24.1 C
Ranchi
Monday, February 26, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeबिहारखगड़ियासहरसा से फारबिसगंज के बीच ट्रेन चलाने की तैयारी में जुटा रेलवे, जानें कब से चालू होगा रेलखंड

ललितग्राम से फारबिसगंज के बीच कंस्ट्रक्शन के कई वर्क अधूरे थे. अब डिवीजन और मुख्यालय के अधिकारी सहरसा-फारबिसगंज के बीच ट्रेन चलाने को लेकर पूरी तैयारी में जुट गये हैं. सरायगढ़ से प्रतापगढ़ और ललितग्राम से नरपतगंज के बीच अभी कई जगहों पर कंस्ट्रक्शन का काम बाकी है.

सहरसा से फारबिसगंज के बीच ट्रेन चलाने की तैयारी में जुटा रेलवे, जानें कब से चालू होगा रेलखंड

सहरसा. सहरसा से फारबिसगंज के बीच ट्रेन चलाने को लेकर हर बार रेलवे नयी तारीख जारी करता है. लेकिन हर बार आधिकारिक निरीक्षण के दौरान कंस्ट्रक्शन का काम अधूरा ही रहता है. हाल ही में समस्तीपुर डिवीजन के डीआरएम ने सहरसा-फारबिसगंज ट्रेन चलने को लेकर निरीक्षण किया था. इस दौरान ललितग्राम से फारबिसगंज के बीच कंस्ट्रक्शन के कई वर्क अधूरे थे. अब डिवीजन और मुख्यालय के अधिकारी सहरसा-फारबिसगंज के बीच ट्रेन चलाने को लेकर पूरी तैयारी में जुट गये हैं. सरायगढ़ से प्रतापगढ़ और ललितग्राम से नरपतगंज के बीच अभी कई जगहों पर कंस्ट्रक्शन का काम बाकी है.

मुख्य बातें

  • सरायगढ़-ललित ग्राम-फारबिसगंज रेलखंड का

  • 15 नवंबर तक कंस्ट्रक्शन विभाग को वर्क पूरा करने का निर्देश

  • कंस्ट्रक्शन ने काम पूरा किए बिना ही रेलवे को कर दिया था हैंड ओवर

  • छह नये मेजर ब्रिज लगभग बनकर तैयार

  • प्रतापगढ़ व नरपतगंज स्टेशन पर एक और नयी रेल लाइन का होगा निर्माण

चार से पांच ब्रिज पर 95 प्रतिशत काम पूरा

रेलवे ने एजेंसी को 15 नवंबर तक शेष बचे कार्यों को पूरा करने का निर्देश दिया गया है. सहरसा-फारबिसगंज रेलखंड के अंतर्गत सरायगढ़ से प्रतापगंज के बीच सेक्शन पर छह नये ब्रिज का निर्माण कार्य पहले से चल रहा है. इनमें चार से पांच ब्रिज पर 95 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है. जबकि एक ब्रिज संख्या 36 पर निर्माण कार्य अभी चल रहा है. हालांकि रेल अधिकारियों की मानें तो कंस्ट्रक्शन का कार्य लगभग पूरा हो चुका है. जो शेष हैं, उसे 15 नवंबर तक पूरा करने का निर्देश जारी किया गया है. इसके अलावा नरपतगंज और प्रतापगढ़ स्टेशन पर एक और नई रेल लाइन का निर्माण होगा.

ब्रिज के कारण फंसा है मामला

सरायगढ़ से प्रतापगंज के बीच 22 किलोमीटर रेलखंड पर जिस ब्रिज संख्या 9, 13, 24, 36, 33 और 41 पर सहरसा से ललित ग्राम के बीच एकमात्र डीएमयू ट्रेन का परिचालन किया जा रहा है. उसी ब्रिज के समांतर नये मेजर ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है. सरायगढ़ से राघोपुर व ललित ग्राम के बीच जब सीआरएस किया गया था तो उसके बाद सीआरएस ने इस सेक्शन पर सरायगढ़ से प्रतापगंज के बीच पुल की स्थिति देखते हुए यानी छह ब्रिज पर अस्थायी रूप से निर्धारित गति से ट्रेन चलाने की अनुमति दी थी. जिसके बाद ही सहरसा से ललितग्राम के बीच बड़ी रेल लाइन पर सिर्फ डीएमयू जैसी ट्रेन चलाने के लिए फिट दिया था. इस दौरान सीआरएस ने उसके समांतर छह नयी ब्रिज के निर्माण के लिए अनुशंसा भी कर दी. छह नये मेजर ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा नहीं होता तो सहरसा से फारबिसगंज के बीच इस सेक्शन पर एक्सप्रेस और माल ट्रेनों का परिचालन शुरू नहीं किया जा सकेगा. वहीं पुराने ब्रिज पर ही अस्थायी रूप से ट्रेन चलाने के लिए फिट दिया गया था.

पुराने ब्रिज पर ही जैकेटिंग कर रेलवे ने चला दी ब्रॉडगेज पर ट्रेन

सरायगढ़ से प्रतापगंज के बीच रेलखंड पर छह मेजर ब्रिज हैं. सहरसा-फारबिसगंज रेलखंड पर अमान परिवर्तन के दौरान सरायगढ़ से प्रतापगंज के बीच पुराने मीटर गेज लाइन वाली ब्रिज पर फाउंडेशन में जैकेटिंग कर रेलवे ने ब्रॉड गेज लाइन को पूरा किया था. जब 2021 में सीआरएस किया गया था तो निरीक्षण के दौरान सीआरएस ने वर्तमान पुल की स्थिति देखते हुए 40/70 कम स्पीड से इस ब्रिज पर फिलहाल ट्रेन चलाने की अनुमति दी थी. इसके समांतर ही छह मेजर ब्रिज का निर्माण की सीआरएस ने अनुशंसा की थी. इस दौरान सीआरएस ने छह नये मेजर ब्रिज के निर्माण के बाद ही इस सेक्शन पर एक्सप्रेस और माल ट्रेन चलाने का अनुमति दी है. वहीं ब्रिज संख्या 36 पर निर्माण कार्य अभी चल रहा है.

Also Read: संजय झा ने उठाया दरभंगा एयरपोर्ट पर एक कंपनी के एकाधिकार का मामला, बोले- मिले सबको मौका

प्रस्तावित एक्सप्रेस ट्रेन का अभी परिचालन संभव नहीं

जोगबानी से पटना के बीच फारबिसगंज, ललितग्राम, सरायगढ़, निर्मली, झंझारपुर के रास्ते इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन चलाना प्रस्तावित है. इसके अलावा सहरसा से फारबिसगंज के बीच एक नयी ट्रेन भी प्रस्तावित है. लेकिन जब तक नये मेजर ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा नहीं होता, प्रस्तावित ट्रेन का परिचालन सरायगढ़ से प्रतापगंज के बीच ब्रिज पर संभव नहीं है.

निर्माण का पूरा किए बिना ही कंस्ट्रक्शन ने रेलवे को कर दिया था हैंड ओवर

ललित ग्राम से फारबिसगंज के बीच और सरायगढ़ से ललित ग्राम के बीच कंस्ट्रक्शन का कई काम बचा हुआ था. लेकिन कंस्ट्रक्शन विभाग ने कार्य पूरा किए बिना ही रेलवे को हैंडओवर कर दिया था. इसके बाद डिवीजन के अधिकारियों ने कंस्ट्रक्शन विभाग को 15 नवंबर तक कार्य पूरा करने का निर्देश जारी किया है.

  • -सरायगढ़ से प्रतापगंज के बीच कब हुआ सीआरएस

  • – सुपौल से सरायगढ़ सीआरएस वर्ष 2020

  • – सरायगढ़ से प्रतापगंज-राघोपुर-ललितग्राम सीआरएस वर्ष 2021

क्या कहते हैं अधिकारी

समस्तीपुर डिवीजन के डीआरएम विनय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि ललित ग्राम से फारबिसगंज के बीच हाल ही में निरीक्षण किया गया था. कंस्ट्रक्शन का कुछ काम बचा हुआ था, जिन्हें 15 नवंबर तक पूरा करने का निर्देश जारी किया गया है. वहीं छह मेजर ब्रिज का निर्माण कार्य भी लगभग पूरा हो चुका है. सभी कंस्ट्रक्शन का काम पूरा होते ही सहरसा से फारबिसगंज के बीच ट्रेन चलायी जायेगी.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें