्तियाज से एनआइए को कई फोन नंबर मिले हैं. फोन नंबर के आधार पर रांची के विभिन्न स्थानों पर छापेमारी हो रही है. रांची के ग्रामीण इलाकों में भी आइएम के सदस्यों के होने की सूचना एनआइए को मिली है. एनआइए की टीम ग्रामीण इलाकों में भी छापेमारी करेगी.

उज्जैर के घर से मिले पासपोर्ट व सीडी
डोरंडा पुलिस ने मणिटोला, फिरदौस नगर स्थित उज्जैर अहमद के घर की तलाशी ली. उसके घर से पुलिस को तीन पासपोर्ट व बहुत सारे सीडी समेत आइएम से जुड़े के महत्वपूर्ण कागजात, इलेक्ट्रॉनिक्स पार्ट्स, चिप व ट्रांसफरमर आदि मिले हैं. डोरंडा पुलिस सभी सामान साथ ले गयी. जब्त सामान को एनआइए को सौंपा जायेगा. उज्जैर के घर से मिले तीन पासपोर्ट में दो पासपोर्ट उज्जैर अहमद के हैं, जबकि एक पासपोर्ट उसकी पत्नी फातिमा के नाम से है. उज्जैर की पत्नी इथोपिया की रहनेवाली है. डोरंडा पुलिस शुक्रवार को दिन के 12.30 बजे उज्जैर के घर पहुंची. दो घंटे तक उसके घर की तलाशी ली गयी. इस दौरान उज्जैर के भाई और पत्नी फातिमा ने भी हो-हल्ला किया. पुलिस ने जब कड़ा रूख अपनाया, तब घर के लोग शांत हुए.

सरताज नाम का कोई इनामी आतंकी नहीं
एनआइए के पास आइएम के किसी सरताज नामक आतंकी की सूचना नहीं है. न ही ऐसे किसी आतंकी पर 10 लाख रुपये के इनाम की घोषणा है. एनआइए की वेबसाइट पर 57 मोस्टवांटेड आतंकवादियों व नक्सलियों की सूची है. इसमें इंडियन मुजाहिद्दीन के किसी सरताज नामक व्यक्ति का नाम या तसवीर नहीं है. पुलिस के एक आधिकारी ने भी बताया कि इस नाम के किसी आतंकी के बारे में अब तक सूचना नहीं है.

सीठियो में ग्रामीणों ने की आतंकवाद विरोधी सभा, नारे लगाये, लिया संकल्प आतंकी गतिविधि का करेंगे विरोध
हटिया/रांची: पटना में हुए सीरियल बम ब्लास्ट में पकड़े गये सीठियो बस्ती के युवक का नाम सामने आने से सीठियो के ग्रामीणों, अंसारी महापंचायत तथा अंजुमन इसलामिया द्वारा शुक्रवार को आतंकवाद विरोधी सभा की गयी. इसमें आसपास के गांवों से भी करीब 200 लोग शामिल हुए. सभा में सभी समुदायों के लोगों ने शिरकत की.

अध्यक्षता प्रो. रिजवान अली अंसारी ने की. उन्होंने कहा कि गांव सिर्फ दो-चार युवकों के कारण बदनाम हो गया है. ऐसा कतई नहीं है कि गांव के सभी लोग आतंकवादियों के संपर्क में हैं. इसके बाद उपस्थित लोगों ने एक स्वर में आतंकवाद विरोधी नारे लगाये. साथ ही आतंक से जुड़ी हर प्रकार की गतिविधि के विरोध करने का निर्णय लिया. इसके अलावा पटना बम ब्लास्ट की निंदा सामूहिक रूप से की. इस दौरान गांव के शेखावत साहब ने कहा कि हम सभी गांववाले संकल्प लेते हैं कि आतंकवाद को किसी भी हालत में पनपने नहीं देंगे और ऐसी किसी भी हरकत का मुंहतोड़ जवाब सामूहिक रूप से देने का प्रयास करेंगे.

बैठक में शामिल लोगों ने यह भी कहा कि पटना सीरियल बम ब्लास्ट में जबसे सीठियो गांव के इम्तियाज सहित अन्य युवकों के नाम सामने आये हैं, खुफिया एजेंसी, पुलिस के साथ-साथ आम लोग भी शक की निगाह से देखने लगे हैं. साथ ही तरह-तरह की बातें कर रहे हैं. इससे गांव के नौजवानों के भविष्य पर बुरा असर पड़ रहा है. इसलिए हमलोग इस बात का विशेष ख्याल रखेंगे कि गांव के किसी भी युवक पर इस घटना का प्रभाव न पड़े.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें