कांग्रेस: ट्रायल में चल रही कमेटी, बदल जाते हैं चेहरे

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
मीडिया कमेटी में आने की मारा-मारीकभी संयोजक बदले, कभी नेताओं ने कमेटी से पीछा छुड़ायावरीय संवाददातारांची : प्रदेश कांग्रेस की मीडिया कमेटी ट्रायल में चलती है. महीने-दो महीने में कमेटी का स्वरूप बदल जाता है. सोमवार को कांग्रेस मीडिया कमेटी का छठी बार पुनर्गठन किया गया. हर बार चेहरे बदल जाते हैं. विधायक से लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को मीडिया टीम में रखा गया. विधायकों ने काम में रुचि नहीं दिखायी. कुछ नेताओं ने मीडिया कमेटी से पीछा छुड़ाया, तो दूसरी तरफ कई नेता इसमें शामिल होने के लिए मारामारी भी करते रहे. मीडिया कमेटी में शामिल होने के लिए कांग्रेसी खूब दावं पेंच चलते हैं. कांग्रेस के नेता जमीनी स्तर पर काम करने की बजाय, मीडिया कमेटी में रह कर सुर्खियों में रहना चाहते हैं. प्रदेश अध्यक्ष ने पहली बार डॉ शैलेश सिन्हा, राधाकृष्ण किशोर, डॉ गुलफाम मुजीबी, स्टीफन मरांडी जैसे नेताओं को मीडिया टीम में रखा था. इन नेताओं ने एक-दूसरे के खिलाफ ही मोरचा खोल दिया. सीनियर-जूनियर के चक्कर में कमेटी नहीं चली. इसके बाद राधाकृष्ण और प्रो स्टीफन मरांडी को बदल कर मीडिया टीम का गठन किया गया. लोकसभा चुनाव के समय विधायक अनंत प्रताप देव, बन्ना गुप्ता जैसे नेताओं को भी जिम्मेवारी दी. डॉ शैलेश सिन्हा और डॉ गुलफाम मुजीबी ने भी मीडिया कमेटी से तौबा कर लिया, तो पांचवीं बार मीडिया टीम बनी. दो महीने के बाद एक बार फिर कमेटी की कमान नये चेहरे को दी गयी है.ऐसे बदलती गयी मीडिया टीमपहली बार - डॉ शैलेश सिन्हा, राधाकृष्ण किशोर, प्रो स्टीफन मरांडी, डॉ गुलफाम मुजीबी, लाल किशोर नाथ शाहदेव, अजय रायदूसरी बार: राधाकृष्ण किशोर, प्रो स्टीफन मरांडी को हटाया.तीसरी बार: विधायक अनंत प्रताप देव, संजय पासवान, जमशेदपुर के मनोज कुमार यादव शामिल किये गये.चौथी बार: बन्ना गुप्ता, बजरंगी यादव, विजय खान जैसे नये चेहरे शामिल किये गये.पांचवीं बार: डॉ शैलेश सिन्हा और डॉ गुलफाम मुजीबी ने छोड़ा, तो फिर पुनर्गठन हुआ. कई नये चेहरे आये.छठी बार : शमशेर आलम संयोजक, रवींद्र सिंह मुख्य प्रवक्ता बने.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें