29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

धनबाद : ठंड बढ़ने के साथ तेजी से बढ़ रहे एलर्जी के मरीज, जानें बचाव करने का सही तरीका

ठंड बढ़ने के साथ तेजी से एलर्जी के मरीज बढ़ रहे हैं. एसएनएमएमसीएच व सदर अस्पताल के ओपीडी में हर दिन औसतन 100 से ज्यादा विभिन्न प्रकार के एलर्जी से ग्रसित मरीज पहुंच रहे है.

ठंड बढ़ने के साथ तेजी से एलर्जी के मरीज बढ़ रहे हैं. एसएनएमएमसीएच व सदर अस्पताल के ओपीडी में हर दिन औसतन 100 से ज्यादा विभिन्न प्रकार के एलर्जी से ग्रसित मरीज पहुंच रहे है. सदर अस्पताल के सीनियर फिजिशियन डॉ राजीव कुमार सिंह के अनुसार सर्दी के मौसम में तापमान में गिरावट के कारण हवा से एलर्जी के तत्व जल्दी नहीं हटते. इससे, सर्दी, खांसी, नाक बहना, स्किन एलर्जी, अस्थमा के साथ और भी कई तरह की एलर्जी हो सकती है. ठंड से बचने के लिए लिए लोग बंद जगह पर ज्यादा वक्त गुजारना पसंद करते है, यह भी एलर्जी का बड़ा कारण है. लंबे समय तक बंद घर में रहने से हवा में मौजूद धूल के कण, फफूंद, पालतू जानवरों की रूसी और कॉकरोच ड्रॉपिंग एलर्जी का कारण बनते हैं. संवेदनशील स्किन वाले लोगों को स्किन एलर्जी का खतरा ज्यादा रहता है. सर्दी में रक्त नलिकाएं सिकुड़ जाती हैं. इससे हाथ व पैर में ब्लड सर्कुलेशन बाधित होता है.

जानिए, क्या है एलर्जी

डॉ राजीव कुमार सिंह ने बताया कि एलर्जी किसी खाने की चीज, पालतू जानवर, मौसम में बदलाव, कोई फूल-फल-सब्जी के सेवन, खुशबू, धूल, धुआं, दवा यानी किसी भी चीज से हो सकती है. इस स्थिति में हमारा इम्यून सिस्टम कुछ खास चीजों को स्वीकार नहीं कर पाता और नतीजा ऐसे रिएक्शन के रूप में दिखता है. 

एलर्जी के लक्षण

ठंड के मौसम में नाक बहना, सर्दी-जुकाम होना एलर्जी के लक्षण है. एलर्जी की वजह से शरीर में लाल-लाल चकत्ते, नाक और आंखों से पानी बहना, जी मितलाना, उलटी होना या फिर सांस तेज चलने से लेकर बुखार तक हो सकता है.

ऐसे करें बचाव

अगर आपको धूल मिट्टी या फिर धुएं से एलर्जी है, तो घर से बाहर निकलते समय नाक पर रुमाल या फिर मास्क का इस्तेमाल करें. घर में साफ-सफाई के लिए वैक्यूम क्लीनर का इस्तेमाल करें. सर्दी में अपनी डाइट का विशेष ध्यान रखें. मौसमी फल, हरी सब्जी, गाजर आदि का सेवन करें और पानी पर्याप्त मात्रा में पीएं. स्किन को एलर्जी से बचाने के लिए रात में सोने से पहले बॉडी पर मॉइश्चराइजर लगाएं, इससे त्वचा में नमी बरकरार रहेगी. पर्दे, चादर, बेडशीट व कालीन को नमी से बचाने के लिए धूप में रखें, ताकि इस्तेमाल होने वाली इन चीजों से आपको एलर्जी नहीं हो सके. पालतू जानवरों से दूर रहें, जानवरों को एलर्जी है, तो घर में नहीं रखें.

Also Read: धनबाद : सदर अस्पताल में नहीं होती है खून की जांच, इलाज से पहले बाहर भेजे जाते हैं मरीज

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें