27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

राज्य में खुलेंगे 1428 डेयरी फार्म 5 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

राज्य में खुलेंगे 1428 डेयरी फार्म 5 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

सालाना एक करोड़ 25 लाख 77 हजार लीटर दूध की बढ़ोत्तरी हो जायेगी मनोज कुमार, पटना राज्यभर में 1428 डेयरी फार्म खुलेंगे. इससे प्रत्यक्ष रूप से पांच हजार युवक-युवतियों को रोजगार मिलेगा, जबकि राज्य में सालाना एक करोड़ 25 लाख 77 हजार 900 लीटर दूध की बढ़ोत्तरी हो जायेगी. इसके लिए विभाग के पोर्टल पर 15 अगस्त से ऑनलाइन आवेदन शुरू होगा. दो और चार देसी गाय डेयरी फार्म खोलने के लिए मिलेंगी. डेयरी फार्म खोलने के लिए सरकार की ओर से सब्सिडी मिलेगी. शेष राशि जरूरतमंद लाभुकों को ऋण के रूप में उपलब्ध कराया जायेगा या सक्षम लाभुक खुद इस राशि को लगा सकते हैं. इसके लिए सरकार की ओर से 25 करोड़ 45 लाख 53 हजार 535 रुपये जारी कर दिये गये हैं. दो और चार देसी गायों के फार्म खोले जायेंगे. सालाना एक करोड़ 25 लाख 77 हजार लीटर दूध की बढ़ोत्तरी हो जायेगी मनोज कुमार, पटना राज्यभर में 1428 डेयरी फार्म खुलेंगे. इससे प्रत्यक्ष रूप से पांच हजार युवक-युवतियों को रोजगार मिलेगा, जबकि राज्य में सालाना एक करोड़ 25 लाख 77 हजार 900 लीटर दूध की बढ़ोत्तरी हो जायेगी. इसके लिए विभाग के पोर्टल पर 15 अगस्त से ऑनलाइन आवेदन शुरू होगा. दो और चार देसी गाय डेयरी फार्म खोलने के लिए मिलेंगी. डेयरी फार्म खोलने के लिए सरकार की ओर से सब्सिडी मिलेगी. शेष राशि जरूरतमंद लाभुकों को ऋण के रूप में उपलब्ध कराया जायेगा या सक्षम लाभुक खुद इस राशि को लगा सकते हैं. इसके लिए सरकार की ओर से 25 करोड़ 45 लाख 53 हजार 535 रुपये जारी कर दिये गये हैं. दो और चार देसी गायों के फार्म खोले जायेंगे. दो गायों के 1133 और चार गायों के 295 डेयरी फार्म खुलेंगे. पहले आओ, पहले पाओ के तर्ज पर लाभुकों को इस योजना का लाभ मिलेगा. पहले से ऑनलाइन आवेदन करने वाले आवेदकों को भी इस योजना का लाभ मिलेगा, बशर्तें उनको पहले लाभ नहीं मिला हो. एससी-एसटी व अत्यंत पिछड़े वर्ग के लाभुकों को 75 फीसदी और सामान्य वर्ग के लाभुकों को 50 फीसदी अनुदान मिलेगा. राज्य में वर्तमान में प्रतिदिन 22 लाख लीटर दूध का उत्पादन हो रहा है. डेयरी फार्म खुलने के बाद लगभग 34 हजार 400 लीटर प्रतिदिन दूध की बढ़ोत्तरी होगी. दूध उत्पादन में बिहार राष्ट्रीय औसत से आगे है. बिहार में दूध उत्पादन का औसत 7.3 फीसदी है, जबकि राष्ट्रीय औसत 5.29 प्रतिशत ही है. अधिक दूध देने वाली उन्नत नस्ल की साहिवाल, थारपारकर, गिर डेयरी फॉर्म खोलने के लिए दी जायेंगी. राज्य के बाहर से इन गायों का क्रय होगा. 55 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा. एससी-एसटी व अत्यंत पिछड़े वर्ग के लाभुकों को मात्र 25 फीसदी और सामान्य वर्ग के लाभुकों को 50 फीसदी राशि खुद से लगानी है. सब्सिडी के अलावा शेष राशि को ऋण या खुद से लगाया जा सकता है. दोनों स्थितियों में लाभुकों को योजना का लाभ मिलेगा. चार देसी गायों वाले डेयरी फार्म के लिए 15 डिसमिल जमीन अपनी या लीज पर होनी चाहिए. इस योजना से देसी गायों का संरक्षण होगा. पांच हजार लोगों को प्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा. लाभुक 15 अगस्त से ऑनलाइन आवेदन करेंगे. इस योजना के चालू होने के बाद बड़ी मात्रा में बिहार में दूध का उत्पादन बढ़ेगा. संजय कुमार, गव्य निदेशक, बिहार

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें