26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बजट 2023: विपक्ष को भी रास आया Budget, टैक्स में छूट पर MODI सरकार की वाहवाही, पढ़ें खास बातें

बजट 2023: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में बजट पेश कर दिया है. उन्होंने इस दौरान कई बड़ी घोषणाएं की. नई कर व्यवस्था में अधिभार दर की उच्चत दर 37 प्रतिशत से घटाकर 25 प्रतिशत किया गया है. वहीं अब सात लाख रुपये तक के आय वालों को कोई कर नहीं देना होगा. आयकर स्लैब की संख्या छह से घटाकर पांच की गयी है. तीन से छह लाख रुपये पर 5 प्रतिशत और छह से नौ लाख रुपये पर 10 प्रतिशत, नौ लाख रुपये से 12 लाख रुपये पर 15 प्रतिशत और 12 लाख रुपये से 15 लाख रुपये 20 प्रतिशत और 15 लाख रुपये से अधिक की आय पर 30 प्रतिशत कर का प्रावधान किया गया है. जानें बजट की बड़ी बातें यहां

लाइव अपडेट

अनुराग ठाकुर बोले- बजट से देश के सभी क्षेत्रों और हर राज्य के लोगों को होगा फायदा

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने बजट 2023 पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, अमृत काल के पहले बजट ने भारत के उज्जवल भविष्य का मजबूत आधार तैयार किया है. इस बजट से देश के सभी क्षेत्रों और हर राज्य के लोगों को फायदा होगा. हमारे युवाओं को देने के लिए इसमें बहुत कुछ है. यह भारत को आगे ले जाने वाला बजट है.

ममता बनर्जी ने बजट को बताया गरीब विरोधी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने Union Budget 2023 को गरीब विरोधी बताया. उन्होंने कहा, बजट भविष्यवादी नहीं है. यह पूरी तरह अवसरवादी बजट है. आसमान छूती महंगाई के बीच इनकम टैक्स में छूट का क्या फायदा? बजट में बेरोजगार लोगों के लिए कोई प्रस्ताव नहीं है.

पी चिदंबरम बोले- बजट से किसी को कुछ फायदा नहीं हुआ

कांग्रेस सांसद पी चिदंबरम ने कहा, इस बजट से किसे फायदा हुआ है? निश्चित रूप से, गरीब को नहीं, नौकरी की तलाश कर रहे युवा को नहीं, नौकरी से निकाले जाने वाले युवा को नहीं, करदाता को नहीं और गृहिणी को भी नहीं. उन्होंने आगे कहा, वित्त मंत्री ने अपने भाषण में कहीं भी बेरोजगारी, गरीबी, असमानता या समानता जैसे शब्दों का जिक्र नहीं किया. बजट से पता चलता है कि सरकार लोगों की आजीविका, उनकी चिंताओं, अमीर और गरीब के बीच बढ़ती असमानता के बारे में परवाह नहीं करती है.

बजट देश के 140 करोड़ लोगों के लिए वरदान : केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल

केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, यह बजट इस देश में रहने वाले 140 करोड़ लोगों के लिए वरदान है. यह एक ऐसा बजट है जो सभी क्षेत्रों के लोगों के बारे में सोचता है और रोजगार का एक स्रोत होगा. देश की अर्थव्यवस्था को संभालने में पीएम मोदी की भूमिका को दुनिया ने सराहा.

रेलवे के लिए 2.41 लाख करोड़ रुपये आवंटित किए गए, यह बड़ा बदलाव, बोले- रेल मंत्री

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा, रेलवे के लिए 2.41 लाख करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं. यह एक बड़ा बदलाव है और यह यात्रियों की आकांक्षाओं को पूरा करेगा.

संजय सिंह बोले- आम आदमी के लिए नहीं यह प्रधानमंत्री मोदी के लिए ‘अमृत काल’ है

आम आदमी पार्टी (आप) ने 2014 से प्रति व्यक्ति आय दोगुनी करने के केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के दावे पर बुधवार को सवाल उठाते हुए कहा कि यह देश के आम लोगों के लिए नहीं बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए ‘अमृत काल’ है.

खरगे बोले- बजट 2-4 राज्यों के चुनाव को देखते हुए पेश किया गया

कांग्रेस के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा, बजट 2-4 राज्यों के चुनाव को देखते हुए पेश किया गया है. यह बजट नहीं इलेक्शन स्पीच है. उनकी जो भी बातें उन्होंने बाहर कही है वैसे जुमले इस बजट में डालकर इसका पुनरुच्चार किया है. बजट में महंगाई और मुद्रा स्फीति में इजाफा है जिसपर ध्यान देना चाहिए था.

बजट से महिलाओं का सम्मान बढ़ा

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि इस बजट से महिला का सम्मान बढ़ा, बच्चों और किशोरों के लिए डिजिटल लाइब्रेरी की घोषणा से ज़िला स्तर पर बच्चे कैसे पढ़ेंगे और बढ़ेंगे इसका उल्लेख किया गया है. नारी शक्ति एक सशक्त राष्ट्र का निर्माण कैसे कर सकती है इसका प्रतिबिंब आज के बजट में दिखता है.

संविधान से आंखें मूंद कर स्तुति गान वाला बजट

RJD सांसद मनोज झा ने कहा कि मैंने वित्त मंत्री को कई बार कहा है कि जब भी बजट बनाए तो अनुच्छेद 39 को देख लें. संविधान से आंखें मूंद कर स्तुति गान वाला बजट बनाते हैं तो कुछ हासिल नहीं होगा. रोजगार के लिए आपने गोल-गोल बातें की. ये बजट खास लोगों का खास लोगों द्वारा खास तरह से बनाया बजट है.

अमृतकाल का पहला बजट बहुत क्रांतिकारी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि अमृतकाल का पहला बजट बहुत क्रांतिकारी है, ये समाज के हर वर्ग को राहत देने वाला है. विशेषकर मध्यम वर्ग को आयकर में राहत दी गयीहै, जो टैक्स स्लैब बनाया गया है वो राहत देने वाला है। युवा, महिला, वरिष्ठ नागरिक सभी को इस बजट में राहत दी गयी है.

केवल फैंसी घोषणाएं

कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि यह बजट देश की वास्तविक भावना को संबोधित नहीं कर रहा है जो कि महंगाई और बेरोजगारी है. इसमें केवल फैंसी घोषणाएं थीं जो पहले भी की गई थीं लेकिन कार्यान्वयन के बारे में क्या? पीएम किसान योजना से सिर्फ बीमा कंपनियों को फायदा हुआ किसानों को नहीं.

मध्यम वर्ग पीएम मोदी का कर रहा है धन्यवाद

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि जिस तरह से मध्यम वर्ग की प्रतिक्रिया आ रही है उससे पता चल रहा है कि उनमें कितना उत्साह है. वर्षों से मध्यम वर्ग का जो लंबित विषय था उसे लेकर मध्यम वर्ग प्रधानमंत्री का धन्यवाद कर रहा है.

अच्छा बजट पेश किया गया

केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा कि हम बहुत खुश हैं कि इतना अच्छा बजट पेश किया गया है. भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने कहा कि आम आदमी के लिए ये बजट बहुत अच्छा है, ये एक ऐतिहासिक कदम है. मध्यम वर्ग को इस बजट से बहुत राहत मिलेगी.

बजट से मजबूत नींव का निर्माण होगा : पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि बजट से मजबूत नींव का निर्माण होगा. बजट से हर वर्ग का सपना पूरा होगा. बजट में कई उत्साह वाली योजनाएं हैं.

बजट 2023: सिगरेट का कश लेना हुआ महंगा, जानें सरकार ने किन चीजों को किया सस्ता

बजट में कुछ चीजें अच्छी थी

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि बजट में कुछ चीजें अच्छी थी मैं इसे पूरी तरह नकारात्मक नहीं कहूंगा, लेकिन अभी भी कई सवाल उठते हैं. बजट में मनरेगा का कोई जिक्र नहीं था. सरकार मजदूरों के लिए क्या करने जा रही है? बेरोजगारी, महंगाई की बात भी नहीं की गयी.

अमृतकाल में ये हमारा रोडमैप

केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने कहा कि मुझे लगता है अमृतकाल में ये हमारा रोडमैप है, हम दुनिया में अपनी अर्थव्यवस्था को 10वें से 5वें स्थान पर ले आए इससे बेहतर और कुछ नहीं हो सकता है.

बजट में अगले 25 सालों की नींव

केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने कहा कि पिछले बजट को आधार लेकर आगे बढ़ने की कोशिश की गयी है. इसके अंदर अगले 25 सालों के लिए भारत कैसे आगे बढ़े उसकी नींव रखी गयी है.

टैक्स में कटौती का स्वागत

कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने कहा कि बजट का एक बड़ा हिस्सा राष्ट्रपति के अभिभाषण और आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट की पुनरावृत्ति है. टैक्स में किसी भी तरह की कटौती का स्वागत है. लोगों के हाथ में पैसा देना अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने का सबसे अच्छा तरीका है.

बजट 2023:  फारूक अब्दुल्ला ने क्या कहा

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि बजट में मध्यम वर्ग को मदद दी गयी है, सबको कुछ न कुछ दिया गया है. डेढ़ घंटे तक हमने बजट सुना अब हम इसपर बात करेंगे जब मौका आएगा.

बजट 2023 : किसानों को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का तोहफा, 2.2 लाख करोड़ रुपये किए जाएंगे ट्रांसफर

बजट 2023: व्यक्तिगत आयकर की नयी टैक्स दर

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि व्यक्तिगत आयकर की नयी टैक्स दर 0 से 3 लाख रुपये तक शून्य, 3 से 6 लाख रुपये तक 5%, 6 से 9 लाख रुपये 10%, 9 से 12 लाख रुपये 15%, 12 से 15 लाख रुपये तक 20% और 15 लाख से ऊपर 30% रहेगी. उन्होंने कहा कि 7 लाख तक सालाना कमाने वालो को कोई कर नहीं देना होगा. 3 करोड़ के टर्नओवर वाले माइक्रो उद्योग को कर में छूट दी जाएगी.

बजट 2023 : वेतनभोगियों को वित्त मंत्री ने दी बड़ी राहत, नई कर व्यवस्था के तहत 7 लाख रुपये टैक्स फ्री

बजट 2023: सिगरेट पर आकस्मिकता शुल्क को 16 फीसदी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सिगरेट पर आकस्मिकता शुल्क को 16 फीसदी बढ़ाया गया. उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय हवाई संपर्क में सुधार के लिए 50 अतिरिक्त हवाई अड्डों, हेलीपॉड्स, वाटर एयरोड्रोम और उन्नत लैंडिंग ग्राउंड का पुनरुत्थान किया जाएगा.

बजट 2023:  सात लाख रुपये तक के आय वालों को कोई कर नहीं देना होगा

नयी कर व्यवस्था का ऐलान किया गया है. अब सात लाख रुपये तक के आय वालों को कोई कर नहीं देना होगा. वित्त मंत्री ने कहा कि अभी यह सीमा 5 लाख रुपये थी.

Union Budget 2023: 'कैमरा, TV हुए सस्ते, सिगरेट पीना हुआ महंगा', पढ़ें वित्त मंत्री के भाषण की 55 अहम बातें

बजट 2023: एक नजर में ; क्या सस्ता, क्या महंगा होगा?

- खिलौने, साइकिल, ऑटोमोबाइल सस्ते होंगे

- इलेक्ट्रोनिक वाहन सस्ते होंगे

- विदेश से आने वाली चांदी की चीजें महंगी होंगी.

- देशी किचन चिमनी महंगी होगी

- कुछ मोबाइल फोन, कैमरे के लेंस सस्ते होंगे.

- सिगरेट महंगी होगी

बजट 2023: सोना, चांदी और प्लेटिनियम भी महंगा

बजट के बाद सिगरेट भी महंगा होने वाला है. सोना, चांदी और प्लेटिनियम भी महंगा होगा क्योंकि इसपर कस्टम ड्यूटी बढ़ा दी गयी है.

बजट 2023: आयात पर सीमा शुल्क में छूट

वित्त मंत्री ने कहा कि हरित परिवहन को बढ़ावा देने के लिये आयात पर सीमा शुल्क में छूट दी जाएगी. वित्तीय क्षेत्र के नियामकों को विभिन्न आवेदनों पर कार्रवाई के लिए समयसीमा तय की जाएगी. 2022-2023 के लिए संशोधित राजकोषीय घाटा सकल घरेलू उत्पाद का 6.4% है. 2023-2024 के लिए राजकोषीय घाटा सकल घरेलू उत्पाद का 5.9% रहने का अनुमान है.

Budget 2023: मोदी सरकार 2.0 का अंतिम बजट जारी, सत्ता पक्ष ने सराहा, जानिए विपक्ष ने क्या दी प्रतिक्रिया

वरिष्ठ नागरिक खाता स्कीम की सीमा 4.5 लाख से 9 लाख

वित्त मंत्री ने कहा कि वरिष्ठ नागरिक खाता स्कीम की सीमा 4.5 लाख से 9 लाख की जाएगी. महिला सम्मान बचत पत्र योजना शुरू होगी। इसमें महिलाओं को 2 लाख की बचत पर 7.5% का ब्याज़ मिलेगा.

बजट 2023-24: 'समावेशी विकास' समेत 7 प्राथमिकताओं पर काम करेगी सरकार, बजट में बोलीं वित्त मंत्री

खिलौने, साइकिल और ऑटोमोबाइल सस्ते होंगे

सीतारमण ने कहा कि खिलौने, साइकिल और ऑटोमोबाइल सस्ते होंगे. उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहन सस्ते होंगे. बैटरी का आयात शुल्क घटेगा. चुनिंदा चीजों पर 13 प्रतिशत सीमा शुल्क लगेगा. कुछ मोबाइल फोन और लेंस सस्ते होंगे.

बैंकिंग सेक्टर के लिए सरकार की नयी योजना

सीतारमण ने कहा कि बैंकिंग एक्ट में कुछ सुधार का प्रावधान है. बैंकिंग सेक्टर के लिए सरकार की नयी योजना है.

बजट में 'हरित वृद्धि' पर ध्यान

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि शहरों को म्यूनिसिपल बॉन्ड के लिए प्रेरित किया जाएगा. वित्त मंत्री ने कहा कि शीर्ष शिक्षण संस्थानों में कृत्रिम मेधा के लिए तीन उत्कृष्टता केंद्र स्थापित किए जाएंगे. उन्होंने कहा कि वाहन कबाड़ नीति के लिये पर्याप्त कोष का प्रावधान किया जाएगा. सरकार राष्ट्रीय डाटा संचालन नीति लाएगी. बजट में 'हरित वृद्धि' पर ध्यान, जीवाश्म ईंधन का इस्तेमाल घटाने के लिए 19,700 करोड़ रुपये के कोष से कार्यक्रम चलाया जाएगा.

10 लाख करोड़ का खर्च जीडीपी का 3.3 प्रतिशत

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि ठेकों से जुड़े विवादों के निपटान के लिये स्वैच्छिक समाधान योजना लायी जाएगी. बुनियादी ढांचा विकास के लिए बढ़ाया गया 10 लाख करोड़ का खर्च जीडीपी का 3.3 प्रतिशत है. उन्होंने कहा कि बजट में ई-अदालतों के गठन का तीसरे चरण शुरू करने के लिए 7,000 करोड़ रुपये का प्रावधान है. हरित वृद्धि को बढ़ावा देने के लिये हरित ऋण कार्यक्रम शुरू किया जाएगा. इंजीनियरिंग संस्थानों में 5जी सेवाओं पर आधारित 100 प्रयोगशालाएं स्थापित की जाएंगी, नए कारोबारी अवसरों और रोजगार सृजन का आधार तैयार होगा.

महामारी से प्रभावित MSME को राहत दी जाएगी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि महामारी से प्रभावित MSME को राहत दी जाएगी. संविदागत विवादों के निपटान के लिए स्वैच्छिक समाधान योजना लाई जाएगी.

पैन कार्ड का पहचान पत्र के तौर पर होगा इस्तेमाल

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पैन कार्ड को पहचान पत्र के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकेगा. उन्होंने कहा कि epfo सदस्यता में दोगुनी वृद्धि, जो अब 27 करोड़ है, से यह परिलक्षित होता है कि अब अर्थव्यवस्था बहुत अधिक औपचारिक हो गई है. UPI के माध्यम से 2022 में 126 लाख करोड़ रुपये के 7,400 डिजिटल भुगतान हुए.

पूंजी निवेश परिव्यय 33% बढ़ाकर 10 लाख करोड़ रुपये

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पूंजी निवेश परिव्यय 33% बढ़ाकर 10 लाख करोड़ रुपये किया जा रहा है, जो कि सकल घरेलू उत्पाद का 3.3% होगा. उन्होंने कहा कि मोटे अनाजों को 'श्री अन्न' का नाम दिया जाएगा, भारत को वैश्विक केंद्र बनाने के लिए हैदराबाद स्थित उत्कृष्टता केंद्र काम करेगा. राज्यों और शहरों को नगरीय योजना बनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा. 5जी के लिए 100 लैब स्थापित किये जाएंगे. पीएम सुरक्षा योजना से 44 करोड़ लोगों को लाभ मिला.

डिजीलॉकर का इस्तेमाल बढ़ाया जाएगा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि डिजीलॉकर का इस्तेमाल बढ़ाया जाएगा. केवाईसी की प्रक्रिया आसान बनायी जाएगी. केंद्र राज्य सरकारों को एक और साल तक 50 साल के लिए ब्याज रहित ऋण देना जारी रखेगा.

पीएम आवास योजना का फंड बढ़ाया जाएगा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पीएम आवास योजना के परिव्यय को 66% बढ़ाकर 79,000 करोड़ किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि विशेष रूप से जनजातीय समूहों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए PMPBTG विकास मिशन शुरू किया जाएगा, ताकि PBTG बस्तियों को मूलभूत सुविधाएं दी जा सके. अगले 3 साल में योजना को लागू करने के लिए 15,000 करोड़ उपलब्ध कराए जाएंगे. 2014 से स्थापित मौजूदा 157 मेडिकल कॉलेजों के साथ सहस्थान में 157 नए नर्सिंग कॉलेज स्थापित किए जाएंगे.

रेलवे में प्राइवेट सेक्टर की भागीदारी

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि रेलवे में प्राइवेट सेक्टर की भागीदारी होगी. उन्होंने कहा कि एकलव्य मॉडल आवासीय स्कूलों के लिए 38,800 शिक्षकों की भर्ती की जाएगी. घरेलू गैस के 9.6 करोड़ कनेक्शन दिये गये, 102 करोड़ लोगों को कोरोना का वैक्सीन लगाया गया.

रेलवे के लिए 2.4 लाख का बजट

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि रेलवे के लिए 2.4 लाख का बजट है. इसमें 75 हजार करोड़ नयी योजनाओं पर खर्च किया जाएगा. उन्होंने कहा कि राज्यों की सक्रिय भागीदारी और सार्वजनिक निजी भागीदारी के साथ पर्यटन को मिशन मोड में आगे बढ़ाया जाएगा.

सरकार 2,200 करोड़ रुपये से आत्मनिर्भर स्वच्छ योजना कार्यक्रम शुरू करेगी

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि सरकार 2,200 करोड़ रुपये से आत्मनिर्भर स्वच्छ योजना कार्यक्रम शुरू करेगी. उन्होंने कहा कि पीएम विश्व कर्म कौशल सम्मान पैकेज की परिकल्पना पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों के लिए की गयी है, जो उन्हें एमएसएमई मूल्य श्रृंखला के साथ एकीकृत करते हुए अपने उत्पादों की गुणवत्ता, पैमाने और पहुंच में सुधार करने में सक्षम बनाएगा. पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन पर ध्यान देते हुए कृषि ऋण लक्ष्य को बढ़ाकर 20 लाख करोड़ रुपये किया जाएगा.

‘पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान’ योजना शुरू करने की घोषणा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि बजट में परंपरागत हस्तशिल्प कारीगरों के लिए ‘पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान’ योजना शुरू करने की घोषणा, वित्तीय समर्थन के अलावा प्रौद्योगिकी मदद भी दी जाएगी. कृषि ऋण लक्ष्य वित्त वर्ष 2023-24 के लिए बढ़कर 20 लाख करोड़ रुपये। इसमें पशु पालन, दुग्ध उद्योग और मछली पालन पर ध्यान दिया जाएगा. अच्छी पुस्तकें उपलब्ध कराने लिये राष्ट्रीय डिजिटल पुस्तकालय गठित किया जाएगा.

कृषि से जुड़े स्टार्ट अप को प्राथमिकता दी जाएगी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कृषि से जुड़े स्टार्ट अप को प्राथमिकता दी जाएगी. युवा उद्यमियों द्वारा कृषि-स्टार्टअप को प्रोत्साहित करने के लिए कृषि त्वरक कोष की स्थापना की जाएगी. उन्होंने कहा कि हमारा आर्थिक एजेंडा नागरिकों के लिए अवसरों को सुविधाजनक बनाने, विकास और रोज़गार सृजन को तेज़ गति प्रदान करने और व्यापक आर्थिक स्थिरता को मज़बूत करने पर केंद्रित है.

अंत्योदय योजना के तहत गरीबों के लिए मुफ्त खाद्यान्न की आपूर्ति

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 2 लाख करोड़ रुपये केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है. अंत्योदय योजना के तहत गरीबों के लिए मुफ्त खाद्यान्न की आपूर्ति को एक वर्ष के लिए बढ़ा दिया गया है.

बजट की सात प्राथमिकताएं हैं

वित्त मंत्री ने कहा कि बजट की सात प्राथमिकताएं हैं, जिसमें समावेशी वृद्धि, हरित विकास, युवा शक्ति, वित्तीय क्षेत्र, अंतिम छोर तक पहुंच, बुनियादी ढांचे का विकास और क्षमताओं का पूरा इस्तेमाल शामिल है. उन्होंने कहा कि औषधि क्षेत्र में शोध को बढ़ावा देने के लिये नया कार्यक्रम शुरू किया जाएगा.

एग्रीकल्चर एक्सीलेटर फंड बनाया जाएगा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कृषि से जुड़े स्टार्ट अप्स को प्राथमिकता हमारी सरकार देने का काम करेगी. इसके लिए युवा उद्यमियों द्वारा कृषि-स्टार्टअप्स को प्रोत्साहित करने के लिए एग्रीकल्चर एक्सीलेटर फंड बनाया जाएगा.

डिजिटल पुस्तकालय पर क्या कहा वित्त मंत्री ने

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि बच्चों और किशोरों को डिजिटल पुस्तकालय उपलब्ध कराया जाए जहां क्षेत्रिय भाषा में पुस्तक उपलब्ध होगा.

Union Budget 2023: 'कृषि के स्टार्ट अप को बढ़ावा देंगे', पढ़ें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के भाषण की अहम बातें

किसानों पर मोदी सरकार का फोकस

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि किसान क्रेडिट कार्ड से किसानों को बहुत लाभ मिल रहा है. बागवानी योजना के लिए 2200 करोड़ का प्रावधान है. किसानों को खेती के लिए विशेष फंड दिया जाएगा. ग्रीन ग्रोथ सरकार की प्राथमिकता में है.

मोटे अनाज को बढ़ावा देने पर सरकार का ध्यान

कृषि क्षेत्र में तकनीक पर जोर दिया जाएगा. मोटे अनाज को बढ़ावा देने पर हमारी सरकार का जोर है. रोजगार बढ़ाने पर सरकार का ध्यान है.

अर्थव्यवस्था दुनिया में 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

वित्त मंत्री ने कहा कि 2014 से सरकार के प्रयासों ने सभी नागरिकों के जीवन की बेहतर गुणवत्ता और गरिमापूर्ण जीवन सुनिश्चित किया है. प्रति व्यक्ति आय दोगुनी से अधिक बढ़कर 1.97 लाख रुपये हो गयी है. इन 9 वर्षों में, भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया में 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में बढ़ी है.

हमारी अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 7% रहने का अनुमान

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए कहा कि महिलाओं को आर्थिक सशक्तीकरण किया गया. प्रति व्यक्ति आया दोगुनी हुई है. अर्थव्यवस्था पहले से ज्यादा मजबूत हुई है. तकनीकी आधारित अर्थव्यवस्था पर हमारा जोर है. उन्होंने कहा कि वर्तमान वर्ष के लिए हमारी अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 7% रहने का अनुमान है, यह विश्व की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे अधिक है. भारतीय अर्थव्यवस्था सही रास्ते पर है और उज्ज्वल भविष्य की ओर बढ़ रही है.

हर व्यक्ति को खाद्यान सुनिश्चित

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए कहा कि दुनिया में भारत का कद बढ़ा है. भारतीय अर्थव्यवस्था सही दिशा में चल रही है और सुनहरे भविष्य की ओर हमारा देश अग्रसर है. हमने कोरोना काल में यह सुनिश्चित किया कि कोई भी भूखा न सोए. सरकार ने 2 लाख करोड़ रुपये खर्च करके हर व्यक्ति को खाद्यान सुनिश्चित किया. 28 महीने तक 80 करोड़ लोगों को फ्री राशन की व्यवस्था हमारी सरकार ने की.

यह अमृतकाल का पहला बजट

निर्मला सीतारमण बजट पेश कर रही हैं. उन्होंने कहा कि यह अमृतकाल का पहला बजट है. उन्होंने कोविड काल में मुफ्त अनाज दिये जाने का जिक्र किया और कहा कि ये योजना इस साल दिसंबर तक जारी रहेगा.

हमारी अर्थव्यवस्था को दुनिया ने चमकता सितारा माना

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था को दुनिया ने चमकता सितारा माना है. भारतीय अर्थव्यवस्था चुनौतियों के बाद भी सही राह पर है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में पेश कर रहीं हैं बजट

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में बजट पेश कर रहीं हैं. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वित्त वर्ष 2023-24 का बजट पेश करने के लिए बीते दो वर्षों की तरह, बुधवार को बही-खाते के समान पारंपरिक लाल रंग के बैग में टैबलेट लेकर संसद भवन पहुंचीं हैं.

बजट पेश करने संसद पहुंचीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, लाल साड़ी में आयीं नजर, फोटो देखें

Budget 2023: बोले खरगे-बजट के बाद ही देंगे प्रतिक्रिया

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे संसद भवन पहुंच चुके हैं. उन्होंने कहा कि बजट पेश होने के बाद ही हम अपनी प्रतिक्रिया दे सकते हैं.

Budget 2023 Uttar Pradesh LIVE: बजट से उत्तर प्रदेश को काफी उम्मीदें, आज यूपी को मिल सकती हैं कई बड़ी सौगात

संसद में कैबिनेट की मीटिंग खत्म, बजट पर लगी सरकार की मुहर

पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक हुई जिसमें बजट 2023-24 को मंजूरी दे दी गयी. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण कुछ देर में बजट पेश करेंगी.

Budget 2023 Bihar LIVE: केंद्रीय बजट 2023 से बिहार को विशेष उम्मीदें, संसद में कैबिनेट बैठक, जानें ताजा अपडेट

संसद में लायी गयी बजट की कॉपियां

कुछ देर में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पेश करेंगी. इससे पहले संसद में बजट की कॉपियां लायी गयी हैं.

Budget 2023: पीएम मोदी संसद भवन पहुंचे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह संसद पहुंच चुके हैं. थोड़ी देर में यहां केंद्रीय कैबिनेट की बैठक होने वाली है. इसके बाद, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सुबह 11 बजे संसद में Union Budget 2023 पेश करेंगी.

Budget 2023: अर्थशास्त्रियों ने की बजट में सोशल सुरक्षा पेंशन और मैटरनिटी लाभ में वृद्धि की मांग, जानें डिटेल

Budget 2023: केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में भाग लेने के लिए संसद पहुंचीं सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में भाग लेने के लिए संसद पहुंच चुकीं हैं. वह सुबह 11 बजे बजट 2023-24 पेश करेंगी.

Budget 2023: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद भवन पहुंचीं

राष्ट्रपति ने बजट को औपचारिक मंजूरी दे दी है. इस मंजूरी के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद भवन पहुंचीं.

Budget 2023: कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम का मोदी सरकार पर हमला

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के बेटे और कांग्रेस सांसद कार्ति चिंदबरम ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने अपने ट्विटर वॉल पर लिखा कि यूनियन बजट को एक इवेंट बना दिया गया है. मैं ऐसे समय का इंतजार कर रहा हूं जब ये केवल एक वार्षिक प्रशासनिक अभ्यास हो.

Budget 2023: राष्ट्रपति ने बजट को औपचारिक मंजूरी दी

राष्ट्रपति भवन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पहुंचीं. बजट की पहली कॉपी प्रेसिडेंट को दिखाई जाती है. राष्ट्रपति ने बजट को औपचारिक मंजूरी दे दी है.

Budget 2023: बजट से पहले शेयर बाजार का हाल

शेयर बाजार को भी इस बजट से काफी उम्मीद है. बजट से पहले शेयर बाजार में तेजी का रुख दिखा. सेसेंक्स में 250 और निफ्टी में 200 अंकों की बढ़त दिखी. शेयर बाजार खुलने के बाद अभी यानी 9.20 बजे हरे निशान पर कारोबार कर रहा है. 

Budget 2023: राष्ट्रपति को बजट की कॉपी निर्मला सीतारमण ने पेश की

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वित्त मंत्रालय से राष्ट्रपति भवन पहुंच चुकीं हैं. यहां वे बजट की कॉपी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को सौंपने का काम करेंगी. इसके बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद भवन पहुंचेंगी. जहां कैबिनेट बैठक होनी है. इसके बाद वो बजट पेश करेंगी.

बजट 2023: विपक्ष को भी रास आया Budget, टैक्स में छूट पर Modi सरकार की वाहवाही, पढ़ें खास बातें
बजट 2023: विपक्ष को भी रास आया budget, टैक्स में छूट पर modi सरकार की वाहवाही, पढ़ें खास बातें 1

बजट 2023 : टैक्स कटौती से लेकर रोजगार सृजन पर सरकार का फोकस, आज 11 बजे बजट होगा पेश

Budget 2023: वित्त मंत्रालय से निकलीं निर्मला सीतारमण, 11 बजे पेश करेंगी केंद्रीय बजट 2023

वित्त मंत्रालय से निर्मला सीतारमण निकल चुकीं हैं. वो 11 बजे पेश केंद्रीय बजट 2023 करेंगी जिसपर सबकी निगाह बनी हुई है. अब राष्ट्रपति से निर्मला सीतारमण मुलाकात करेंगी.

Budget 2023: 'बजट में सबके लिए कुछ-कुछ हो सकता है, कुछ बड़े की उम्मीद नहीं', पढ़ें सीए रघु कौशल की राय

Budget 2023: वित्त मंत्रालय का वीडियो

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट से पहले वित्त मंत्रालय पहुंचीं हैं. आज वे संसद में वित्त वर्ष 2023-24 का आम बजट पेश करेंगी. वित्त मंत्रालय का एक वीडियो सामने आया है.

Budget 2023: वित्त मंत्रालय पहुंची निर्मला सीतारमण

निर्मला सीतारमण वित्त मंत्रालय पहुंच चुकीं हैं. वह आज 11 बजे केंद्रीय बजट पेश करेंगी जिसपर पूरे देश की निगाह है.

Budget 2023: बजट समाज के हर वर्ग की उम्मीदों पर खरा

वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कहा कि बजट समाज के हर वर्ग की उम्मीदों पर खरा उतरेगा. मोदी सरकार ने हमेशा देश की जनता के हित में काम किया है.

बजट 2023: 10 बजे पीएम मोदी के नेतृत्व में कैबिनेट की बैठक

MoS Finance डॉ. भागवत कराड ने कहा कि आज सुबह 11 बजे वित्त मंत्री संसद में बजट पेश करेंगे. उससे पहले उनके नेतृत्व में मेरे सहयोगी पंकज चौधरी और सचिव सुबह 9 बजे राष्ट्रपति से मिलेंगे. सुबह 10 बजे पीएम मोदी के नेतृत्व में कैबिनेट की बैठक होगी.

UP Budget Expectations: शिक्षा-स्वास्थ्य सेक्टर को बड़ी उम्मीदें, AIIMS, IIT और IIM की मिल सकती है सौगातें...

बजट 2023: डॉ भागवत किशनराव कराड ने की पूजा

MoS Finance डॉ भागवत किशनराव कराड ने मोदी सरकार के केंद्रीय बजट 2023 की प्रस्तुति से पहले पूजा की. आपको बता दें कि 2024 के आम चुनाव से पहले यह बीजेपी सरकार का आखिरी पूर्ण बजट है.

Budget 2023: भारत को अर्थव्यवस्था में सुस्ती की चिंता करने की जरूरत नहीं, मुख्य आर्थिक सलाहकार ने जताया भरोसा

आर्थिक सर्वेक्षण 2022-23: भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बनी रहेगी

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को सदन में आर्थिक सर्वेक्षण 2022-23 पेश किया. आर्थिक सर्वेक्षण के मुताबिक, देश की अर्थव्यवस्था 2023-24 में चालू वित्त वर्ष के सात प्रतिशत की तुलना में 6.0 से 6.8 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी. सर्वे में कहा गया है कि भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बनी रहेगी. आर्थिक समीक्षा पेश किये जाने के बाद मुख्य आर्थिक सलाहकार वी अनंत नागेश्वरन ने कहा कि वित्त वर्ष 2023-24 में विपरीत चुनौतियों को छोड़ दिया जाये, तो कुल मिला कर मुद्रास्फीति के दायरे में रहने का अनुमान है.

Budget 2023 : बजट भाषण सुनने से पहले समझिए प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर के बीच का अंतर

Union Budget 2023: केंद्रीय बजट 2023 से शेयर बाजार को भी उम्मीद

संसद में पेश आर्थिक समीक्षा में चालू वित्त वर्ष की वृद्धि दर सात प्रतिशत रहने का अनुमान जताया गया है. इसमें वित्त वर्ष 2023-24 में वृद्धि दर के धीमा पड़कर 6-6.8 प्रतिशत रहने की संभावना जतायी गयी है. शेयर बाजार को भी बजट से काफी उम्मीद है. रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड के उपाध्यक्ष (तकनीकी शोध) अजित मिश्रा ने कहा कि अब सबकी नजरें केंद्रीय बजट पर टिकी हैं और हम बुधवार को बाजार में तेज उतार-चढ़ाव की उम्मीद कर रहे हैं. दो दिनों से सूचकांक का लगभग स्थिर रहना गिरावट के बाद की राहत को दर्शाता है.

बजट 2023: विपक्ष को भी रास आया Budget, टैक्स में छूट पर Modi सरकार की वाहवाही, पढ़ें खास बातें
बजट 2023: विपक्ष को भी रास आया budget, टैक्स में छूट पर modi सरकार की वाहवाही, पढ़ें खास बातें 2

Union Budget 2023: आम बजट पर 12 फरवरी तक भाजपा चलाएगी देशव्यापी अभियान

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जे पी नड्डा ने आम बजट पर चर्चा के लिए एक से 12 फरवरी तक देशव्यापी अभियान चलाने का फैसला किया है. उन्होंने इसके लिए एक नौ सदस्यीय समिति गठित की है, जिसका संयोजक बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी को बनाया गया है. इस समिति में पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री सुनील बंसल, किसान मोर्चा के अध्यक्ष राजकुमार चाहर, भाजपा युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या समेत अनेक आर्थिक विशेषज्ञों को सदस्य बनाया गया है.

दिसंबर अंत में राजकोषीय घाटा समूचे वित्त वर्ष का 60 प्रतिशत हुआ

राजस्व संग्रह में सुस्त वृद्धि से दिसंबर के अंत में सरकार का राजकोषीय घाटा समूचे वित्त वर्ष के बजट अनुमान का 59.8 प्रतिशत हो गया. वित्त मंत्रालय ने मंगलवार को यह आंकड़ा जारी किया.

आज के आर्थिक हालात वायपेयी के शासनकाल के समान

वित्त वर्ष 2022-23 की आर्थिक समीक्षा में पिछले आठ वर्षो में देश के आर्थिक हालात को 1998-2002 के अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के शासनकाल में उत्पन्न स्थितियों के समान बताया है. इसमें उम्मीद जतायी गयी है कि महामारी के वैश्विक झटकों से उबरने, जिंस कीमतों में कम बढ़ोतरी से भारतीय अर्थव्यवस्था आने वाले दशक में अपनी क्षमता से बढने के लिये पूर्ण रूप से तैयार है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें