जल व हरियाली बचाने के लिए सभी का साथ जरूरी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बक्सर : मानव शृंखला बनाने की तिथि निकट होने के साथ प्रशासनिक हलकों में कवायद तेज हो गयी है. जल-जीवन व हरियाली को बचाने के लिए एक बार फिर शृंखला का निर्माण होगा. राज्य सरकार के निर्धारित कार्यक्रम में सबकी भागीदारी सुनिश्चित कराने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है.

इसी जागरूकता अभियान के तहत बुधवार को जिले के तमाम अधिकारी विभिन्न स्कूलों की चेतना सत्र में पहुंचकर मानव शृंखला के लिए प्रेरित किये, जिससे जिले में मानव शृंखला को सफलतापूर्वक संपन्न कराया जा सके.
बुधवार को जिला पदाधिकारी राघवेंद्र सिंह शहर के एमपी उच्च विद्यालय के चेतना सत्र में छात्र-छात्राओं को संबोधित किया. उन्होंने चेतना सत्र के दौरान छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि जल-जीवन-हरियाली सृष्टि को संचालित करने के लिए आवश्यक है. इसके लिए हम सभी को समन्वित प्रयास करना होगा. जल व हरियाली बचाने के लिए सभी का साथ जरूरी है.
जल-जीवन-हरियाली तीनों ही शब्द एक दूसरे से संबंधित है. किसी एक के बिना धरती पर जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है. छात्रों को उन्होंने प्राकृतिक संसाधनों की संरक्षण करने एवं जीवन में ज्यादा से ज्यादा पौधा लगाने को कहा. जिससे भविष्य में होने वाले प्राकृतिक असंतुलन को रोका जा सके. इसके अलावा छात्र-छात्राओं को नशा नहीं करने की सलाह दी.
इसके साथ ही उन्होंने छात्र-छात्राओं को 19 जनवरी को सामाजिक कुरीतियों को दूर करने के लिए मानव शृंखला में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने एवं अपने अभिभावकों को भी शामिल करने को कहा, जिससे भविष्य में होने वाले जलवायु परिवर्तन की खतरे को समाप्त किया जा सके. चेतना सत्र के दौरान विद्यालय के प्रधानाध्यापक डॉ विजय कुमार मिश्रा, अरविंद कुमार यादव समेत अन्य शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मी शामिल रहे.
मानव शृंखला के लिए बच्चों ने लिखा स्लोगन: केसठ. आगामी 19 जनवरी को मानव शृंखला की तैयारी एवं प्रचार-प्रसार तेज कर दिया गया है. इसको लेकर प्रखंड के विभिन्न विद्यालयों में बुधवार को 6 से 10 कक्षा तक के छात्र छात्राओं से मानव शृंखला को लेकर स्लोगन लिखवाया गया.
इस दौरान छात्र-छात्राओं ने एक से बढ़कर एक सुंदर एवं आकर्षक स्लोगन लिखे. इसका नेतृत्व विद्यालय के प्रधानाध्यापक ने किया. वहीं संकुल समन्वयक मनोज कुमार ने बताया कि बच्चों के द्वारा लिखा गया आकर्षक स्थल को चयन कर बच्चों को दिया गया. स्लोगन को बच्चे अपने घर पर जाकर दीवार पर चिपकायेंगे, जिससे आने जाने वाले लोगों को जागरूक किया जा सके.
उन्होंने बताया कि इसके अलावा लोगों को जागरूक करने को लेकर रंगोली और मेहंदी‌ समेत अन्य कई प्रकार के कार्यक्रम किये जायेंगे. उन्होंने बताया कि 19 जनवरी 2020 को जल जीवन हरियाली, नशा मुक्ति, बाल विवाह एवं दहेज उन्मूलन को लेकर राज्यव्यापी मानव शृंखला बनाया जायेगा जो एक कीर्तिमान स्थापित करेगा. उन्होंने बताया कि इसकी तैयारी विद्यालय स्तर से लेकर सामाजिक स्तर पर जोर-शोर से की जा रही है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें