1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. police interrogate sanjeev singh congress in tejashwi yadav fir case skt

जेवर बेचा और चंदा जुटाकर टिकट के लिए लाया 5 करोड़...! जब तेजस्वी समेत 6 पर केस मामले में पुलिस ने की पुछताछ

लोकसभा में टिकट के बदले 5 करोड़ की ठगी के आरोप में तेजस्वी यादव समेत 6 पर केस दर्ज किया गया है. वहीं शिकायतकर्ता संजीव सिंह से पुलिस ने पहली बार इस मामले में पुछताछ की है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
तेजस्वी समेत 6 पर केस मामले में पुलिस ने की पुछताछ
तेजस्वी समेत 6 पर केस मामले में पुलिस ने की पुछताछ
social media (File Pics)

चुनाव में टिकट देने के नाम पर पांच करोड़ की जालसाजी के मामले में कोतवाली थाने में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, मीसा भारती समेत छह के खिलाफ दर्ज केस में शिकायतकर्ता सह अधिवक्ता संजीव सिंह ने बुधवार को पुलिस के सामने बयान दर्ज कराया और आरोपों के संबंध में साक्ष्य सौंपा. वे बुधवार को कोतवाली थाने में पहुंचे और उनका बयान डीएसपी विधि व्यवस्था संजय कुमार व कोतवाली थानाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह के सामने दर्ज किया गया. पुलिस ने उनसे पांच करोड़ रुपये के संबंध में जानकारी मांगी.

105 सहयोगियों व रिश्तेदारों से चुनाव के लिए मिले चंदे- संजीव सिंह

सूत्रों के अनुसार, पूछताछ में संजीव सिंह ने बताया कि उन्होंने पांच करोड़ का इंतजाम पुश्तैनी ज्वेलरी को बेच कर और 105 सहयोगियों व रिश्तेदारों से चुनाव के लिए मिले चंदे आदि से किया था. इन रुपयों को चुनाव लड़ने के लिए जमा किया था, जिसे टिकट के लिए दिया था. रुपये देने के दौरान राजद कार्यालय में तेजस्वी यादव व कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा के अलावा स्व सदानंद सिंह, उनके पुत्र शुभानंद मुकेश, मीसा भारती व प्रवक्ता राजेश राठौर उपस्थित थे.

नहीं दे पाये चंदे की रसीद

सूत्रों के अनुसार, पूछताछ के दौरान पुलिस की ओर से उनसे पांच करोड़ रुपये के इंतजाम से संबंधित सारी जानकारी दी. पुलिस ने उनसे चंदा या गिफ्ट मिलने से संबंधित रसीद की मांग की, जो वह नहीं दे पाये. इसके अलावे अधिवक्ता से यह भी पूछा गया कि उन्होंने पुश्तैनी ज्वेलरी को कब और कहां बेचा? इसका अधिवक्ता ने जवाब दिया. कोतवाली थानाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह ने बताया कि अधिवक्ता से पांच करोड़ रुपये के संबंध में जानकारी ली गयी. उनसे जेवर बेचने से संबंधित कागजात, चंदे व गिफ्ट में मिली रकम से संबंधित कागजात मांगे गये. फिलहाल उन्होंने संतोषजनक जवाब नहीं दिया है. आवश्यकता होने पर उन्हें फिर से बुलाया जा सकता है.

18 अगस्त को किया था कोर्ट में कंप्लेन केस

अधिवक्ता संजीव सिंह बिहार कांग्रेस के प्रभारी पर्यवेक्षक भी थे. उन्होंने 18 अगस्त 2021 को कोर्ट में एक कंप्लेन केस दर्ज किया था और बताया था कि भागलपुर से लोकसभा का टिकट देने के नाम पर 15 जनवरी 2019 को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, स्व सदानंद सिंह, उनके पुत्र शुभानंद मुकेश, मीसा भारती व प्रवक्ता राजेश राठौर ने पांच करोड़ रुपये लिये थे. लेकिन उन्हें टिकट नहीं दिया गया.

Posted By: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें