1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bihar news patna cm nitesh kumar bihar became the first state in the country to adopt one nation one ration card biharis living outside the state are picking up grains rdy

Bihar News: बिहार बना वन नेशन-वन राशन कार्ड अपनाने वाला देश का पहला राज्य, प्रदेश के बाहर रहने वाले बिहारी उठा रहे है अनाज

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
 बिहार बना वन नेशन-वन राशन कार्ड अपनाने वाला देश का पहला राज्य
बिहार बना वन नेशन-वन राशन कार्ड अपनाने वाला देश का पहला राज्य
फाइल फोटो

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को खाद्य अधिकारियों को दो टूक आदेश दिये हैं कि समर्थन मूल्य पर दलहन खरीद सुनिश्चित करने के लिए जल्द से जल्द आवश्यक कदम उठाये जाएं. साथ ही उन्होंने मक्का खरीदी की संभावना तलाशने के लिए भी निर्देश दिया है. सीएम ने कहा कि इसके लिए जरूरी अध्ययन करा कर निर्णय लिया जाये. उन्होंने यह आदेश दोपहर में खाद्य विभाग की समीक्षा बैठक में दिये. बैठक में विभाग के सचिव विनय कुमार ने बताया कि बिहार वन नेशन-वन राशन कार्ड अपनाने वाला बिहार पहला राज्य बन गया है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अफसरों को हिदायत दी है कि एक भी पात्र व्यक्ति बना राशन कार्ड के नहीं रहना चाहिए. सभी पात्र के राशन कार्ड बनाना सुनिश्चित किया जाये. जन वितरण प्रणाली की सुविधाओं की समीक्षा करते हुए उन्होंने साफ किया कि प्रदेश को सार्वजनिक वितरण प्रणाली की खामियों को पूरी तरह खत्म कर दिया जाये. खाद्य मंत्री लेसी सिंह की मौजूदगी में हुई इस समीक्षा बैठक के दौरान खाद्य विभाग के सचिव विनय कुमार ने विभागीय ब्योरा प्रस्तुत करते हुए वन नेशन वन कार्ड योजना के प्रभावी क्रियान्वयन की जानकारी साझा की.

बताया कि प्रदेश के बाहर रहने वाली बिहारी वन नेशन वन कार्ड के जरिये अनाज उठा रहे हैं. बताया कि विभाग ऐसे दिव्यांग या बुजुर्ग जो राशन खरीदी के लिए जन वितरण केंद्र तक नहीं आ सकते, उन्हें पोस मशीन के जरिये घर पर ही अनाज दिया जा रहा है. जन वितरण प्रणाली के प्रत्येक डॉटा को पब्लिक डोमेन में डाल दिया गया है. उल्लेखनीय है कि दलहन खरीदी के लिए सरकार पहले ही औपचारिक घोषणा कर चुकी है. हालांकि मक्का खरीदी किस तरह की जाये, इसकी प्रक्रिया अभी निर्धारित की जानी है.

एक अप्रैल से आंगनवाड़ी एवं मध्याह्न भोजन में फोर्टिफाइड अनाज दिया जायेगा. खाद्य विभाग के सचिव विनय कुमार ने मुख्यमंत्री के सामने प्रेजेंटेशन देते हुए बताया कि एक अप्रैल से प्रदेश के सभी आंगनवाड़ी केंद्रों एवं स्कूलों के मध्याह्न भोजन में फोर्टिफाइड अनाज युक्त भोजन दिया जायेगा.

इस तरह का अनाज से रक्त की कमी, दृष्टि में कमजोरी और हड्डियां के कमजोर होने एवं लगातार फ्रैक्चर सहित अन्य गंभीर बीमारियों को दूर करने में सहायक सिद्ध होता है. दरअसल पोषक तत्व प्रदान करने में फोर्टिफाइड फूड अहम होते हैं. इस तरह के अनाज की पहली बार व्यवस्था की जा रही है. बैठक में मुख्य सचिव दीपक कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, मुख्यमंत्री के सचिव मनीष कुमार वर्मा एवं अनुपम कुमार एवं खाद्य विभाग के अन्य वरिष्ठ अफसर मौजूद रहे.

Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें