विस उपचुनाव : महागठबंधन में सीटों पर रार, हर दल अकेले लड़ने को बेकरार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
पटना : इसी साल हुए लोकसभा चुनाव के दौरान नये सिरे से बना विपक्षी दलों के महागठबंधन टूटने के कगार पर है. प्रभात खबर ने महागठबंधन के घटक दलों से तीन सवाल पूछे. महागठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी राजद ने चार सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित कर दिये हैं.
किशनगंज की विधानसभा सीट व समस्तीपुर की लोकसभा सीट कांग्रेस के लिए छोड़ी है. दूसरी बड़ी पार्टी कांग्रेस ने विधानसभा की पांच सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का संकेत दिया है. जीतन राम मांझी की पार्टी हम ने राजद पर धोखा देने का आरोप मढ़ते हुए नाथनगर में अपना उम्मीदवार उतार दिया है. वहीं वीआइपी ने भी सिमरी बख्तियारपुर में अपना प्रत्याशी दिया है. जबकि, रालोसपा ने अपने को उप चुनाव से अलग कर रखा है.
कांग्रेस अकेले जाये या साथ रहे, तय नहीं
विस उपचुनाव में महागठबंधन में सीटों के बंटवारे को लेकर कांग्रेस के बीच एक राय नहीं बन पायी है. बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने बताया कि पार्टी में दोनों प्रकार के राय उभर कर आये हैं. पहली राय है कि समान विचारधारा वाले दलों के साथ चुनाव में जाना चाहिए, जबकि दूसरा कांग्रेस को स्वतंत्र मैदान में उतरना चाहिए.
गठबंधन में कोई प्रत्यक्ष समस्या ही नहीं : पूर्वे
राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने महागठबंधन की समस्या के मूल में क्या है के जवाब में कहा कि दरअसल गठबंधन में कोई प्रत्यक्ष समस्या ही नहीं है. समस्या सिर्फ अनुभव की जा सकती है.उन्होंने सवाल काे पूरी तरह टालने के मूड में कहा चुनाव जीतने के लिए दल के पास जनाधार होना जरूरी है.
कोई नेतृत्व करने वाला नहीं: मुकेश सहनी
वीआइपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी ने कहा कि महागठबंधन में कुछ नेता अपनी मर्जी चला रहे है और महागठबंधन को नेतृत्व करने वाला कोई व्यक्ति नहीं है. हम अपनी पार्टी के लिये खड़े और बाकी अपनी पार्टी के लिये. महागठबंधन में कॉर्डिनेशन कमेटी नहीं है. 2020 में मुख्यमंत्री कौन बनेगा, यह भी तय नहीं है.
मांझी के चेहरे पर लड़ेंगे चुनाव
उपचुनाव के दौरान मचे घमासान पर हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा स्पष्ट रूप से मांझी के चेहरे पर उपचुनाव लड़ने की बात रह रही है. महागठबंधन में क्या समस्या हो रही है. इस सवाल पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीएल वैस्यंत्री ने कहा कि पार्टी हर हाल में नाथनगर से चुनाव लड़ेगी.
उपचुनाव से दूर है पार्टी
रालोसपा उपचुनाव को लेकर बहुत उत्सुक नहीं दिख रही है. पार्टी के सूत्रों के अनुसार पहले किसी भी सीट पर चुनाव नहीं लड़ा, तो इस बार भी दावा नहीं बनता है.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें