रिम्स का हाल: नहीं है फ्रीज, कार्टून में रखते हैं दवा,मटके में इंसुलिन का वायल रखते हैं मरीज

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स के कई वार्डों में फ्रीज नहीं है. इस वजह से कई महत्वपूर्ण दवाओं के वायल (इंजेक्शन की शीशी) फ्रीज के बजाय कार्टून में ही रखे जाते हैं. हालत यह है कि इंसुलिन के इंजेक्शन का वायल भी मरीज या तो मटके में या पानी के ग्लास में डालकर रखते हैं. इससे इन दवाओं की गुणवत्ता प्रभावित होने की आशंका रहती है.
रांची : प्रभात खबर संवाददाता ने सोमवार को रिम्स के मेडिसिन आइसीयू, सर्जरी आइसीयू सहित कई वार्डों का जायजा लिया, तो वहां फ्रीज नहीं मिले. दवाओं के वायल नर्सों के टेबल पर बिखरे हुए थे. वहीं, कुछ वायल कार्टून में रखे हुए थे. हालांकि, नर्सों का कहना था कि उनके वार्ड में अधिकांश दवाएं फ्रीज में रखने लायक नहीं हैं. इंसुलिन के वायल को भी मरीज अपने हिसाब से रखते हैं. एक नर्स ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि इंसुलिन का वायल रखने में दिक्कत होती है. मरीज इंसुलिन का वायल मटका या पानी के ग्लास में रखते हैं. अगर वार्ड में फ्रीज नहीं है, तो ऐसे में हम क्या कर सकते हैं. कई बार मरीज के परिजन खून लेकर आते हैं, लेकिन फ्रीज नहीं होने की वजह से उसे इधर-उधर रखवाना पड़ता है.
तीन माह से मांग रहे फ्रीज, अब तक नहीं मिला : रिम्स के कई यूनिट इंचार्ज वार्ड में फ्रीज के लिए मांग पत्र भेज चुके हैं, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है. मेडिसिन विभाग की एक यूनिट की ओर से 25 मार्च 2017 को फ्रीज के लिए मांग पत्र भेजा गया था, लेकिन अब तक यहां फ्रीज नहीं उपलब्ध कराया गया. सर्जरी विभाग और कार्डियोलॉजी विंग के दूसरे तल्ले पर स्थित वार्ड में भी यही हाल है. हालांकि, अधिकारियों ने एक-दो दिन में फ्रीज की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया है.
वार्ड में फ्रीज होनी ही चाहिए, ताकि दवा और खून को फ्रीज में रखा जा सके. अगर मरीज पानी के ग्लास में इंसुलिन का वायल रखते हैं, तो यह गंभीर मामला है. मंगलवार को मेडिकल अफसर से जानकारी लूंगा.
डाॅ बीएल शेरवाल, निदेशक रिम्स
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें