अपराधियों के खिलाफ भरनोवासी एकजुट

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
ग्रामीणों के हत्थे चढ़ा किशोर उरांव उर्फ माया भाकपा माओवादी का पूर्व कमांडर व वर्तमान में बेरोजगार अपराधी संगठन का सरगना थाप्रतिनिधि, भरनोभरनो की जनता अपराध के खिलाफ खड़ा हो गयी है. इसका उदाहरण सोमवार की शाम को लालटोली बाजार में ग्रामीणों के हाथों मारा गया भाकपा माओवादी का कमांडर है. मृतक की पहचान किशोर उरांव उर्फ माया के रूप मेें की गयी है. उसकी उम्र 28 वर्ष है और पिता का नाम देवना उरांव है. वहीं ग्रामीणों के हाथों से दो उग्रवादी बिरसा उरांव व एक अन्य उग्रवादी भाग निकला. अगर ग्रामीणों के हाथ में ये दोनों आते, तो इनका भी सेंदरा हो जाता. इस घटना के बाद ग्रामीणों ने कहा है कि अब कोई भी उग्रवादी व अपराधी किसी को परेशान करता है, तो उसे पुलिस को नहीं सौपेंगे, बल्कि सेंदरा करेंगे. भरनो पुलिस भी ग्रामीणों की इस एकजुटता को सलाम कर रही है. लेकिन आम जनता से अपील की है कि किसी को मारना कानून अपराध है. इसलिए कोई अपराधी व उग्रवादी पकड़ाते हैं, तो इसकी सूचना पुलिस को दें. उसे कड़ी सजा दी जायेगी. वहीं ग्रामीणों के हाथों से छूट कर भागे अन्य दो उग्रवादियों को ग्रामीणों के साथ पुलिस भी पकड़ने के लिए खोज रही है. दोनों उग्रवादियों की पहचान हो चुकी है. पुलिस के अनुसार दो दिन के अंदर दोनों को पकड़ लिया जायेगा. थाना प्रभारी नित्यानंद महतो ने बताया कि किशोर पूर्व माओवादी कमांडर है. अभी वह बेरोजगार अपराधी संगठन बना कर क्राइम कर रहा था. उसके ग्रुप में पांच छह सदस्य हैं. सभी की पहचान कर ली गयी है. किशोर का आतंक बेड़ो, भंडारा, सिसई व भरनो थाना क्षेत्र के इलाके में था. उसके ऊपर लूटकांड, लेवी सहित सात मामले थाना में दर्ज है. वहीं किशोर की हत्या को लेकर थाने में अज्ञात ग्रामीणों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. वहीं प्रदीप शाही के ऊपर हमला करने व घटना स्थल से हथियार बरामद करने के मामले में बिरसा उरांव व एक अन्य उग्रवादी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें