अलगाववादियों से मुलाकात पर भड़का भारत,पाकिस्‍तान से वार्ता रद्द

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली: भारत ने कडा कदम उठाते हुए पाकिस्तान के साथ अगले सप्ताह होने वाली विदेश सचिव स्तर की वार्ता को रद्द कर दिया है और पडोसी देश को बेलाग संदेश दिया है कि वह कश्मीरी पृथकतावादियों के साथ बात करके भारत के अंदरुनी मामलात में दखलंदाजी कर रहा है, जो ‘‘अस्वीकार्य’’ है.

विदेश सचिव सुजाता सिंह ने पाकिस्तान से साफ तौर पर कहा था कि वह इस बात का चुनाव कर ले कि उसे भारत से बात करनी है या पृथकतावादियों से, इसके बावजूद यहां पाकिस्तान के आला दूत ने पृथकतावादियों से बात की. भारत ने कहा, ‘‘इसलिए, मौजूदा हालात में..भारतीय विदेश सचिव के अगले सप्ताह इस्लामाबाद जाने से कोई मकसद हल नहीं होगा.’’

विदेश मंत्रालय में प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने पीटीआई को बताया, ‘‘भारतीय विदेश सचिव ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त (अब्दुल बासित) को साफ और बेलाग अंदाज में कह दिया था कि भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने के पाकिस्तान के निरंतर प्रयास अस्वीकार्य हैं.’’उन्होंने कहा, ‘‘इस बात को रेखांकित किया गया था कि पाकिस्तानी उच्चायोग की हुर्रियत के इन तथाकथित नेताओं के साथ मुलाकात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा मई में सत्ता संभालने के ठीक पहले दिन शुरु किए गए सार्थक कूटनीतिक प्रयासों को कमजोर करेगी.’’

सिंह को 25 अगस्त को अपने पाकिस्तानी समकक्ष एजाज चौधरी के साथ बात करने इस्लामाबाद जाना था. नियंत्रण रेखा के आसपास की घटनाओं के चलते दोनो देशों के बीच बातचीत का सिलसिला तकरीबन दो साल पहले थम गया था.

* वार्ता और विवाद

विदेश सचिव सुजाता सिंह को 25 अगस्त को अपने पाकिस्तानी समकक्ष एजाज चौधरी के साथ बात करने इसलामाबाद जाना था. नियंत्रण रेखा के आसपास की घटनाओं के चलते दोनों देशों के बीच बातचीत का सिलसिला तकरीबन दो साल पहले थम गया था. इसे पहले रविवार को पाकिस्तानी उच्चायुक्त ने कश्मीर के पृथकतावादी नेताओं को सलाह मशवरे के लिए दिल्ली आमंत्रित किया था.

* पाक को झटका

इसलामाबाद. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह भारत के साथ अच्छे रिश्ते बनाने के हमारे नेतृत्व द्वारा किये जा रहे प्रयासों के लिए एक झटका है. यह चलन रहा है कि वार्ता से पहले कश्मीरी नेताओं के साथ बैठक की जाती है.

- अलगाववादियों से बात करें या फिर हमसे

।। सुजाता सिंह विदेश सचिव ।।

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें