VIDEO: अंतिम संस्कार के बाद शहीद के पिता ने लहराया तिरंगा, संतोष अमर रहे के नारे से गूंजा इलाका

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

गुमला/रांची : आतंकी हमले में कश्मीर के बारामूला में शहीद संतोष गोप का अंतिम संस्कार मंगलवार सुबह उनके पैतृक गांव में किया गया. सुबह उनका पार्थिव शरीर जैसे ही गुमला के बसिया प्रखंड के टेंगरा गांव पहुंचा, पूरा इलाका गम में डूब गया. शहीद को अंतिम विदाई देते वक्त सबकी आंखे नम थी और लोग संतोष अमर रहे के नारे लगा रहे थे. पूरे सैनिक सम्मान के साथ शहीद जवान को मुखाग्नि दी गयी. शहीद के पिता जीतू गोप ने दाह संस्कार के बाद तिरंगा झंडा लहराया. आपको बता दें कि झारखंड के गुमला के रहने वाले संतोष गोप पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर में शहीद हो गये थे.

VIDEO

इससे पहले सोमवार शाम झारखंड के सपूत संतोष को श्रद्धांजलि देने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, स्पीकर दिनेश उरांव, लोहरदगा सांसद सुदर्शन भगत, स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी के अलावा सेना के जनरल ऑफिसर कमांडिंग मेजर जनरल संजय पुरी, ब्रिगेडियर संजीव कुमार, कर्नल विकास गौतम, एयरपोर्ट निदेशक सहित सैकड़ों लोग रांची एयरपोर्ट पहुंचे. यहां भी पार्थिव शरीर देख कर हर किसी की आंखें नम थीं.

रांची एयरपोर्ट का नजारा
सोमवार शाम 5:45 बजे श्रद्धांजलि देने का कार्यक्रम शुरू हुआ. एयरपोर्ट के पुराने आगमन गेट के समीप शहीद संतोष को सलामी दी गयी. इससे पूर्व सेना के जवान उनके पार्थिव शरीर को कंधे पर रख कर श्रद्धांजलि स्थल तक ले कर आये. संतोष के चचेरे भाई गोसाई गोप सहित अन्य लोग भी श्रद्धांजलि देने के लिए एयरपोर्ट पहुंचे थे. शहीद संतोष गोप के अंतिम दर्शन के लिए एयरपोर्ट पर बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे. जैसे ही शहीद का तिरंगे में लिपटा पार्थिव शरीर एयरपोर्ट से बाहर निकला संतोष गोप अमर रहे के नारे लगने लगे. रात होने की वजह से सोमवार को शहीद के पार्थिव शरीर को नामकुम स्थित मिलिट्री अस्पताल में रखा गया.

संतोष की शहादत व्यर्थ नहीं जायेगी : राज्यपाल
राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उनकी शहादत व्यर्थ नहीं जायेगी. शहीद परिवार के साथ हम लोग हमेशा खड़े रहेंगे, उन्हें हरसंभव मदद उपलब्ध दी जायेगी.

पूरा झारखंड शहीद के परिवार के साथ खड़ा है
स्पीकर दिनेश उरांव ने कहा कि वीर संतोष गोप ने देश के लिए अपने प्राण का बलिदान दिया है़ उसे कोटि-कोटि नमन करता हू़ं आज पूरा झारखंड शहीद के परिवार के साथ खड़ा है.

भाई ने कहा : गर्व का दिन, देश के लिए शहीद हुआ संतोष
संतोष के चचेरे भाई गोसाई गोप ने कहा कि हम लोगों के लिए गर्व का दिन है़ मेरा भाई देश के लिए शहीद हुआ है. परिवार सहित गांव के सभी लोगों को उस पर नाज है. जरूरत पड़ी तो परिवार के अन्य सदस्यों को भी देश हित के लिए सेना में भेजेंगे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें