पार्टी मुझसे असहज हो गयी है तो निकाल दे : अजय आलोक

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : जदयू नेता अजय आलोक ने गुरुवार को अपनी पार्टी पर ही शब्दों के तीर चला दिये. बगावती तेवर दिखाते हुए कहा कि पार्टी को अगर उनसे इतनी असहजता हो गयी है तो उन्हें पार्टी से निकाल दिया जाये. अजय आलोक ने अपनी यह बात पूर्वाह्न में अपने ट्वीटर हैंडल पर जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद के बयान पर आधारित एक मीडिया रिपोर्ट के जवाब में कही.

अजय आलोक के बयान को लेकर राजीव रंजन ने कहा था कि आलोक पार्टी प्रवक्ता नहीं हैं और बार-बार दिये जा रहे उनके बयान पार्टी के आधिकारिक बयान नहीं है, पार्टी प्रवक्ता के पद से इस्तीफा लेकर उनको पदमुक्त किया जा चुका है.
इसी पर अजय आलोक ने रिट्वीट किया है कि ‘हास्यास्पद’ और क्या कहूं, मेरा इस्तीफा 13 जून को जा चुका है. इसके दो घंटे बाद वह ट्वीट करते हैं कि 'पार्टी के प्रवक्ता पद से इस्तीफा दिया था ममता बनर्जी पर मिनी पाकिस्तान बनाने के बयान पर लेकिन पार्टी से इस्तीफा नहीं दिया था. अब अगर पार्टी कहती हैं तो पार्टी से भी इस्तीफा दे दूंगा और मेरे से इतनी असहजता हो गयी हैं तो मुझे निकाल दीजिए.
मेरा महिमामंडन पार्टी का नुकसान है. इसके पांच घंटे बाद वह एक फॉलोअर को जवाब में लिखते हैं-भारी और हल्का ये काम साहूकारों का होता हैं पंकज बाबू हम राजनीति में चाटुकार नहीं हैं जो सच है वह है. जहां तक मेरी बात हैं तो जितनी मुश्किलों में डालोगे उतना ही तप कर निकलूंगा सूर्य सा तेज न सही मेरे दीपक के प्रकाश को रोशन होने से कब तक रोकेंगे?
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें